Man under the shower

साफ़-सफाई

हर किसी व्यक्ति कि एक अलग गंध होती है। यह गंध प्यार और सेक्स के मामले में महत्वपूर्ण होती है। आप अक्सर किसी व्यक्ति की तरफ उसके शरीर की गंध को लेकर आकर्षित महसूस कर सकते हैं।इसलिए आपको अपने तन की प्राकर्तिक गंध को छुपाने की कोई आवश्यकता नहीं है, यही गंध आपके साथी को खूब भाएगी।

क्या आप जानते हैं कि हम सभी के शरीर से ऐसी गंध निर्मित होती है जिससे हमारा साथी हमारी और आकर्षण महसूस करता है? इन रासायनिक संकेतों को फेरोमोन्स कहा जाता है। हमें इनका आभास नहीं होता लेकिन सच ये है कि हम अनभिज्ञ होते हुए भी इस गंध को सूंघ पाते हैं, और उसके आधार पर हमारा किसी व्यक्ति के प्रति आकर्षण निर्धारित करते हैं।

पुरुषों के लिए विशेष देखभाल

पसीना

वयस्कता की तरफ बढ़ते समय अकसर पसीने में वृद्धि देखी जा सकती है। और इसका अर्थ है कि पसीने की गंध भी ज़्यादा होगी। लेकिन यह सामान्य है- बस हर दिन स्नान कीजिये और साफ़ कपडे पहनिए। यदि आप चाहें तो डिओड्रेन्ट का प्रयोग कर सकते हैं।

खेल-कूद

हार्मोन्स आपकी त्वचा को तैलीय बना सकते हैं और साथ ही कील मुहांसे का भी कारण बन सकते हैं।यदि आपकी त्वचा पर दाग हो रहे हैं तो त्वचा को साफ़ करने के लिए टेलरहित क्लीनर भी उपलब्ध होते हैं। साधारण साबुन के प्रयोग से बचें, क्योंकि ये आपकी त्वचा को और तैलीय बना सकते हैं।

बेहतर साफसफाई और लिंग

चाहे आपका खतना हुआ हो या नहीं, आपको प्रतिदिन अपने लिंग की सफाई करनी चाहिए।

यदि आपका खतना नहीं हुआ है तो आपको लिंग के ऊपर की त्वचा को सावधानी से पीछे खींच कर गुनगुने पानी से लिंग के शीर्ष को धोना चाहिए। साबुन का प्रयोग लिंग की त्वचा के अंदर की तरफ करना सही नहीं है। ऐसा करने से बैक्टीरिया का प्राकर्तिक संतुलन ख़राब हो सकता है और 'फंगल' संक्रमण की सम्भावना बढ़ सकती है। यदि लिंग शीर्ष को आप साबुन से धोना चाहते हैं तो ऐसा साबुन चुने जो सौम्य हो और ज़्यादा खुशबूदार ना हो।

लिंग की त्वचा में जमे सफ़ेद-पीले क्रीमनुमा पदार्थ को साफ़ करना ज़रूरी है। हालाँकि यह पूरी तरह से प्राकर्तिक है, लेकिन इसके जमा होने से दुर्गन्ध और संक्रमण की सम्भावना रहती है।

Comments
Add new comment

Comment

  • Allowed HTML tags: <a href hreflang>