Sex on earth day
Love Matters

सेक्स के साथ पर्यावरण सरंक्षण भी

द्वारा Love Matters India अप्रैल 26, 10:11 पूर्वान्ह
क्या सेक्स से पर्यावरण पर कोई भी प्रभाव पड़ सकता है? जी हां! यदि आपको सेक्स और पर्यावरण दोनों से प्यार है, तो इस पृथ्वी दिवस पर हमारे ईको फ्रेंडली सुझावों पर एक नज़र ज़रुर डालें।
  1. कंडोम का स्टॉक रखेंयदि आप आने वाले साल में अपने साथी के साथ ढेर सारा सेक्स करने की तैयारी में हैं तो बेहतर है कि आप इस तैयारी को सही दिशा देते हुए पर्याप्त संख्या में कंडोम स्टॉक करके रखें। इस तरह आप पैकेजिंग के खर्चे से बच सकते हैं और पर्यावरण को भी अनावश्यक पैकेजिंग से बचा सकते हैं।कंडोम बायोडिग्रेडेबल होते हैं क्योंकि वो रबर से निर्मित हैं लेकिन इनमें कुछ पदार्थ मिलाये जाते हैं जो इन्हें आसानी से फटने या टूटने से बचाते हैं। आजकल बाजार में बहुत से इको फ्रेंडली कंडोम उपलब्ध हैं, आप अपनी पसंद अनुसार उन्हें खरीद सकते हैं। कंडोम को टॉयलेट में फ्लश करना गलत है क्योंकि ऐसा करके आप अपनी मलजल प्रणाली (सीवेज सिस्टम) को नुकसान पहुंचा सकते हैं। इन्हें सावधानी से कचरादान में फेंके।
  2. सेक्स खिलौनों का सही चुनावजब भी आप सेक्स टॉयज खरीदें तो ध्यान रखें कि वो जलरोधक यानी वाटरप्रूफ हो और उसकी बैटरी को फिर से चार्ज किया जा सकता है। ये भी ध्यान दें कि उनके निर्माण में फाथेलेट्स का प्रयोग न किया गया हो क्यूंकि ये पर्यावरण के लिए नुकसानदायक है। ग्लास सेक्स टॉयज या सूर्य ऊर्जा चलित खिलौने बेहतर विकल्प हैं
  3. आर्गेनिक लुब्रीकेंट का इस्तेमाललुब्रीकेंट आपके यौन जीवन को बेहतर तो बनाते हैं, लेकिन अपने घर में उनका ढेर लगाने से पहले अपने आप से एक सवाल ज़रूर पूछिएI क्या आपको विश्वास है कि आप जल्दबाज़ी नहीं कर रहे हैं या अपने साथी को और अपने आपको स्वाभाविक रूप से सेक्स का मज़ा उठाने के लिए उपयुक्त समय दे रहे हैं? आपको यह जानकर हैरानी होगी कि महिलाओं के साथ लम्बे समय तक फोरप्ले करके आप कितने पैसे की बचत कर सकते हैंIअफसोस की बात यह है कि निर्माता अपने द्वारा बनाये गए ज़्यादातर लुब्रीकेंट और अन्य उत्पादों की जाँच जानवरों पर परीक्षण करके करते हैंI पेटा ने बताया कि अमेरिका की प्रयोगशालाओं में हर मिनट 219 जानवरों की मौत हो जाती है। इन बेज़ुबान जानवरों को बचाने के लिए आप जितना हो सके प्राकृतिक लुब्रीकेंट जैसे लार (थूक) या स्वच्छ पानी का उपयोग करेंI बाजार में कोको (नारियल) मक्खन और कई जैविक तेल उपलब्ध हैं जो चिकनाई पैदा करने के लिए बेहतर विकल्प हैंI
  4. बिजली बचाओसेक्स करने में तब ज़्यादा मज़ा आता है जब आप दोनों को ही भरपूर आनंद आ रहा हो लेकिन यह सब आप अजीबोगरीब बत्तियों और एयर कंडीशनर के बिना भी कर सकते हैं। बत्तियों के बिना मोमबत्तियां और परफ्यूम की जगह प्राकृतिक फूलों का इस्तेमाल करके देखिये जनाब, सेक्स में चार चाँद लग जाएंगेIऐसा नहीं है कि मद्धम संगीत और कामोत्तेजक लाइट्स से सेक्स बेहतर नहीं होता लेकिन यह भी ध्यान रखने योग्य बात है कि ऐसा करने से हमारे पर्यावरण को कितना नुकसान पहुँच रहा हैI वैसे आपने कभी खुले में, तारों की छाओं के नीचे सेक्स करने के बारे में सोचा है? क्यों है ना उम्दा ख्याल? बस एकांत स्थान और सुरक्षा का ध्यान रख लेनाI
  5. साफसुथरा, कम उत्पादों वाला सेक्सज़रूरी नहीं कि हर यौन क्रिया में ढेर सारे उत्पादों का इस्तेमाल किया जाए और पूरे कमरे को अस्तव्यस्त कर दिया जाएI टिशू पेपर, चादरें, साबुन, लुब्रीकेंट आदि का उपयोग तमीज से और बिना गन्दगी करे किया जाए तो समझिये कि बेहतर वातावरण के लिए आपने अपना योगदान दे दियाIइसी तरह, अपनी अलमारी में सेक्सी अंतर्वस्त्र और सेक्स खिलौनों का अम्बार लगाने का फायदा तभी है जब आप उन सबका इस्तेमाल करने में समर्थ हो नहीं तो आप केवल संसाधनों को बर्बाद ही करेंगेI इसके अलावा, इन वस्तुओं में से कुछ में खमीर संक्रमण हो सकता है

स्त्रोत: http://greatist.com/happiness/sex-tips-good-for-environment

http://www.rodalewellness.com/health/ecofriendly-sex

क्या आपके पास भी सेक्स और हमारे पर्यावरण की सुरक्षा से समबन्धित कुछ सुझाव हैं? हमें फेसबुक पर लिख भेजिए या फिर नीचे टिप्पणी करके अपने विचार साझा करेंI अगर आपके मन में कोई सवाल हो तो हमारे चर्चा मंच का हिस्सा बन उसे पूछ सकते हैंI

क्या आप इस जानकारी को उपयोगी पाते हैं?

Comments
नई टिप्पणी जोड़ें

Comment

  • अनुमति रखने वाले HTML टैगस: <a href hreflang>