wife is a survivor of child sex abuse
Love Matters India

बचपन में मेरी पत्नी का यौन शोषण हुआ है, मैं कैसे उसकी मदद करूं?

द्वारा Auntyji मई 8, 08:34 पूर्वान्ह
नमस्ते आंटी जी, मेरी पार्टनर बाल यौन शोषण से पीड़ित रही है। उसकी वज़ह से अब हमारी सेक्स लाइफ काफ़ी मुश्किल और असहज हो गई है। मैं उसे इससे बाहर निकालकर हम दोनों के बीच एक सार्थक, सुखद एवं स्वस्थ संबंध बनाना चाहता हूँI सागर, 26 वर्ष, लखनऊ

आंटी जी कहती हैं, बेटा यह एक ऐसी स्थिति है जब व्यक्ति ख़ुद बहुत लाचार महसूस करता है फ़िर भी मदद करना चाहता है ’।

जानकर अच्छा लगा

सबसे पहले तो पुत्र तुझे यह बता दूँ कि तेरी बात मुझे बहुत अच्छी लगीI यह जानकर अच्छा लगा कि तू अपने पार्टनर की मदद करना चाहता है और उसे इस सदमे से बाहर निकालना चाहता हैI चलो शुरू से बात करते हैं, देखा जाए तो यह बिल्कुल असामान्य नहीं है। यौन शोषण के शिकार बहुत से लोग इसी तरह प्रतिक्रिया करते हैं।

दिलो दिमाग पर यौन शोषण का इतना गहरा और नकारात्मक प्रभाव पड़ता है कि इससे पीड़ित महिला किसी पर विश्वास तक नहीं कर पाती है, सेक्स करना तो बहुत दूर की चीज़ है।

यहां तक कि पार्टनर के साथ शारीरिक संबंध बनाने पर भी बचपन में हुए हादसे की यादें ताजा हो जाती है। कितना घिनौना है यह सब कुछ …. अफसोस !!

पहल करो

तुम एक समझदार व्यक्ति हो। अपने पार्टनर के साथ आराम से बैठकर उस घटना के बारे में बात करो लेकिन सिर्फ़ उतना ही जितना वह तुम्हें बताना चाहती है। सच्चाई क्या है या उसके साथ क्या क्या हुआ था, इसके बारे में जांच पड़ताल तब तक मत करो जब तक वह तुमसे ख़ुद आकर ना बताए। उससे पूछो और बात करो कि अब वह कैसा महसूस करती है।

उसे यह एहसास दिलाना मत भूलना कि तुम उसे कितना प्यार करते हो और जो कुछ भी हुआ वह तुम्हारे लिए कोई मायने नहीं रखता है। एक इंसान, प्रेमी और पति के रुप में तुम उसके लिए जो महसूस करते हो, उसे बताने की कोशिश करो।

अब सबसे बड़ी बात। वह तुम्हारी पत्नी है, सिर्फ़ यह समझकर उसकी मदद मत करो (पार्टनर होने के नाते जो उम्मीद होती है) बल्कि उसे याद दिलाओ कि वह कौन है और इस दुनिया और समाज में उसकी क्या अहमियत है और वह सभी के लिए कितनी ख़ास है।

उसका हौसला बढ़ाओ और बताओ कि वह एक अच्छी दोस्त, बेटी, बहन .. गायक, कलाकार, फुटबॉलर है। उसे ख़ुद से रुबरु होने दो। निश्चित रूप से यौन शोषण उसके जीवन की एक घटना है लेकिन यही सब कुछ तो नहीं है।

सीमा के बाहर

हम जो कुछ भी करते हैं उसे कभी भी कम नहीं समझना चाहिए या उस व्यक्ति को कम नहीं समझना चाहिए जो किसी हादसे से गुज़रा है। फ़ैसला उसे ही करने दो और जिस तरह से वह चाहती है उस तरीके से उसे इस हादसे से बाहर निकलने में मदद करो। तुम्हें उसके साथ खड़े रहकर उसकी मदद करनी चाहिए, ना कि यह कहना चाहिए कि जो कुछ हुआ उसे 'भूल जाओ,' यह पुरानी बात हो गई ' या ‘नासमझ मत बनो’ वगैरह वगैरह।

ऐसी बातें बेहद असंवेदनशील प्रतीत होंगी और यह दर्शाएंगी कि तुम उससे और उसके दर्द से ऊब चुके हो। इसलिए तुम जो कुछ भी बोलो, सोच समझकर बोलो। निश्चित रूप से तुम्हें भी यह कहना अच्छा नहीं लगेगा कि हम सही तरीके से सेक्स कब करेंगे। इसलिए धैर्य रखो और उसके साथ सही तरीके से पेश आओ।

सागर बेटा, सबसे महत्वपूर्ण यह है कि अगर तुम उसे ख़ुश और आनंदित रखना चाहते हो तो, उम्मीद यही है कि यह तुम्हारे यौन जीवन में भी झलकना चाहिए। तुम उसे ठीक करने की कोशिश करो ताकि तुम दोनों अच्छी सेक्स लाइफ बिता सको। इसका दूसरा तरीका यह भी है कि उसे भरोसा दिलाओ कि सब ठीक हो जाएगा।

उसे कभी यह महसूस न होने दो कि एक बार फिर वो एक स्वार्थी मर्द के चंगुल में फंस गई है - जो केवल उससे सेक्स चाहता है क्योंकि उसके साथ पहले इस तरह का हादसा हो चुका है। तुम उसके जीवनसाथी हो इसलिए तुम उसे महसूस कराओ कि जब वह सहज महसूस करेगी तभी तुम उसके साथ संबंध बनाओगे।

*गोपनीयता बनाये रखने के लिए नाम बदल दिए गये हैं और तस्वीर में मॉडल का इस्तेमाल किया गया है।

आप किसी यौन शोषण के शिकार व्यक्ति को कैसे सहारा देते हैं? नीचे टिप्पणी करें या हमारे फेसबुक पेज पर लव मैटर्स (एलएम) के साथ उसे साझा करें। यदि आपके पास कोई विशिष्ट प्रश्न है, तो कृपया हमारे चर्चा मंच पर एलएम विशेषज्ञों से पूछें।




 

क्या आप इस जानकारी को उपयोगी पाते हैं?

Comments
नई टिप्पणी जोड़ें

Comment

  • अनुमति रखने वाले HTML टैगस: <a href hreflang>