Love Matters logo

परिचय

लव मैटर्स ‘यौन, प्रजनन स्वास्थ्य एवं अधिकारों (SRHR)’ की जानकारी से जुड़ा भारत का सबसे प्रमुख डिजिटल प्लेटफॉर्म है जो युवाओं को सभी तरह की जानकारी उनकी ज़रुरत के हिसाब से मुहैया कराता है। हम नए-नए मीडिया फॉर्मेट्स के जरिए प्यार, सेक्स और रिश्तों पर नॉन-जजमेंटल और विज्ञान पर आधारित जानकारी देते हैं।

हम स्वास्थ्य और मीडिया के बीच एक कड़ी का काम करते हैं और इसके जरिए सामाजिक परिवर्तन लाने की कोशिश करते हैं। टेक्नोलॉजी, पॉपुलर कल्चर, क्रिएटिव डिजाइन और स्टोरी टेलिंग के जरिए हम युवाओं, SRHR संस्थाओं, विशेषज्ञों और सेवा प्रदाताओं के बीच की दूरी को मिटाना चाहते हैं।

हमारा उद्देश्य युवाओं को ‘यौन, प्रजनन स्वास्थ्य एवं अधिकारों (SRHR) से जुड़ी पूर्ण और निष्पक्ष जानकारी देना है। हम वेबसाइट, सोशल मीडिया प्लेटफार्म, चर्चा मंच, कैम्पेन, पॉडकास्ट, रेडियो कार्यक्रमों, एनीमेशन और वर्चुअल रियलिटी, ऑगमेंटेड रियलिटी आदि का उपयोग करके यह जानकारी प्रदान करते हैं। हमारा प्लेटफॉर्म सार्वजनिक है और यह हर किसी के लिए मुफ्त में उपलब्ध है।

इतिहास 

भारत में लव मैटर्स की शुरुआत 2011 में हुई और तब से लेकर अब तक ये पांच अन्य देशों (क्षेत्रों) में पहुंच चुका है और अब यह लवमैटर्स ग्लोबल नेटवर्क का हिस्सा है। चीन और भारत में लव मैटर्स के देश आधारित विशेष प्लेटफार्म हैं। लव मैटर्स की अन्य वेबसाइटों में लव मैटर्स अरेबिक, लव मैटर्स अफ्रीका, नाइजीरिया, लव मैटर्स हैब्लेमोस डी सेक्सो वाई एमोर (स्पेनिश) और फ्रेंच-भाषा में अमूर अफरिक शामिल हैं।

उपस्थिति

लव मैटर्स पर 20 मिलियन से अधिक लोग विजिट कर चुके हैं। हमारे प्लेटफॉर्म से दिल्ली, महाराष्ट्र, यूपी, मध्य प्रदेश, गुजरात, राजस्थान, पश्चिम बंगाल, पंजाब, बिहार और कर्नाटक के लोग जुड़े हुए हैं। हमारे फेसबुक पेज को 1.4 मिलियन लोगों ने पसंद किया हैं और यह भारत का सबसे बड़ा SRHR पेज है।।

वाट्सऐप, यूट्यूब, इन्स्टाग्राम और ट्विटर पर कुल मिलाकर लगभग 50,000 लोग हमसे जुड़े हुए हैं।

लव मैटर्स जमीनी स्तर पर भी काम करता है और हमारा एक कार्यक्रम बिहार में गत वर्षों से जारी हैं। लव मैटर्स ने देश भर में वर्कशॉप, कार्यक्रम और प्रशिक्षण कार्यक्रम आयोजित किए हैं। 

लव मैटर्स मुख्य रूप से 18-30 साल की उम्र के बीच के युवाओं की समस्याओं और जरूरतों पर केंद्रित है। हम सभी युवाओं की आवश्यकताओं के अनुरूप SRH मुद्दों पर अधिकारों, लैंगिक समानता, और यौन संबंधी जानकारियां देते हैं।

हमारा काम 

हम कई तरह के मीडिया और नए फॉर्मेट का उपयोग करके प्यार, सेक्स और रिश्तों पर गैर आलोचनात्मक (non-judgmental) और विज्ञान-आधारित जानकारी प्रदान करते हैं।

लव मैटर्स वेबसाइट हिंदी और अंग्रेजी दोनों भाषाओं में उपलब्ध है और यह प्यार, सेक्स और रिश्तों से जुड़ी व्यापक जानकारियों का प्रमुख स्रोत है। लव मैटर्स की हिंदी वेबसाइट इन विषयों पर हिंदी में उपलब्ध अब तक की सबसे बड़ी वेबसाइट है।

वेबसाइट पर टॉप टिप्स, पर्सनल, स्टोरीज, मिथ बस्टर्स जैसे कई फॉर्मेट बने हैं। यहां विभिन्न कॉलमों में प्यार, सेक्स और रिश्तों से जुड़ी जानकारी और सलाह दी जाती है। हमारे एडवाइज कॉलम जिसे आंटी जी के नाम से भी जाना जाता है, देश का सबसे लोकप्रिय कॉलम है। यहाँ तक की अब हमारे पाठक अपने सारे सवाल आंटी जी को ही भेजते हैं!

हम प्यार, सेक्स और रिश्तों पर लेट्स टॉक नामक 24X7 ऑनलाइन हेल्पलाइन चलाते हैं। लेट्स टॉक के यूजर्स हिंदी और अंग्रेजी भाषा में अपने सवालों को पोस्ट कर सकते हैं और हमारे सेक्सपर्ट (यौन शिक्षा के विशेषज्ञों) से 24 से 48 घंटों के भीतर जवाब पा सकते हैं।

लोगों को जागरूक करने और मजेदार बातचीत करने के लिए हम कई सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर भी सक्रिय हैं।

1.4 मिलियन फॉलोअर्स के साथ लव मैटर्स इंडिया का फेसबुक पेज  भारत में सबसे बड़ा SRHR पेज है। इंस्टाग्राम पर पहले से ही हमारे लगभग 16000 फॉलोअर्स है। लव मैटर्स ने प्यार, सेक्स और रिश्तों पर कई शॉर्ट फिल्मों का भी निर्माण किया है। उन्हें हमारे यूट्यूब और टिकटॉक चैनलों पर देखा जा सकता है।

हम ट्विटर पर भी सभी जरूरी मुद्दों पर बात करते हैं। हम हर रोज Tweetathons और ट्विटर चैट के जरिए कई लोगों और विभिन्न ऑनलाइन कम्युनिटी से जुड़कर कई विषयों पर बात करते हैं।

वाट्सऐप के जरिए लगभग 8000 यूजर्स लव मैटर्स से जुड़े हैं। यहां हम अपने सब्सक्राइबर को प्यार, सेक्स और रिश्तों के बारे में सुझाव देते हैं। हिंदी या अंग्रेजी में सामग्री प्राप्त करने के लिए आप +91 9650041107 पर मैसेज करके हमारे पैन-इंडिया वाट्सऐप लिस्ट में शामिल हो सकते हैं। हिंदी में कंंटेंट पढ़ने  के लिए +91 9650041109 पर मैसेज कर हमारी फीड्स को सब्सक्राइब करें।

लीडरशिप

लव मैटर्स इंडिया की सह-संस्थापक और कंट्री हेड विथिका यादव एक लोकप्रिय मानवाधिकार कार्यकर्ता हैं, जिन्होंने मानव तस्करी, दासता, लैंगिक अधिकार और यौन,प्रजनन स्वास्थ्य और अधिकारों (SRHR) पर काम किया है।

वह एम्स्टर्डम में टीएचएनके स्कूल ऑफ क्रिएटिव लीडरशिप की पूर्व छात्रा हैं। वह मोटिवेशनल स्पीकर भी हैं। वो IIT Roorkee, TEDx Dubai, Switchpoint USA, JoshTalks, TEDxJIET,  SIMS Pune and The Hague Academy सहित कई संस्थाओं में वार्ता के लिए जा चुकी हैं। 

वीथिका ने ‘फ्री द स्लेव्स’ के लिए एक फेलो और कंसल्टेंट के रूप में काम किया है। उन्होंने एंटी ह्यूमन ट्रैफिकिंग के लिए यूनाइटेड नेशन ऑफिस ऑन ड्रग्स एंड क्राइम में सलाहकार के रूप में काम किया है। वह बीबीसी वर्ल्ड सर्विस ट्रस्ट की प्रोजेक्ट कोऑर्डिनेटर भी रह चुकी हैं।

विथिका, स्विस निर्देशक बारबरा मिलर द्वारा निर्देशित अवार्ड विनिंग 2018 स्विस-जर्मन डॉक्यूमेंट्री फिल्म फीमेल प्लेजर में भी नजर आ चुकी हैं। फिल्म में पांच साहसी, स्मार्ट और आत्मनिर्भर महिलाओं को दिखाया गया है जो पितृसत्तात्मक और रूढ़िवादी समाज में फीमेल सेक्सुअलिटी के टैबू को तोड़ती है। फिल्म ने दुनिया भर के विभिन्न फिल्म फेस्टिवल में कई पुरस्कार जीते हैं।

वीथिका इंडियन वीमेन सोशल एंटरप्रेन्योर नेटवर्क (IWSEN) के 40 संस्थापक सदस्यों में से एक हैं।

2016 में उन्हें दुनिया में न्यू जेनरेशन ऑफ फेमिली प्लानिंग लीडर्स की टॉप 20 अंडर 40  के तहत अवार्ड मिला।

2012 में यूएसए में विदेश नीति में डिप्लोमैटिक कूरियर और यंग प्रोफेशनल्स द्वारा उन्हें दुनिया के टॉप 99 अंडर 33 यंग फॉरेन पालिसी  से सम्मानित किया गया था।

2007 में उन्हें एटलस कॉर्प्स फेलोशिप  से सम्मानित किया गया। 

इन वर्षों में उन्होंने United Nations office on drugs and crime, BBC World Service Trust, Free the Slaves और MTV EXIT जैसे बड़े संस्थाओं के लिए काम किया है। वीथिका सर्वाइवर केयर और प्रोटेक्शन सर्विस की एक्सपर्ट मानी जाती हैं। वह एनजीओ / आईएनजीओ के साथ महिला सुरक्षा और अधिकारों से जुड़े कार्यक्रम बनाने के लिए विचार विमर्श करती हैं। इन कार्यक्रमों के माध्यम से वह महिलाओं और लड़कियों को यौन उत्पीड़न और घरेलू हिंसा जैसी समस्याओं से उबरने और अपने अधिकारों की रक्षा के लिए प्रेरित करती हैं।

हमारे दाता और प्रायोजक 

लव मैटर्स इंडिया को 2011 में RNW Media के सहयोग से स्थापित किया गया था। पिछले एक दशक से इसे कई बड़े SRHR, परिवार नियोजन और लैंगिक अधिकारों वाले डोनर्स से वित्तीय समर्थन मिल रहा है। इसमें The David and Lucile Packard Foundation, The Bill and Melinda Gates Foundation, Ideas 42 और Amplify Change शामिल हैं।

लव मैटर्स को दान और फंड देने वाले एवं पार्टनर्स के बारे में अधिक जानकारी के लिए यहां क्लिक करें।

भारत में लव मैटर्स प्रोग्राम Development Consortium द्वारा चलाया जाता है।

हमारे पुरस्कार

  • लव मैटर्स ने वर्ल्ड एसोसिएशन फॉर सेक्सुअल हेल्थ (WAS) से 2013 में यौन शिक्षा के क्षेत्र में बिल्कुल नए तरह के सेक्सुअल हेल्थ प्रोजेक्ट के लिए एक्सलेंस एंड इनोवेशन का पुरस्कार जीता। द वर्ल्ड एसोसिएशन फ़ॉर सेक्सुअल हेल्थ एक अंतरराष्ट्रीय संगठन है जो दुनिया भर में यौन समाज और सेक्सोलॉजिस्ट का नेतृत्व करता है।
  • 2016 में लव मैटर्स को फ्रीडम ऑफ एक्सप्रेशन अवार्ड्स, यूके के तहत दुनिया के शीर्ष 5 डिजिटल प्रोजेक्ट में शामिल किया गया। सेंसरशिप का फ्रीडम ऑफ एक्सप्रेशन अवार्ड्स उन लोगों या समूहों को दिया जाता है जिन्होंने दुनिया में कहीं भी सेंसरशिप से लड़कर बदलाव किया है।
  • लव मैटर्स ने समावेश और सशक्तिकरण की श्रेणी में सामाजिक प्रभाव के लिए टेक्नोलॉजी में इनोवेशन के लिए एमबिलियंथ 2017 साउथ एशिया अवार्ड  जीता। यह अवॉर्ड उन सभी लोगों के लिए इनाम है जिन्होंने न सिर्फ डिजिटल गैप को पाटने के लिए पहल की है और लोगों को सशक्त बनाने के साथ सामाजिक और आर्थिक समानता लाने में भी मदद की है बल्कि इन्होने ऐसे इनोवेटर्स और डेवलपर का इकोसिस्टम और नेटवर्क तैयार किया है जहाँ लोग एक दूसरे से सीख सकें और सहयोग कर सकें।
  • लव मैटर्स ने निजी साथी द्वारा हिंसा पर #BearNoMore कैंपेन के लिए सोशल मीडिया फॉर एम्पावरमेंट अवार्ड 2017  जीता। #BearNoMore लव मैटर्स इंडिया द्वारा शुरू किया गया अपनी तरह का पहला ऑनलाइन कैंपेन था जिसका उद्देश्य भारत में युवा अविवाहित जोड़ों के बीच हिंसा के बारे में जागरूकता बढ़ाना था।
  • हमारा ऑनलाइन कैंपेन #NotMusicToMyEars, बॉलीवुड म्यूजिक में सेक्सिज्म के खिलाफ एक कैंपेन है जिसने 2017 में क्रिएटिविटी के अंतर्राष्ट्रीय समारोह कांस लायंस  के रेडियो कैटेगरी में ब्रोंज लॉयन जीता। इस अभियान में बताया गया है कि बॉलीवुड कैसे अनजाने में अपने गीतों के बोल के माध्यम से सेक्सिज्म का प्रचार कर रहा है। इसने दर्शकों को इस हकीकत से रूबरू कराया। लव मैटर्स ने बॉलीवुड को अपने गानों में ऐसे गीतों को शामिल करने के खिलाफ एक स्टैंड लेने की पहल करने के लिए एशिया का क्यूरिअस अवार्ड 2017 भी जीता।
  • 2018 में समलैंगिकों में होमोफोबिया से निपटने के लिए हमारे  #LforLove कैंपेन ने डीएमए एशिया अवार्ड जीता।
  • लव मैटर्स द्वारा निर्मित, इंटीमेट पार्टनर वॉयलेंस (आईपीवी) के बारे में भारत का पहला वीआर अनुभव - फिल्म के माध्यम से दर्शकों को एक युवा भारतीय महिला की ज़िंदगी में झांकने का मौका मिलता है। फिल्म को SIMA 2018 Award के फाइनलिस्ट के लिए चुना गया था।
  • विथिका यादव ने ‘जॉन हॉपकिन्स ब्लूमबर्ग स्कूल ऑफ पब्लिक हेल्थ’ में ‘बिल एंड मेलिंडा गेट्स इंस्टीट्यूट फॉर पॉपुलेशन एंड रिप्रोडक्टिव हेल्थ’ द्वारा प्रतिष्ठित 120 अंडर 40 अवार्ड  जीता। '120 अंडर 40' दुनिया भर में परिवार नियोजन का नेतृत्व करने वाली अगली पीढ़ी की उपलब्धियों को मान्यता प्रदान करता है और इन उपलब्धियों पर प्रकाश भी डालता है। इसका नेतृत्व बेयर के सहयोग से गेट्स इंस्टीट्यूट द्वारा किया जाता है।
  • 2018 में वीथिका ने डिजिटल वीमेन अवार्ड्स भी जीता। इसमें सामाजिक प्रभाव के क्षेत्र में प्रेरणा स्रोत बनी  महिला उद्यमियों और उनकी सफलता की कहानियों को सेलिब्रेट किया जाता है।

इनोवेशन

हम युवाओं के साथ ‘यौन, प्रजनन स्वास्थ्य एवं अधिकारों (SRHR)’ से जुड़ी जानकारी शेयर करने के लिए लगातार ऐसे नए तरीके खोज रहे हैं जो युवाओं को आकर्षित करे। 

वर्चुअल रियलिटी फिल्में

2017 में लव मैटर्स ने इंटीमेट पार्टन वॉयलेंस के मुद्दे पर #KyaYahiPyarHai / IsThis Love? नामक भारत की पहली वर्चुअल रियलिटी फिल्म का निर्माण किया। फिल्म में वर्चुअल रियलिटी टेक्नोलॉजी के इस्तेमाल से लोगों को एक युवा भारतीय महिला अनुजा की जिंदगी में झांकने का मौका मिलता है। फिल्म में अनुजा को अपनी दुविधाओं के कारण मनोज के साथ काफी उतार-चढ़ाव भरे संबंधों से गुजरते हुए दिखाया गया है।

लव मैटर्स इंडिया के लिए मीडिया एनजीओ NoWhereMedia  द्वारा निर्मित Kya Yahi Pyar Hai एक सशक्त कहानी है। यह पार्टनर द्वारा की जाने वाली हिंसा के टैबू को तोड़ती एक फिल्म है जिसमें वर्चुअल रियलिटी/ 360 ° का इस्तेमाल कर दर्शकों को जोड़ने की कोशिश की गई है।

फिल्म को वर्चुअल रियलिटी कैटेगरी में शॉर्ट लिस्ट किया गया और 5वें वार्षिक सोशल इम्पैक्ट मीडिया अवार्ड्स  (SIMA अवार्ड्स) के फाइनल राउंड में प्रवेश मिला। 

27 सितंबर 2018 को लव मैटर्स ने गर्भपात के मुद्दे पर भारत की पहली 360 / वीआर फिल्म रिलीज़ की। फिल्म ‘I Am Not Alone’ में वर्चुअल रियलिटी मीडियम का इस्तेमाल करके एक निडर युवा लड़की की कहानी दिखायी गई है। इसमें बताया गया है कि जब उसने गर्भपात का फैसला लिया तो उसके परिवार और समाज ने किस तरह उसका साथ दिया। यह शॉर्ट फिल्म लव मैटर्स इंडिया द्वारा निर्देशित, स्क्रिप्टेड और निर्मित है और इसका निर्देशन NoWhereMedia की गायत्री परमेश्वरन ने किया है।

फिल्म में पार्टनर, परिवार के सदस्यों, मित्रों, सहकर्मियों, डॉक्टरों और मीडिया से अपील की गई है जब महिलाएं गर्भपात का फैसला करें तो उनका सहयोग करें, आगे आएं और गर्भपात के अनुभवों के बारे में बात करने में उनकी मदद करें ताकि इससे अन्य महिलाओं को भी अपने शरीर, स्वास्थ्य और जीवन के बारे में फैसला करने में मदद मिले। 

ऑगमेंटेड रियलिटी ऐप

2019 में लव मैटर्स इंडिया ने एक रोचक और भरोसेमंद एनिमेटेड पात्रों वाला ऑगमेंटेड रियलिटी ऐप प्रोटोटाइप लॉन्च किया, जो कि मजेदार तरीके से यौन शिक्षा प्रदान करता है।

यह एप स्कूल टेक्स्टबुक से जुड़ा हुआ है जिससे छात्र किताबों के कुछ हिस्सों को स्कैन करके जरूरी जानकारी हासिल कर सकते हैं। ऐप प्रोटोटाइप को भारत के 6 शहरों में 155 छात्रों के बीच टेस्ट किया गया है और फिलहाल ऐप का फुल वर्जन बन रहा है।

ऑफलाइन कार्यक्रम

बिहार में सीएसई कार्यक्रम

लव मैटर्स बिहार के तीन जिलों में कॉम्प्रेहेन्सिव सेक्सुएलिटी प्रोग्राम (सीएसई) चलाता है। लव मैटर्स ने युवा सहयोगियों का एक नेटवर्क बनाया है जो क्षेत्र के कई गांवों में हस्तमैथुन, मासिक धर्म, सुरक्षित यौन संबंध, उम्र से पहले शादी जैसे मुद्दों पर वर्कशॉप आयोजित करके लोगों के बीच जागरूकता फैलाते हैं।

सहयोगियों को लव मैटर्स इंडिया द्वारा निर्मित दो डिजिटल टूल किट के द्वारा प्रशिक्षित किया गया है। 'बात करने से ही बात बनती है', नामक शीर्षक के टूलकिट्स में यौन शिक्षा से जुड़े विषयों जैसे कम उम्र में शादी, प्यार, आकर्षण और दोस्ती, अस्वीकृति, सहमति, यौन उत्पीड़न और सुरक्षित यौन संबंध से संबंधित जानकारी शामिल है।

टूलकिट की सामग्री बुकलेट, वीडियो और पॉडकास्ट के रूप में उपलब्ध है, जो कि यौन शिक्षा से जुड़े विषयों पर अपने साथियों के साथ आसानी से बात करने और चर्चा करने के लिए जमीनी स्तर पर हमारे सहयोगियों को प्रशिक्षित करने के लिए उपयोग किया जाता है।

इसी प्रोग्राम के अंतर्गत, लव मैटर्स युवाओं को पटना, बिहार में हमारी वेबसाइट के ख़ास फीचर “डॉक्टर नियर मी/नजदीकी डॉक्टर” के जरिए अपने आसपास स्थित यौन एवं प्रजनन स्वास्थ्य सेवाओं वाले क्लिनिक को खोजने और उनसे सम्पर्क करने में मदद कर रहा है। 

क्लिनिक फीचर के जरिए उपलब्ध डॉक्टरों / क्लीनिक/ हेल्थकेयर को विशेष रूप से लव मैटर्स इंडिया द्वारा युवाओं के अनुकूल और नॉन-जजमेंटल सेवाएं प्रदान करने लिए प्रशिक्षित किया गया है।

रिसर्च, ट्रेनिंग और वर्कशॉप

लव मैटर्स यौन और प्रजनन के अधिकारों से जुड़ा एक प्रमुख प्लेटफॉर्म है जो भारत में युवाओं के लिए ‘यौन,प्रजनन स्वास्थ्य एवं अधिकारों’ को प्रमोट करने के लिए रिसर्च, वर्कशॉप और ट्रेनिंग आयोजित करता है। SRHR के तहत हमारे रिसर्च और वर्कशॉप में कई विषयों पर फोकस किया जाता है। पिछले कुछ सालों से लव मैटर्स युवाओं और कामकाजी लोगों को सेक्स के प्रति सकारात्मक सोच लाने के लिए प्रशिक्षित कर रहा है। हमारे रिसर्च, ट्रेनिंग, पब्लिकेशन और वर्कशॉप के बारे में अधिक जानकारी के लिए यहां क्लिक करें।

कार्यक्रम और कैंपेन 

लव मैटर्स लोगों के बीच स्वास्थ्य मुद्दे, सेक्स और सेक्सुअलिटी को लेकर सकारात्मक सोच विकसित करने का प्रयास करता है। लव मैटर्स एसआरएचआर से जुड़े मुद्दों पर बात करने के लिए नियमित ऑफलाइन और ऑनलाइन कार्यक्रम आयोजित करता है। #LforLove और #NotMusicForMyEars #BearNoMore  देश और दुनिया में चर्चित हुए कुछ प्रमुख कैंपेन हैं। हमारे कार्यक्रम और अभियान के बारे में अधिक जानकारी के लिए यहां क्लिक करें।

हमारी टीम

आरती शुक्ला: क्रिएटिव डायरेक्टर

बीबीसी से प्रशिक्षित एडिटर, आरती शुक्ला की सामाजिक बदलाव से जुड़े मुद्दों और कहानियों पर मजबूत पकड़ है। आरती लव मैटर्स इंडिया की क्रिएटिव डायरेक्टर हैं। लव मैटर्स इंडिया के लिए यह क्रिएटिव विजन डेवलप करती हैं और कंटेट स्ट्रैटजी देखती हैं।

निधि शर्मा: एसोसिएट एडिटर

ये वेबसाइट एडिटर हैं। इन्हें प्रिंट और ऑनलाइन मीडिया, पत्रकारिता और समाचार फीचर लेखन, स्टोरी टेलिंग, इंटरव्यू और रिसर्च में 18 साल का अनुभव है। इन्हें कंटेट मैनेजमेंट सिस्टम (सीएमएस), सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन (एससीओ) और गूगल एनालिटिक्स में विशेषज्ञता हासिल है।

अणु शक्ति सिंह : कॉपीराइटर और सोशल मीडिया ऑफिसर 

पुरस्कार से सम्मानित कवियत्री और उपन्यासकार अणु शक्ति सिंह लव मैटर्स इंडिया के सोशल मीडिया का कामकाज देखती हैं और कॉपी भी लिखती हैं। फ़िल्में देखना एवं किताबें पढना इनका शौक है और इंटरनेट इनका प्यार।

जाह्नवी शर्मा: प्रोजेक्ट मैनेजर

जाह्नवी को डेवलपमेंट सेक्टर और डेवलपमेंट कम्युनिकेशन फील्ड में सात सालों का अनुभव है। ये लव मैटर्स इंडिया के ऑनलाइन प्लेटफार्म के प्रोजेक्ट लीड करने के साथ-साथ बिहार में जमीनी स्तर पर आयोजित किये जाने वाले प्रोजेक्ट की प्लानिंग, एक्जीक्यूशन और मॉनिटरिंग तक सब कुछ कम बजट में संपन्न करने में माहिर हैं।

नेहा पासी: क्रिएटिव डिजाइनर

इन्हें प्रिंट और डिजिटल मीडिया में 12 साल का अनुभव है। नेहा कई प्रोजेक्ट पर काम कर रही हैं। वह संस्था के लिए कंप्यूटर सॉफ्टवेयर से अनोखे ग्राफिक डिजाइन तैयार करती हैं। वह वेब पेज, प्रजेंटेशन, स्टोरी टेलिंग वीडियो, इंफोग्राफिक्स, न्यूज लेटर्स, मार्केटिंग एवं कैंपेन में माहिर है।

नियंता सरकार: प्रोजेक्ट एसोसिएट

नियंता इवेंट मैनेजमेंट और ऑफिस का कामकाज देखती हैं। वह कंटेंट मैनेजमेंट सिस्टम (CMS) का उपयोग करके वेबसाइट के लिए कंटेंट राइटिंग और एडिटिंग में भी मदद करती है। उन्हें नई चीजें सीखना पसंद है।

प्रेम कुमार: फील्ड कोऑर्डिनेटर

प्रेम को कम्युनिटी हेल्थ वर्क में 10 साल का गहरा अनुभव है। वह मां, बच्चे और किशोरों के स्वास्थ्य से जुड़े मामलों के एक्पर्ट ट्रेनर हैं। इसके अलावा वह गांवों में गरीबी उन्मूलन और समुदाय आधारित जमीनी स्तर वाले कामों को भी व्यापक स्तर पर करते हैं।

गुंजन शर्मा: सेक्स एक्सपर्ट 

गुंजन शर्मा हमारे चर्चा मंच ‘लेट्स टॉक’ में सेक्स एक्सपर्ट और सुपरवाइजर हैं। गुंजन लव मैटर्स वेबसाइट पर सलाह वाले आंटीजी कॉलम की लेखिका हैं और लव मैटर्स इंडिया द्वारा आयोजित ट्रेनिंग और वर्कशॉप चलाने में मदद करती हैं।

चिन्मयी दवे सुभाष: डिस्कशन बोर्ड मॉडरेटर

चिन्मयी हमारे चर्चा मंच लेट्स टॉक पर काम करती हैं। उनके पास सोशल वर्क की डिग्री है। इन्हें स्वास्थ्य, स्वच्छता और गर्भपात से जुड़े मुद्दों पर काम करने का अनुभव है।

किरन राय: डिस्कशन बोर्ड मॉडरेटर

किरन राय पिछले सात से अधिक सालों से यौन, प्रजनन स्वास्थ्य और अधिकारों (SRHR) के मुद्दों पर काम कर रही हैं। वह लव मैटर्स इंडिया के डिस्कशन फोरम, फेसबुक पेज पर सवाल-जवाब मॉडरेट करती हैं और वेबसाइट पर भी इस प्रक्रिया में साथ देती हैं। वह SRHR के विविध मुद्दों पर लिखती हैं। उन्होंने इन विषयों पर आधारित वेबसाइट के पॉडकास्ट एपिसोड्स पर भी काम किया है। वर्तमान में वह इग्नू, नई दिल्ली से सामाजिक कार्य और काउंसलिंग में मास्टर डिग्री प्राप्त कर रही हैं।

रंजीता कुमारी: मॉडरेटर

रंजीता कुमारी लव मैटर्स वेबसाइट पर पाठकों से संवाद और संपर्क बनाए रखने का काम करती हैं।