हमारा शरीर

वैसे तो सबके शरीर अलग हैं, लेकिन कुछ बुनियादी हिस्से हैं जो एक समान हैं। आपके और अन्य लोगों के शरीर कैसे काम करते हैं, इस बारे में आप यहाँ जानकारी प्राप्त कर सकते हैं। हम यह भी चर्चा करेंगे कि किशोरावस्था में शारीर में क्या बदलाव होते हैं और आप अपने शरीर की देखभाल कैसे कर सकते हैं।

तथ्य

साफ़-सफाई

हर किसी व्यक्ति कि एक अलग गंध होती है। यह गंध प्यार और सेक्स के मामले में महत्वपूर्ण होती है। आप अक्सर किसी व्यक्ति की तरफ उसके शरीर की गंध को लेकर आकर्षित महसूस कर सकते हैं।इसलिए आपको अपने तन की प्राकर्तिक गंध को छुपाने की कोई आवश्यकता नहीं है, यही गंध आपके साथी को खूब भाएगी।

वीर्यपात

यदि आप पूरी तरह उत्तेजित हो जाते हैं, तो आपको चरम आनंद या आर्गेज़्म हो सकता है उस समय वीर्यपात होता है यानी आपके लिंग से वीर्य बाहर निकलता है।

किशोरावस्था

किशोरावस्था वह समय है जब आप बच्चे से वयस्क बनते हैं। यही वह समय है जब आपका शरीर यौनिक रूप से भी वयस्क (परिपक्व) हो जाता है।

लिंग आकार और लंबाई

लिंग कई आकार और लंबाई के होते हैं। और वे सभी अलग-अलग दिखते हैं: सीधा, टेढ़ा, लंबा, मोटा, पतला, खतना किया हुआ, बिना खतना के। इनमें से कोई किसी अन्य से बेहतर नहीं होता है। लिंग किसी भी एक तरफ़ झुका या तिरछा हो सकता है।

साफ़-सफ़ाई

जब आप किसी को किस करते या चूमते हैं या सेक्स करते हैं तो बेहतर होगा की आप साफ़ सुथरे  हों और आपके पास से दुर्गंध न आ रही हो। आप अपने दाँत रोज़ ब्रुश करें, रोज़ नहाएँ एवं साफ़ सुथरे कपड़े पहने।

किशोरावस्था

किशोरावस्था वह समय है जब आप बच्चे से वयस्क में बदलते हैं। यही वह समय भी है जब शरीर यौनिक रुप से परिपक्व होता है।

मासिक धर्म से जुड़े मिथक

मासिक धर्म (माहवारी) से जुड़े 5 सबसे आम मिथ्य एवं उनके सत्य: 1. माहवारी का खून गन्दा होता है। 2. माहवारी के दौरान शरीर का बहुत सारा खून बह जाता है। 3. अगर आपकी माहवारी किसी महीने ना आये तो आप गर्भवती हैं। 4. माहवारी के दौरान सेक्स करना सेहत के लिए खराब होता है। 5.अगर आपको माहवारी शुरू हो जाती है तो आप गर्भवती नहीं हैं।

मासिक चक्र

हर महिला को किशोरावस्था में पहुँचने के बाद माहवारी (मासिक चक्र) शुरू होती है। पढ़िए यह कैसे होता है, इससे महिला के शरीर में क्या बदलाव आते हैं, और बहुत कुछ...

महिला परिच्छेदन (फीमेल सर्कम्सिशन)

महिला परिछेदन एक प्राचीन परंपरा है, जिसके अंतर्गत लड़की या महिला के गुप्तांग को काट दिया जाता है। उस लड़की कि जाति और राष्ट्रीयता के मुताबिक़, गर्ल / महिला के गुप्तांग को पूरी तरह या गुप्तांग का कुछ हिस्सा काट दिया जाता है।

पैड एवं टैम्पॉन

पैड (जिसे सैनिटरी पैड, सैनिटरी टावल, सैनिटरी नैप्किन भी कहते हैं )एवं टैम्पॉन मासिक धर्म के समय रक्तस्राव को सोखने के लिए उपयोग किए जाने वाले सबसे सामान्य उत्पाद हैं।

मासिक धर्म के बारे में आम पूछे गए सवाल

पेश हैं मासिक धर्म (माहवारी) के सन्दर्भ में पूछे जाने वाले आम सवाल - क्या माहवारी के दौरान सेक्स करने से आप गर्भवती हो सकती हैं? क्या बिना माहवारी हुए आपका अण्डोत्सर्ग हो सकता है? क्या आप जान सकते हैं कि आपका अण्डोत्सर्ग कब होगा? ये सब और बहुत कुछ...

मासिक धर्म (पीरिएड्स) की शुरुआत

लड़कियों में मासिक धर्म 9 से 16 वर्ष की आयु के बीच शुरु हो सकता हैं। ऐसा होने का अर्थ है की आप किशोरावस्था के अन्तिम चरण में हैं और आप जब वे शारीरिक एवं यौनिक रुप से परिपक्व हो रही हैं।

योनि (वेजाइना) इत्यादि

महिला के यौनांग शरीर के अन्दर एवं बाहर होते हैं। ’योनि‘ शब्द का प्रयोग अक्सर महिला के जननांग या यौनांग के लिए किया जाता है जबकी योनि यौनांगों का सिर्फ एक भाग है। योनि एक नली या द्वार है जो बाहरी यौनांगों को भीतरी यौनांगों से जोड़ती है।

गुदा द्वार (एनस)

जहाँ आतें खुलती हैं, उसे गुदा द्वार कहते हैं - जहाँ से मल बाहर निकलता है। गुदा द्वार के आस पास छोटे बाल होते हैं जो अक्सर नितम्बों के बीच फ़ैले होते हैं।

खतना

लड़के अपने लिंग की आगे की चमड़ी के साथ जन्म लेते हैं - वह चमड़ी जो लिंग मुंड को ढके रहती है। जब किसी लड़के या पुरुष का खतना किया जाता है, तो उनके लिंग के आगे की चमड़ी निकाल दी जाती है और लिंग मुंड दिखने लगता है।