Bumble
© Vinayana Khurana

जब एक डेटिंग वेबसाइट ने मुझे ब्लॉक कर दिया!

विनयना ने एक प्रख्यात डेटिंग वेबसाइट पर लॉग इन करने की कोशिश की पर वह नहीं जानती थी कि उसकी विकलांगता की वजह से उसके लिए अकाउंट बनाना ही संभव नहीं हो पायेगा। उसने अपनी परेशानी सोशल मीडिया पर बयान करी। उसके बाद क्या हुआ? सुनंदा ने हमारे साथ अपनी कहानी शेयर की।

विनयना, 27 वर्षीया लेखिका हैं और सेरिब्रल पैल्सी नामक स्थिति से ग्रसित हैं। 

यह मेरे लिए नार्मल नहीं!

मैं कभी भी किसी डेटिंग ऐप्स पर सक्रिय नहीं रही हूँ क्योंकि मुझे लगता है कि किसी को भी अपने सपनों का राजकुमार स्क्रीन पर उंगली घुमा कर नहीं मिल सकता। 

और फिर सेरिब्रल पैल्सी से ग्रसित होते हुए मैं बिना किसी से मिले किसी भी चीज़ में पड़ना नहीं चाहती थी।

ख़ैर, फिर भी, मैं ज़िंदगी के साथ नया प्रयोग करने के लिए तैयार थी। काफी दिनों की खोज के बाद, मुझे पता चला कि बम्बल स्त्रियों के लिए सबसे सुरक्षित डेटिंग ऐप है क्योंकि इस पर स्त्रियां पहले मेसेज कर पाती हैं। इसलिए मैं अनचाहे/ फ़ालतू मेसेजस से बच पाऊंगी, मैंने सोचा। 

कुछ जानकारी उसमे भरने के बाद मैंने अपना प्रोफाइल बनाया। मैं नए लोगों के बारे में जानने के लिए उत्सुक थी कि तभी मेरी स्क्रीन पर एक मेसेजस्वयं को प्रमाणित करें /वेरीफाई योरसेल्फ’ पर आया। उस ऐप के अनुसार मुझे एक पोज़ बना कर फोटो खिचवानी था जिसमें मेरा सर सीधा रहे और मैं अपने हाथ से विक्ट्री (V)  का चिन्ह बना रही हूँ। 

हो सकता है कि यह अन्य लोगों के लिए सामान्य पोज़ हो, परन्तु मेरे लिए यह एक बहुत मुश्किल था। मेरी स्थिति- की वजह से मैं अपने शरीर के अंगों को नियंत्रित नहीं कर पाती हूँ। मैंने कई बार सही पोज़ बनाने की कोशिश की परंतु मैं असफल रही। मेरा शरीर हर बार सही पोज़ करने की कोशिश में हिल जाता था। अंततः मैं बहुत निराश हो गयी!

बराबरी की लड़ाई  

मैं अपनी असल ज़िन्दगी में ज़्यादा डेट्स पर नहीं गयी हूँ तो मैंने सोचा कि वर्चुअल तरीके से ऐसा करना मेरे लिए बेहतर होगा।ओह! पर यह धारणा बस कुछ ही देर रही। मैं अकाउंट तक भी नहीं बना पायी। मुझे बहुत कुंठित, उदास और अस्वीकृत सा महसूस हुआ।

विकलांग व्यक्तियों के लिए डेट करना और प्यार में पड़ना इतना कठिन क्यों होता है? क्या हमारी कोई यौन इच्छाएं नहीं होती? हम उपेक्षित क्यों हैं? मेरे मन में इस तरह के विचार और कई अन्य सवालों की बाढ़ आ रही थी! 

मैंने सोचा, कि बदलाव लाने के लिए मुझे ही कदम आगे बढ़ा कर बीड़ा उठा होगा। मैंने अपने इस अनुभव के बारे में अपने लिंकडेन प्रोफाइल में लिखकर बम्बल को टैग किया। मुझे मेरे समुदाय के लोगों, और उन लोगों से भी जिन्हे मैं नहीं जानती थी, बहुत सहयोग मिला। मेरी पोस्ट पर उन लोगों के कमैंट्स की बाढ़ आ गयी जो ना सिर्फ मेरे समर्थन में थे बल्कि उन्होंने बम्बल को भी सुधार के लिए कदम उठाने के लिए टैग किया। 

मुझे अच्छा और प्रोत्साहित महसूस हुआ। अब बराबरी की लड़ाई में मैं अकेली नहीं थी!

सब की पहुँच हो   

आख़िरकार, कुछ घंटों के बाद , खबर बम्बल तक पहुंची।और उन्होंने मेरे पोस्ट का जवाब दिया! 

'हमें बहुत ख़ुशी है कि आपने हमसे संपर्क किया। हमारी सहायता टीम आपको प्रमाणित होने में मदद करेगी। यदि आप यहाँ संपर्क करें, तो वे आपको दूसरा विकल्प बताएँगे। इसके अलावा, हम यह भी मानते हैं कि किसी को भी अन्य विकल्प चुनने की आवश्यकता नहीं पड़नी चाहिए। हमारी प्रोडक्ट टीम इस विषय पर सक्रियता से काम कर रही है ताकि यह मंच जितना ज़्यादा हो सके उतना विस्तृत और पहुँच में हो। यदि हम सुधार के लिए कुछ और कर सकते हैं तो हम सुनने के लिए तैयार हैं। हम इस विषय पर आपके विचार जानना चाहते हैं।

मुझे बहुत अच्छा लगा क्योंकि मेरी आवाज़ अनसुनी नहीं गयी। अपितु दुनिया की एक बहुत बड़ी डेटिंग ऐप के द्वारा उसे सुना गया जिसने यह विश्वास भी दिलाया कि वे अपनी ऐप को जितना हो सके उतना सब की पहुँच में लाएंगे।  

फायदा क्या हुआ?

मेरे बम्बल अकाउंट के प्रमाणित होने के साथ ही, मुझमें बहुत आत्मविश्वास आ गया कि मैं अन्य डेटिंग ऐप्स के साथ भी प्रयोग कर सकूं। हालाँकि, ऑनलाइन डेटिंग की दुनिया बहुत आसान नहीं है। मुझे अजीब अजीब कमेंट्स मिलते हैं जैसे 'व्हीलचेयर पर बैठी एक खूबसूरत लड़की ' या ' तुम बहुत सुन्दर हो, तुम्हें विकलांग नहीं होना चाहिए था।' और सबसे बढ़िया - 'तुम एक प्रेरणास्रोत हो!'

अरे, मैंने खुद को डेटिंग ऐप पर किसी का प्रेरणास्रोत बनने के लिए तो नहीं डाला था ! मैं तो यहाँ सभी की तरह डेट ढूंढने आयी थी। क्या लोगों के लिए यह समझना इतना मुश्किल है? क्यों हम प्यार और विकलांगता को सामान्य नहीं बना सकते?

सच कहूँ, तो अब डेटिंग ऐप पर से मेरा मन भर गया है क्योंकि या तो यहाँ सभी लोग झूठे हैं या फिर उन्हें डेट पर जाने की बहुत जल्दी है। और हाँ, बहुत लोग पीछे पड़ने वाले भी थे!

तो बस, अभी के लिए मैंने डेटिंग ऍप्लिकेशन्स का इस्तेमाल पूरी तरह बंद कर दिया है। मुझे इस बात पर पूरा विश्वास  है कि मुझे अपने जीवन में प्यार ज़रूर मिलेगा, वह जहाँ भी हो, डेटिंग ऐप पर या फिर उसके बाहर!

क्या आपके पास भी कोई कहानी है? हम से शेयर कीजिये। कोई सवाल? नीचे टिप्पणी करें या हमारे चर्चा मंच पर विशेषज्ञों से पूछें। हमारा फेसबुक पेज चेक करना ना भूलें। हम Instagram, YouTube  और Twitter पे भी हैं!

क्या आप इस जानकारी को उपयोगी पाते हैं?

Comments
नई टिप्पणी जोड़ें

Comment

  • अनुमति रखने वाले HTML टैगस: <a href hreflang>