बड़े तथ्य

सेक्स और प्यार के बारे में लाखों तथ्य मौजूद हैं। तो सबसे महत्वपूर्ण क्या हैं? हम प्यार, सेक्स और रिश्तों से जुड़ी हर महत्वपूर्ण जानकारी को आपके सामने ऐसे पेश करते हैं कि उन्हें पढ़ना आपके लिए आसान होI

All stories

योनि में सूखापन: ये हैं प्रमुख कारण

वैसे तो महिलाओं की योनि में प्राकृतिक रुप से गीलापन बना रहता है लेकिन हर एक महिला ने अपनी ज़िंदगी में कम से कम एक बार तो योनि में सूखेपन की समस्या ज़रूर महसूस की होगी। योनि में अचानक बिल्कुल सूखापन हो जाने से कई महिलाओं को यह समझ ही नहीं आता कि आख़िर ऐसा क्यों हो रहा है? इस लेख में हम आपको योनि मे सूखापन होने के मुख्य कारणों के बारे में बताने जा रहे हैं। आइए जानते हैं

LGBTQIA+ समुदाय के लिए ज़िंदगी अभी भी मुश्किल

यूँ तो 2018 में समलैंगिक संबंधों को भारत में वैध करार दिया गया, भारत के LGBTQIA + समुदाय की मुश्किलें पूरी तरह से ख़त्म नहीं हुई हैं। अभी बहुत से मुद्दे हैं जहां उन्हें विषमलैंगिक लोगों के मुकाबले आये दिन भेद-भाव और मुश्किलों का सामना करना पड़ता हैं। क़ानूनन शादी न कर पाने से लेकर किराये पर घर लेने तक, हर बात के लिए जद्दोजहद करनी पड़ती हैं। आइए जानते हैं 2018 की उस बड़ी जीत के बाद भारत के LGBTQIA + समुदाय को अब भी किन मुद्दों पर पूर्ण अधिकार या आज़ादी नहीं हैं।

जून का महीना क्यों है खास?

जून पूरी दुनिया में प्राइड मंथ के रूप में मनाया जाता हैं। यह महीना हैं खुशियों का, एकता का और धरती को इंद्रधनुषी रंगो से भरने का। क्या आपने कभी सोचा है कि इसका मतलब क्या है और इसकी शुरूआत कैसे हुई? आइए जानते हैं।

सेक्स के साथ पर्यावरण सरंक्षण भी

क्या सेक्स से पर्यावरण पर कोई भी प्रभाव पड़ सकता है? जी हां! यदि आपको सेक्स और पर्यावरण दोनों से प्यार है, तो इस पृथ्वी दिवस पर हमारे ईको फ्रेंडली सुझावों पर एक नज़र ज़रुर डालें।

घरेलू हिंसा: निदान

भारत में घरेलू हिंसा कानूनी तौर पर अपराध है, फिर भी 15 से 49 साल की उम्र के बीच की हर तीसरी स्त्री अपने घर पर ही हिंसा का शिकार होती है। COVID-19 ke लॉकडाउन के दौरान भी घरेलू हिंसा के मामलों में बहुत तेज़ी आयी है। यह हिंसा शारीरिक, यौनिक, मानसिक और आर्थिक – किसी भी तरह की हो सकती है। अगर आप इससे जूझ रहे हैं तो इस चक्र को तोड़ने के लिए क्या करेंगे? हम आपके लिए कुछ टिप्स और सलाह लेकर आये हैं।

आपातकालीन गर्भ निरोधक गोलियों ( IPill) से मेरे पीरियड्स लेट हो जायेंगे?

ज्यादातर महिलाओं के लिए, पीरियड्स आमतौर पर उनके नियमित समय के आसपास शुरू हो जाने चाहिए। अगर आइपिल लेने के तीन सप्ताह बाद आपके पीरियड्स में देरी हो रही है, तो  आपको घर पे एक प्रेगनेंसी टेस्ट कर लेना चाहिए। 

लॉकडाउन के बाद दोस्ती और इश्क़ के लिए ख़ास टिप्स

हम जानते हैं कि जब भी लॉकडाउन ख़त्म होगा आपके पास प्लान्स की एक लंबी सूची होगी! दोस्तों से मिलना हैं, डेट पर जाना है, जिगरी यार की बर्थडे मनानी है - लेकिन क्या आप वाकई यह सब कर सकते हैं? आईये हम डिटेल में बताते हैं ।

घर के अंदर ही सेल्फ-केयर के 10 तरीके

कोराना वायरस की महामारी के कारण लोग अपने घरों में कैद हो गए हैं। लोगों का घर से बाहर निकलना और दोस्तों से मिलना जुलना पूरी तरह बंद हो गया है, ज़िंदगी एकदम नीरस हो गई है और कुछ मज़ेदार करने को बचा ही नहीं है। है ना? यहां तक कि ऐसे समय में बाल कटवाने और आईब्रो बनवाने के बारे में सोचना भी शायद फ़िजूल ही है। यदि आप घर में बैठे-बैठे ऊब गए हैं और आपको तनाव, बेचैनी होने के साथ ही गुस्सा भी आ रहा है तो घबराएं नहीं, ऐसा होना लाज़िमी है और यह हर किसी के साथ हो रहा है। इस कठिन समय में अपनी देखभाल करें और ख़ुद से ख़ूब प्यार करें।

सेल्फ केयर - अच्छा महसूस करने के लिए अच्छा सोचें!

कोराना वायरस की महामारी के कारण लोग अपने घरों में कैद हो गए हैं। लोगों का घर से बाहर निकलना और दोस्तों से मिलना जुलना पूरी तरह बंद हो गया है, ज़िंदगी एकदम नीरस हो गई है और कुछ मज़ेदार करने को बचा ही नहीं है। है ना? यहां तक कि ऐसे समय में बाल कटवाने और आईब्रो बनवाने के बारे में सोचना भी शायद फ़िजूल ही है। यदि आप घर में बैठे-बैठे ऊब गए हैं और आपको तनाव, बेचैनी होने के साथ ही गुस्सा भी आ रहा है तो घबराएं नहीं, ऐसा होना लाज़िमी है और यह हर किसी के साथ हो रहा है। इस कठिन समय में अपनी देखभाल करें और ख़ुद से ख़ूब प्यार करें।

'मैं सारा दिन घर में बैठा निराश महसूस करता हूं'

पुरुष बिना काम घर बैठे हैं, खाने पीने की चीज़ो की कमी हैं, महिलायें बिना किसी मदद बहुत सारे काम संभाल रही है। गुस्सा हैं, फ़्रस्ट्रेशन है मगर मुस्कुराहट भी। लव मैटर्स इंडिया ने बिहार में रहने वाले युवाओं से पूछा की वह इस कठिन समय का कैसे मुकाबला कर रहे हैं?

WhatsApp खबर - पहले जांचे फिर फॉरवर्ड करें!

स्वास्थ्य सलाह और जानकारी को फ़िल्टर करना महत्वपूर्ण है। यह जानना जरूरी है कि क्या सच है और क्या नकली है, विशेष रूप से गंभीर स्वास्थ्य के मुद्दों के बारे में और ऐसी परिस्थितियों में जब सार्वजनिक स्वास्थ्य आपात स्थिति में लोगों में दहशत होती है, हमें कुछ सकारात्मक समाचार या निश्चितता की सख्त ज़रूरत होती है। लव मैटर्स स्वास्थ्य से जुड़े समाचार को परखने के लिए कुछ टिप्स और ट्रिक्स लाया है।

कैसे माँ-पापा के साथ रहें और अपनी निजता बरक़रार रखें

अगर अब तक आप अकेले रह रहे थे, चाहे किसी और शहर में वो पढ़ाई के सिलसिले में रहना हो या फिर काम के चक्कर में, ये परिवार के साथ जबरन जो समय बिताना पड़ रहा है, बहुत मुश्किल साबित हो रहा है. आइये तो इसी ख़ास वक़्त के लिए हम लेकर आये हैं, आपके लिए कुछ मम्मी -पापा के साथ रहने के कुछ टिप्स, जिससे इस कोरोना वायरस के लॉक डाउन पीरियड में भी आप अपनी निजता को खोये बिना खुश मन से रह सकते हैं.