shaadi se pehle sex
Shutterstock/ Krakenimages.com/फोटो में मॉडल् है

‘शादी से पहले तुम ऐसा सोच भी कैसे सकती हो?'

द्वारा Vinayana Khurana अप्रैल 13, 11:47 पूर्वान्ह
जब रितिका ने अपने बॉयफ्रेंड को किस करने की इच्छा जताई, तो वह चौंक गया और ‘लड़की होने के बावजूद’ ऐसा कहने के लिए उसका मजाक उड़ाया। लव मैटर्स से अपनी कहानी शेयर करते हुए रितिका ने यह जानना चाहा कि क्या एक लड़की की शारीरिक इच्छाएं नहीं होती हैं?

रितिका (20) कानपुर में पढ़ाई करती हैं।

एक नया एहसास

मैं काफी समय से समीर के साथ रिलेशनशिप में थी। हम बचपन से ही दोस्त थे। जैसे-जैसे हम बड़े होते गए हमारे बीच प्यार भी बढ़ता गया और वयस्क होने पर हमारा प्यार रिलेशनशिप में बदल चुका था। मुझे समीर के साथ सच में बहुत अच्छा लगता था। मैं उसके साथ कुछ भी बात कर सकती थी। वह मेरे बॉयफ्रेंड से ज़्यादा मेरा सबसे अच्छा दोस्त था और मैं भावनात्मक और शारीरिक रूप से उसकी ओर आकर्षित थी। हाथ पकड़ना और एक-दूसरे को गले लगाना हम दोनों के बीच सामान्य बात थी।

लेकिन कुछ समय बाद, मेरी इच्छाएं कुछ और बढ़ी। एक दिन हम दोनों कॉफी डेट पर बाहर गए थे। हम अपने कुछ कॉमन दोस्तों की फोटो पर बातें कर रहे थे और हंस रहे थे। मैंने उसे उसके बर्थडे पर जो नीली शर्ट गिफ्ट की थी, आज वो उसमें बहुत हॉट लग रहा था।

उस समय मुझे उसे किस करने का बहुत मन हो रहा था। यह एक नई फीलिंग थी, जो मुझे पहले कभी महसूस नहीं हुई थी। उसने पूछा- क्या सोच रही हो लेकिन मैंने टॉपिक बदल दिया। मुझे नहीं मालूम था कि वह कैसे रिएक्ट करेगा- मेरा मजाक बनाएगा या मुझे समझेगा। वह मुझसे पूछता रहा कि तुम इतना अलग व्यवहार क्यों कर रही हो, लेकिन मैं चुप रही।

क्या मैं नॉर्मल हूं?

अगली सुबह, वह मुझे लेने आया और यह कहते हुए मेरी तारीफ करने लगा कि तुम इस ड्रेस में बहुत क्यूट लग रही हो। मैंने पलट कर पूछा कि 'क्या तुम्हें मुझे किस करने का मन नहीं कर रहा है'? मेरी बात सुनकर उसका मुंह खुला रह गया और उसे समझ में ही नहीं आ रहा था कि कैसे रिएक्ट करें। वह कन्फ्यूज दिख रहा था और बोला क्या बकवास कर रही हो यार! मजाक बंद करो और बैठो। हमें कॉलेज के लिए देर हो रही है।

मुझे बहुत शर्मिंदगी महसूस हुई और मैंने पूरे दिन उससे बात नहीं की। अगले दिन जब वह मुझे लेने आया, तो समीर ने कहा कि वह इन सबके लिए तैयार नहीं था। उसने मुझसे कहा कि एक लड़की होकर शादी से पहले तुम इन सबके बारे में कैसे सोच सकती हो? उसने मेरी नकल उतारकर मेरा मज़ाक भी बनाया और कहा कि पक्का तुम बुरी लड़कियों की संगत में पड़ गई हो। उसकी बातों से मुझे गिल्ट फील होने लगा और उसने कहा कि इन चीजों की पहल लड़के करते हैं न कि लड़कियां।

मैं इतनी अधिक उलझन में पहले कभी नहीं पड़ी थी, मैं सोचने लगी कि शायद मैं ही ग़लत हूँ और सिर्फ़ मुझे ही इस तरह के गंदे ख़याल आ रहे हैं। एक लड़का होकर भी समीर की ऐसी इच्छाएं नहीं हैं, फिर मेरी क्यों हैं? क्या वह मुझसे प्यार नहीं करता या शायद वह मेरी ओर आकर्षित नहीं है?

काफी समय तक मैंने इसके बारे में किसी से बात नहीं की और मैंने अपनी फीलिंग को अपने तक ही रखा। मैं समीर से बचने लगी। अब मुझे उसके साथ शर्मिंदगी महसूस होने लगी थी क्योंकि उसने मेरा और मेरी फीलिंग का मजाक उड़ाया था। मुझे बहुत घुटन होने लगी थी।

अंत में मैंने अपनी सहेलियों को इस बारे में बताया और समीर का ज़वाब भी बताया। मेरी सहेलियों ने मुझे समझाया कि इस तरह की इच्छाएं इंसान के लिए नॉर्मल हैं, चाहे वह लड़की हो या लड़का।

अपने दोस्तों से यह सुनने के बाद, मुझे सुकून मिला कि ना तो मैं ग़लत थी ना ही मेरी इच्छाएं गलत हैं।

सम्मान नहीं तो रिश्ता भी नहीं

अगले दिन, मैंने समीर के साथ ब्रेकअप करने का फैसला किया। मैंने उससे कहा कि अगर वह मेरी और मेरी फीलिंग का सम्मान करने के लिए तैयार नहीं है तो मैं भी उसके साथ नहीं रहना चाहती। वह चौंक गया और फिर से मेरा मजाक उड़ाने लगा। समीर का यह अलग रूप मैंने पहले कभी नहीं देखा था।

लेकिन इससे पहले कि वह मुझे चोट पहुंचाने या मुझे गिल्ट महसूस कराने के लिए कोई और शब्द कहे, मैं पलट गई और फिर कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा। हम दोनों को एक-दूसरे से बात किए अब कई हफ्ते हो गए हैं।

गोपनीयता का ध्यान रखते हुए नाम बदल दिए गए हैं और फोटो में मॉडल् हैं।

क्या आपके पास भी कोई कहानी है? हम से शेयर कीजिये।  कोई सवाल? नीचे टिप्पणी करें या हमारे चर्चा मंच पर विशेषज्ञों से पूछें। हमारा फेसबुक पेज चेक करना ना भूलें। हम Instagram, YouTube  और Twitter पे भी हैं!

क्या आप इस जानकारी को उपयोगी पाते हैं?

Comments
नई टिप्पणी जोड़ें

Comment

  • अनुमति रखने वाले HTML टैगस: <a href hreflang>