online dating cheating
Shutterstock/Aaron Amat

लव, डेट और धोखा!

द्वारा Vinayana Khurana दिसंबर 28, 09:15 बजे
स्वाति की पहली डेट थी और उस दिन वो बहुत उत्साहित थीI आज उसने अपनी सबसे पसंदीदा ड्रेस पहनी थी। लेकिन जब आरव आया और उसने स्वाति का कंधा थपथपाया तो वह बहुत तेजी से भागी। क्यों? जानने के लिए आगे पढ़ेI

* 23 साल की स्वाति दिल्ली के एक मीडिया हाउस में इंटर्न हैं।

बाएं और दाएं स्वाइप करना

उस समय मैं कॉलेज में थी जब मैंने पहली बार टिंडर के बारे में सुना। अपने फोन पर एप डाउनलोड करने के बाद मैं इसे एक्सप्लोर करने लगी। बाईं ओर स्वाइप करने का मतलब है कि आप उस प्रोफाइल को पसंद नहीं करते जबकि दाईं ओर स्वाइप करने का मतलब है कि उसमें आपकी दिलचस्पी है।

कई प्रोफाइलों पर बाएं स्वाइप करने के बाद मैंने दायीं ओर आरव की प्रोफाइल पर स्वाइप किया। वह जवान, लंबा और सुंदर था। उनकी प्रोफ़ाइल में लिखा गया था कि वह 23 साल का मस्ती परस्त, कॉलेज जाने वाला, बाइक और फिल्मों का शौकीन लड़का है और देहरादून में रहता है।

शुरूआती परिचय के बाद हमने चैटिंग शुरू की और देर रात तक चैटिंग करने लगे। उसे मेरी तरह बॉलीवुड में खूब दिलचस्पी थीI उसने बताया कि उसने चेतन भगत सहित मेरे सभी पसंदीदा लेखकों की किताबें भी पढ़ी हुई थीI इससे ज़्यादा क्या चाहिए - जब मैंने उसे बताया कि मुझे वन डायरेक्शन पसंद है, तो उसने कहा कि यह उसका भी पसंदीदा बैंड है।

हमेशा के लिए बेस्ट?

एक हफ़्ते तक लगातार बात करने के बाद हमने एक दूसरे को अपना मोबाइल नंबर दे दिया और देर रात तक व्हाट्सएप पर बात करने लगे। उसने मेरी फोटो मांगी और मैंने ख़ुशी ख़ुशी उसे अपनी फोटो भेज दी लेकिन जब मैंने उसकी फोटो मांगी तो वह मुझे अलग-अलग तरह से अपनी वही फोटो भेजता जो उसने अपनी टिंडर प्रोफाइल में लगा रखी थी और कहा कि चलो कुछ ऐसा करते हैं जो हमेशा याद रहे..उसका इशारा था कि हमें जल्दी मिलना चाहिए।

सोशल मीडिया पर उससे मिलने के महज़ एक महीने बाद मुझे लगने लगा कि मुझे उससे प्यार हो गया है। मैं उससे मिलने के लिए बेताब थी। शायद वह भी था।

किस्मत ने हमारा साथ दिया, उसने कहा कि वह वीकेंड पर दिल्ली आ रहा है और चाहता है कि हम दोनों एक होटल में मिलें। मुझे थोड़ा असहज महसूस हुआ और मैंने उसे बाहर मिलने के लिए कहा।

क्या तुम्हें मुझ पर भरोसा नहीं है ’

जब उसने कहा कि क्या तुम्हें मुझ पर भरोसा नहीं है तो मैं उसे नाराज नहीं करना चाहती थी। इसलिए मैं उससे होटल की लॉबी में मिलने को तैयार हो गयी।

मैंने अपनी सबसे अच्छी दोस्त श्रेया को फोन किया और उसे सब कुछ बताया। उसने मुझे उसे बाहर मिलने का मैसेज करने के लिए कहा। मुझे हिचकिचाहट हो रही थी और मैंने श्रेया से कह दिया कि वह ज़्यादा सोच रही है, ऐसा कुछ नहीं होगा। मैं इस पल को बर्बाद नहीं करना चाहती थी।

श्रेया ने ज़बरदस्ती मेरा फोन ले लिया और आरव को बाहर मिलने के लिए मैसेज कर दिया। मुझे श्रेया पर बहुत गुस्सा आया। काफी समय बाद भी आरव का कोई ज़वाब नहीं आया। दो घंटे बीत गए। मुझे सच में चिंता होने लगी थी।

आख़िर उसने मैसेज का जवाब दिया, जिसमें लिखा था कि वह इस बात से परेशान है कि मुझे उस पर भरोसा नहीं है लेकिन वह पहली बार बाहर मिलने के लिए तैयार हो गया था।

मैंने अपनी दोस्त की तरफ देखा और कहा, 'देखा!'

श्रेया ने कहा कि वह मुझे वहां छोड़ देगी और आसपास ही रहेगी। मेरी इतनी निगरानी रखने के लिए मुझे उसपर हंसी आ गयी।

मुझे लगा मेरे साथ मज़ाक हुआ हैI

अगले दिन मैंने अपना पसंदीदा नारंगी टॉप और नीले रंग की डेनिम पहनी और दिल्ली हाट पहुंच गयी- वह जगह जहां उससे मिलना तय हुआ था। श्रेया ने मुझे वहां छोड़ा और बोली कि वह पास के ही एक कैफे में रहेगी और बाद में मुझे लेने आ जाएगी।

मैं पंजाब स्टॉल के पास उसका इंतजार कर रही थी, मैंने उसकी फोटो देखने के लिए अपना फोन खोला। मेरे पेट में गुदगुदी हो रही थीी मुझे विश्वास नहीं हो रहा था कि मैं सचमुच में आरव से मिलने वाली थी।

मैं अपने ही विचारों में खोई थी कि किसी ने मेरा कंधा थपथपाया। जैसे ही मैं पीछे मुड़ी, मैंने एक अधेड़ उम्र और छोटे कद के आदमी को देखा। उसकी उम्र चालीस के आसपास रही होगी।

वह मुस्कुराया और मेरी ओर हाथ हिलाते हुए बोला, 'अरे, मैं आरव हूं।'

मैं भ्रमित थी। क्या यह एक मज़ाक था? मुझे समझ में नहीं आ रहा था कि कैसे प्रतिक्रिया दूं।

मैं समझाता हूं'

वह निश्चित रूप से वह व्यक्ति नहीं था जिससे मैंने इतनी बातें की थी। अपने मानसिक संतुलन को ठीक रखकर मैंने उससे कहा कि मुझे माफ़ कीजिए, मैं आपको नहीं जानती हूं और मैंने तेजी से चलना शुरू कर दिया।

वह मेरे पीछे आया और कहता रहा, 'मैं सब कुछ समझा दूंगा' लेकिन मैं बहुत तेजी से भागती रही और वॉशरुम में चली गई। मैं नर्वस थी और घबराहट भी हो रही थी।

मैंने श्रेया को मैसेज किया। जब वह आई तो मैंने ज़ोर से उसे गले लगाकार सारी बात बता दीI इस बीच आरव मैसेज करता रहा, मैं समझा सकता हूं और फोन भी करता रहा।

श्रेया ने मुझसे फोन ले लिया और उसे चेतावनी दी कि वह फोन करना बंद कर दे नहीं तो वह पुलिस को फोन करेगी। इसके बाद उसने फोन करना बंद कर दिया।  श्रेया ने फिर तुरंत उसका नंबर ब्लॉक कर दिया। हम कुछ समय तक वॉशरूम में ही रहे जब तक मैं नॉर्मल नहीं हो गयी। जब हम बाहर निकले तो आरव कहीं नहीं दिखा।

गोपनीयता बनाये रखने के लिए नाम बदल दिए गये हैं, तस्वीर में मॉडल का इस्तेमाल किया गया है।

क्या आप भी कभी स्वाति जैसी मुश्किल में पड़े हैं? अपनी बात लव मैटर्स के फेसबुक पेज पर साझा करें। अगर आपके पास कोई विशिष्ट प्रश्न है तो हमारे चर्चा मंच पर लव मैटर्स (एलएम) विशेषज्ञों से पूछें।




 

क्या आप इस जानकारी को उपयोगी पाते हैं?

Comments
नई टिप्पणी जोड़ें

Comment

  • अनुमति रखने वाले HTML टैगस: <a href hreflang>