Myths and facts about casual sex
MaxFX

अनौपचारिक सेक्स: मिथ्य और तथ्य उजागर!

द्वारा Anonymous जनवरी 10, 02:14 बजे
अनौपचारिक सेक्स के बारे में लोग खुल के बात नहीं करतेI इसका क्या अर्थ निकाला जा सकता है? क्या इसे नियमित रूप से करना हानिकारक है? इसके क्या फायदे और नुकसान हो सकते हैं? जानिये हमारे मेहमान ब्लॉगर से....
लेखक अपनी पहचान गुप्त रखना चाहता हैI इस आलेख में व्यक्त किए गए विचार लेखक के निजी विचार हैं और ज़रूरी नहीं कि लव मैटर्स इसमें कही गयी बातों का समर्थन करता हैI

मुझे यह स्वीकार करने में काफ़ी समय लगा कि मुझे सेक्स करना पसंद हैI कई और लोगों की तरह मैं भी यही सोचती हुई बड़ी हुई थी कि सेक्स गलत और निंदनीय हैI पहली बार सेक्स करने पर मुझे इस बात का खासा मलाल हुआ था कि यह मैंने अपने भावी साथी के साथ क्यों नहीं कियाI लेकिन यह ख्याल भी मुझे अलग अलग लोगोँ के साथ शारीरक सम्बन्ध बनाने से नहीं रोक पायाI मुझे बहुत मज़ा आता था लेकिन अंदर ही अंदर एक संघर्ष सा भी चलता रहता थाI

धीरे-धीरे मुझे एहसास हुआ कि इसको लेकर हमारे समाज में बहुत सारी नकारात्मक धारणाएं प्रचलित थीI कुछ सही भी थी लेकिन ज़्यादातर उन लोगों द्वारा फैलाई गयी थी जो शायद हमारे जननांगो को काबू में रखना चाहते थेI

मिथ्य 1: तुम 'घिस' चुकी हो, भावी साथियों के लिए अनुपयुक्त

मेरी राय अलग हैI मेरा मानना है कि मैं अपनी और अपने साथियों की लैंगिकता के बारे में ज़्याद सचेत हूँ और इसलिए बाकियों से बेहतर भी हूँI योनियाँ इलास्टिक की तरह होती है, ना ही उन्हें ज़रुरत से ज़्यादा खींचा जा सकता है और ना ही उनके रूप-रंग में कोई फ़र्क़ पड़ता हैI कई लोग यह सोचते हैं कि अगर एक औरत की झिल्ली टूट गयी है तो उसने अपना कौमार्य खो दिया है जो कि सरासर गलत हैI

मिथ्य 2: तुम निम्नवर्गीय हो और तुम्हारा कोई आत्मसम्मान नहीं है

इसके उलट मैं अपने आपको बेहद स्वाभिमानी समझती हूँI इसीलिए मैं अपनी गुणवत्ता इस बात से नहीं आंकती हूँ कि मैंने कितने लोगों के साथ सेक्स किया हैI और वर्गीकरण के क्या मायने हैं? शायद सिर्फ उसी के लिए जो इसमें विश्वास रखता हो? मैं उन लोगों के साथ सेक्स नहीं करती जिनके साथ करना नहीं चाहती और जिनके साथ मेरे सम्बन्ध रहे हैं वो निस्संदेह उसके काबिल थेI

मिथ्य 3: तुम अपने और दूसरो के शरीर की इज़्ज़त नहीं करती

मैं दिखने मैं बेहद सामान्य हूँ लेकिन कभी भी, किसी ने भी मुझे इस बात का एहसास नहीं दिलायाI चाहे मेरे शरीर पर कितने भी बाल या निशान रहे हों लेकिन मेरे किसी भी साथी ने इस बारे में टिप्पणी नहीं कीI

उसी तरह से मैंने भी विभिन्न शरीरों की विभिन्नता को समझा है और पसंद किया हैI मैं मोटे, पतले, सुडौल, बलिष्ठ, बालदार-  हर तरह के लोगों के साथ रही हूँ और वे सभी मुझे आकर्षक लगे हैंI नएनए लोगों के शरीरों की विशिष्टता को खोजना और निहारना मेरे लिए बहुत रोमांचक होता हैI

'ग्रेट इंडियन लव एंड सेक्स सर्वे' में भाग लेने के लिए यहाँ दबाएं

मिथ्य 4: तुम्हें यौन संक्रमित रोग हो जाएंगे

यह बात सही है कि ज़्यादा लोगों से शारीरिक सम्बन्ध बनाने से यौन संक्रमण का खतरा बड़ जाता है लेकिन किसी भी लिहाज से यह एक निर्णायक कारण नहीं हैI जब तक आप सुरक्षित सेक्स का पालन करेंगे- कंडोम का उचित इस्तेमाल, नियमित जांच और अपने साथी के प्रति ईमानदारी- इस बात की पूरी संभावना है कि आप सुरक्षित रहेंगेI

ऐसा नहीं है कि जो लोग एक ही साथी के साथ सेक्स करते हैं उन्हें यौन संक्रमण नहीं हो सकताI इस बात की सम्भावना बनी रहती है कि उनके पूर्व साथी ने उन्हें संक्रमित कर दिया हो और उन्हें इस बात का आभास भी ना होI मिसाल के तौर पर क्लैमिडिया नाम के यौन संचारित रोग के कोई संकेत नहीं होते और इसीलिए काफ़ी समय तक, इससे संक्रमित लोगों को इस बारे में पता भी नहीं चलताI

प्रस्तुत हैं कुछ तथ्य जो मुझे अनौपचारिक सेक्स की वजह से पता चले हैं और इस वजह से मेरा जीवन संवर गया है

तथ्य 1: आपको पता चलता है कि आपको क्या चाहिए

अनौपचारिक सेक्स की वजह से मुझे पता है कि मुझे बिस्तर में क्या चाहिए (या फिर मेज़ पर या बाथरूम के फर्श पर)I जब आप भरपूर सेक्स करते हैं तो उससे काफ़ी फायदा होता हैI ना सिर्फ़ मैं अब नए सुझावों को आजमाने के लिए तैयार रहती हूँ बल्कि अपने साथी की पसंद को भी प्राथमिकता देती हूँI

तथ्य 2: आपकी संवाद कुशलता बड़ जाती है 

आपके शरीर को आपसे अच्छा कोई नहीं समझ सकता और ना ही उसकी ज़रूरतों के बारे में आपसे अच्छा कोई आपके साथी को समझा सकता हैI मैं जितना ज़्यादा सेक्स करती हूँ, इस बात को लेकर मेरी हिचक उतनी ही कम होती जाती है जो कि इस सम्पूर्ण अनुभव को और भी ज़्यादा सुखद बनाने में मदद करताहैI चूंकि मैं शारीरिक अंतरंगता पर किसी भी तरह का अंकुश लगाने पर विश्वास नहीं रखती इसलिए मैं इस बारे में बात करना बेहतर समझती हूँI

अनौपचारिक सेक्स उन लोगों के लिए नहीं है जो सेक्स किस तरह से किया जाए, उस बारे में एक विशिष्ट राय रखते हैंI देखा जाये तो इसमें कुछ गलत भी नहीं हैI क्यूंकि वैसे भी आप को वही करना चाहिए जिसे करने में आप को किसी तरह की कोई असुविधा ना होI बस इस बात का ध्यान रखें कि जो लोग इस बारे में आपसे अलग राय रखते हो उन्हें किसी गलत नज़र से ना देखेंI

अनौपचारिक सेक्स के बारे में आप क्या सोचते हैं? आप इससे जुड़ी चर्चा में हिस्सा ले सकते हैं या फेसबुक पर टिप्पणी कर सकते हैंI

The Great Indian Love & Sex Survey

 

Myth 4: You’ll get many STDs

True, the chances of acquiring STDs may be increased because of a larger number of partners. But it is absolutely not a conclusive factor. As long as you’re having safe sex – proper use of condoms, getting tested regularly and being honest with your partners, you will most likely be safe.

It is possible for a monogamous couple to get an STD as well. Their previous partners may have infected them without prior knowledge. For example, an infection like Chlamydia causes no symptoms in most people infected and thus goes ignored.

Now here are some facts that have enriched my life because of casual sex:

Fact 1: You know what you like sexually

Casual sex has most definitely improved my knowledge about what I like in bed (or on the floor, or on the table). Just having a lot of sex helps. I am also much more open minded to new ideas, and more willing to accommodate the preferences of my partners.

Fact 2: You have improved communication skills

No one knows your body as well as you do, and no one can tell your partner about it as well as you can. The more casual sex I’ve had, the less squeamish I’ve become about discussing this, leading to a much more enjoyable experience. Since I don’t feel possessive about physical intimacy, I end up being much more open about talking things through.

Casual sex is not for people who prefer exclusivity when it comes to physical intimacy. And that is absolutely okay. Of course you should do only what you feel comfortable with. Just make sure you don’t judge people who make different choices about their own bodies.

What are your thoughts about casual sex? Write your comments on our discussion board or on Facebook.

क्या आप इस जानकारी को उपयोगी पाते हैं?

Comments
नई टिप्पणी जोड़ें

Comment

  • अनुमति रखने वाले HTML टैगस: <a href hreflang>