Corona lockdown love story
Shutterstock/margo_black

'हम ने ये वक़्त अपने रिश्ते को ठीक करने में लगाया'

द्वारा Arpit Chhikara मार्च 30, 01:58 बजे
अर्पण अपने लैपटॉप पर कुछ लिख कर रहा था तभी पूनम ने धीरे से उसका हाथ अपने टी शर्ट के अंदर डाल लिया। कोरोना लॉकडाउन के दौरान दोनों के प्यार की चिंगारी एक बार फिर से भड़क गयी। पढ़ें दोनों की कहानी में आख़िर प्यार का तड़का कैसे लगा।

27 वर्षीय अर्पण प्रोफेशनल हैं और दिल्ली में अपनी गर्लफ्रेंड के साथ रहते हैं।

एक ही प्लेट में एक साथ खाना

लिव इन रिलेशनशिप में रहना मेरी ज़िंदगी का सबसे अच्छा फ़ैसला था। मैं ऐसा लड़का हूं जिसे अपने पार्टनर की नज़रों के सामने रहना पसंद है। और मुझे काफ़ी ताज्जुब हुआ कि पूनम की सोच भी मुझसे काफ़ी मिलती जुलती है और फ़िर अब हम साथ रहने लगे थे।

हम दोनों के बीच कई चीज़ें बहुत कॉमन थी और कई चीज़ें बिल्कुल अलग। जैसे कि काम के मामले में, वह डांस थेरेपिस्ट थी जबकि मैंने डेटा साइंस में रिसर्च किया था। सब कुछ तब तक अच्छा रहा जब तक कि हमने एक दूसरे की पर्सनल लाइफ में दख़ल नहीं दिया।

लगभग एक साल तक एक ही थाली में खाना खाने और एक ही बेड पर सोने के बाद भी अब हमारे रिश्ते में कुछ अधूरापन सा लगता था। हमारे दोस्त भी कहते कि हम दोनों के बीच अब वो वाली बात नहीं रही और मुझे अपने अंदर यह महसूस भी होता था।

साथ थे लेकिन फिर भी दूर थे

अब हम दोनों रोज़ के एक काम की तरह सेक्स करने लगे थे। अगर मैं अपनी बात करुं तो मैं भूल ही गया था कि उसने नाभि में पियर्सिंग कराई थी और वो अभी भी है। शुरूआत में जब हमने डेटिंग शुरु की थी तो एक दूसरे के शरीर के हर हिस्से से अच्छी तरह वाकिफ़ थे। लेकिन अब हम जल्दी से फोरप्ले करके एक दूसरे की प्यास बुझा देते थे। सिर्फ़ इतना ही रह गया था। हम साथ रहकर भी एक दूसरे से दूर थे... बहुत दूर।

एक टाइम ऐसा था जब पूनम सारे कपड़े उतारकर मेरे बगल में लेटकर शरारत भरी नज़रों से मुझे देखा करती थी लेकिन अब तो सेक्स करते समय भी शायद ही हम दोनों एक दूसरे को पहले की तरह देखते हों।

फिर ऐसा भी समय आया जब हम दोनों एक छत के नीचे दो प्रोफेशनल बन कर अपने-अपने कामों में व्यस्त हो गए। मुझे डर था कि कहीं एक दिन साथ में डिनर करने के लिए हमें एक दूसरे को ईमेल न लिखना पड़े।

मेरे बस की बात

लेकिन तभी कोरोना वायरस के कारण लॉकडाउन हो गया। बेशक, कोरोना का ख़तरा  बहुत ज़्यादा फैल गया और हम घर से ही काम करने लगे। एक सुबह पूनम डेस्क पर मेरे लैपटॉप के साथ बैठी थी और ईमेल लिख रही थी।

मैं उसके पास आया और धीरे से उसके कान में बोला। चाय पियोगी?  उसने कहा, हाँ, ज़रूर । एक दूसरे के साथ इत्मिनान से बैठे कई महीने हो गए थे। जब हमने अपना रोमांस शुरू किया था तब एक दूसरे को गिफ्ट देने का वादा किया था। लेकिन यहां हम अपने प्यार में रोमांस का तड़का लगाने की कोशिश कर रहे थे जो हमेशा के लिए गुम हो गया था।

एक दिन हम दोनों ने एक दूसरे को बताया कि हमारे दिल में एक दूसरे के प्रति क्या चल रहा है और हम फिजिकली क्लोज होते हुए भी इमोशनली एक दूसरे से कितने दूर हैं। मैं सिर्फ़ अपने काम पर ध्यान देने के लिए तुमसे माफ़ी चाहता हूं। उससे यह बात कहते हुए मेरी आंखें झुक गईं, मैं कुछ और न बोल पाया।

उसने मुझे गले से लगा लिया। कोई बात नहीं, सिर्फ़ तुम्हारी ही ग़लती नहीं है। ग़लती मेरी भी है। हम कुछ देर तक बातें करते रहे और रात में डिनर के बाद जब हमने सेक्स किया तो वह रोज़ से काफी अलग महसूस हुआ और मज़ा भी खूब आया।

रिश्तों की गर्माहट बनाए रखने का सही तरीका

कोरोना की वजह से हमने खाने पीने और नहाने धोने के सामान, कंडोम सब कुछ घर में जमा करके रख लिया ताकि हमें कुछ दिनों तक घर से बाहर न निकलना पड़े। हमने अपना पूरा ध्यान और समय अपने रिश्ते को और बेहतर बनाने में लगाया। एक दिन जब मैं लैपटॉप पर कुछ लिख रहा था, तब वह आयी और मेरा हाथ अपने ब्रेस्ट पर रख लिया।

इस तरह की उसकी सेक्सी हरकतें और पूरे दिन ऑर्गेज्म के एहसास से हमारी बोरिंग रिलेशनशिप फिर से ख़ुशनुमा हो गयी। मुझे नहीं पता कोरोना लॉकडाउन के दौरान दूसरे लोग कैसे समय काट रहे हैं लेकिन सच कहूं तो हम दोनों फिर से करीब आ गए हैं और एक दूसरे का साथ बेहद अच्छा लग रहा है।

पहचान की रक्षा के लिए, तस्वीर में व्यक्ति एक मॉडल है और नाम बदल दिए गए हैं।

क्या आपके पास भी कोई कहानी है? हम से शेयर कीजिये।कोई सवाल? नीचे टिप्पणी करें या हमारे चर्चा मंच पर एलएम विशेषज्ञों से पूछें। हमारा फेसबुक पेज चेक करना ना भूलें।

Do you have a story in Hindi to share? For any story in Hindi, please write to us below in the comment section. For more stories in Hindi, click here

क्या आप इस जानकारी को उपयोगी पाते हैं?

Comments
नई टिप्पणी जोड़ें

Comment

  • अनुमति रखने वाले HTML टैगस: <a href hreflang>