what women want
Shutterstock/gpointstudio

पुरुष एस्कॉर्ट बनकर मैंने जाना कि महिलाएं क्या चाहती हैं 

द्वारा Arpit Chhikara मई 10, 08:47 पूर्वान्ह
नितिन ने अपने खर्चे निकालने के लिए कुछ अलग तरह का काम करना शुरू किया। वह मेल एस्कॉर्ट (पुरुष एस्कॉर्ट) बन गया। यह एक ऐसा काम था जहां महिलाएं खुलकर अपनी यौन इच्छाओं के बारे में बातें करती थीं। नितिन ने लव मैटर्स इंडिया के साथ अपनी कहानी साझा की।

*31 साल के नितिन दिल्ली में कुछ बच्चों को ट्यूशन पढ़ाते हैं।

निराशा

कॉलेज की पढ़ाई ख़त्म होने के बाद मुझे नौकरी नहीं मिली। मैंने पहले से कुछ पैसे बचा रखे थे लेकिन उतना दिल्ली में रहने के लिए पर्याप्त नहीं था। मेरे माता पिता ने मुझे कॉलेज के अंतिम वर्ष में पैसा देना भी बंद कर दिया था।

मैं एक साल से अधिक समय तक बेरोजगार रहा और बचत के पैसों से ही गुज़ारा करता रहा लेकिन चीज़ें दिन प्रतिदिन मुश्किल होती जा रही थी। घर का किराया, खाना पीना, फोन रिचार्ज सब मिलाकर खर्चा काफ़ी बढ़ गया था। इसके लिए मुझे कुछ करना था।

मैंने एक आदमी को फोन करने का फ़ैसला किया जिससे मैं पिछले साल एक पार्टी में मिला था। उसने मुझे अपनी संस्था में शामिल होने के लिए कहा था, लेकिन मैं तब उसमें शामिल होना नहीं चाहता था। हालाँकि, अब हालात अलग थे।

गुप्त व्यापार
 

*भूषण एक व्यापारी था लेकिन उसके असली काम के बारे में बहुत कम लोगों को पता था। वह एक पुरुष एस्कॉर्ट एजेंसी चलाता थाI हालाँकि अब मैंने ख़र्चे चलाने के लिए अपने शरीर का इस्तेमाल करने का मन बना लिया था लेकिन फिर भी शुरू शुरु में बड़ा अजीब लग रहा थाI

अगले दिन वह मुझे एक निजी डॉक्टर के घर ले गया जहाँ मेरा यौन रोगों का परीक्षण कराया गया। मेरी रिपोर्ट ठीक आने के बाद, उसने मुझे कुछ दिनों तक इंतज़ार करने के लिए कहा। उस रात मैं बहुत परेशान था और सो नहीं सका। अगले ही दिन सुबह मुझे उसका मैसेज मिला। 

पहली बार

भूषण ने मुझे मैसेज में तारीख, समय और जगह के बारे में बताया। मैं नहा धोकर अपने सबसे अच्छे कपडे पहनकर तैयार हो गया। इसके बाद उसने मुझे एक कार का नंबर मैसेज किया। मैं पहली बार यह सब करने जा रहा था, इसलिए बहुत घबराया हुआ था।

मेरी पहली ग्राहक एक मध्यम उम्र की महिला थी। वह काफ़ी सुंदर थी, उसने मुझे एक रेस्टोरेंट के बाहर से उठाया। मैंने मुस्कुराकर अपनी चिंता छिपाने की कोशिश की। हम कार के अंदर फैशन और समाचारों के बारे में बातें करते रहे लेकिन अपने निजी जीवन के बारे में हम दोनों ने बात नहीं की। गोपनीयता बनाए रखना इस काम का पहला नियम था और हम दोनों इसे जानते थे।

उसके पास शराब की एक बोतल थी और हम दोनों एक ही गिलास में शराब पीते हुए होटल पहुंचे जो उसने पहले से बुक किया था।  उसने मुझे रोते हुए बताया कि वह अपने पति से अलग होने के बाद कितना अकेला महसूस करती है।

अगली सुबह उसने मुझे पैसे दिए। इस पैसे का एक तिहाई हिस्सा भूषण का था। उसने मुझे नाश्ता कराया और फिर हम इस वादे के साथ अलग हुए कि जब उसे यौन सेवाओं की ज़रुरत होगी तो हम फिर मिलेंगे।

एक महिला क्या चाहती है
 

कुछ महीनों के अंतराल में, मैं कई अलग अलग महिलाओं से मिला। मुझे एहसास हुआ कि वे मुझे इसलिए चाहती थीं क्योंकि अपने पार्टनर के साथ नियमित सेक्स करने के बावज़ूद भी उनकी अपनी इच्छाएं कभी पूरी नहीं हुईं।

एक ही कंबल में नंगे सोते हुए एक महिला मेरे गले लग गई। कुछ महिलाओं को उनके पार्टनर ने उनके पैरों के बीच कभी नहीं चूमा था। इनमें से ऐसी भी महिलाएं थी जो चाहती थी कि मैं उन्हें चरम सुख दिलाऊं। 

मेरी सबसे दिलचस्प ग्राहक एक युवा महिला थी जो जल्द ही शादी करने वाली थी। वह शादी से पहले किसी पुरुष को नंगा देखना चाहती थी। उसके सामने नंगा होना मेरी मजबूरी थी।

काम छोड़ दिया
 

जिस रात मैं काम पर नहीं जा पाता था, उस रात मुझे सेक्सी मैसेज और वीडियो कॉलिंग से ग्राहकों का मनोरंजन करना पड़ता था। उसके लिए वे मुझे जो पैसे देते उसमें मैं भूषण को कोई हिस्सा नहीं देता था।  इसलिए यह मेरे लिए अच्छी बात थी। उनके पास अपनी सेक्स लाइफ पर ख़र्च करने के लिए पर्याप्त पैसा था और मेरे पास इतना समय था कि मैं उनके पैसे का सही इस्तेमाल कर सकूं।

तीन महीने के बाद बढ़ती मांग के बावजूद मैंने एस्कॉर्ट का काम छोड़ दिया। मैंने जो पैसा बचाया था, वह अगले छह महीने तक के लिए पर्याप्त था और इसलिए मेरे पास इस काम के लिए ना कहने का विकल्प था। वर्तमान में मेरे आने जाने, भोजन और किराए का ख़र्चा अच्छी तरह से चल रहा है।  जब तक मुझे नौकरी नहीं मिल जाती तब तक मैं ख़र्चे के लिए अपने इलाके के छोटे बच्चों को ट्यूशन पढ़ा रहा हूँ।

*गोपनीयता बनाये रखने के लिए नाम बदल दिए गये हैं और तस्वीर में मॉडल का इस्तेमाल किया गया है।
 

क्या पुरुष महिलाओं के चरम सुख के बारे में सोचते हैं? नीचे टिप्पणी करें या हमारे फेसबुक पेज पर लव मैटर्स (एलएम) के साथ उसे साझा करें। यदि आपके पास कोई विशिष्ट प्रश्न है, तो कृपया हमारे चर्चा मंच पर एलएम विशेषज्ञों से पूछें।
 

क्या आप इस जानकारी को उपयोगी पाते हैं?

Comments
Rahul bete ek achhe sex ke liye zaruri hai ki sex mein woh activities ki jayein jisse dono hee partners ko ananad mile. Isliye apni partner ki body ko samjh lijiye- usko time dijiye. partner par focus badhana, foreplay , yaani ki pravesh karne se pehle bahut se alag alag kriyaein karna, apne partner kee uttejna badhana, yeh sab activities sabse zaroori hain. Yeh links bhee padh lijiye: https://lovematters.in/hi/news/how-can-i-please-my-wife-bed https://lovematters.in/hi/resource/her-orgasms Yadi aap is mudde par humse aur gehri charcha mein judna chahte hain to hamare discussion board “Just Poocho” mein zaroor shamil ho! https://lovematters.in/en/forum
Yes in now days most of the men also think about their partner's desires and way to fulfill that desires but still some men think that this is not in culture to do such things. They still have in their mind that sex is only for making babies and doesn't know how much pleasure both of them will get and it also helps both of them with their couple goals.
नई टिप्पणी जोड़ें

Comment

  • अनुमति रखने वाले HTML टैगस: <a href hreflang>