homemade lubes
Shutterstock/Garna Zarina

चिकनाई सेक्स को करे मजेदार: जानिए घर पर बने अच्छे ल्यूब्रिकेंट

क्या आप जानते हैं कि सेक्स करते समय चिकनाई का इस्तेमाल करें तो सेक्स बेहतर होता है? अधिकांश कपल यौन संबंध बनाते समय दर्द या ड्राईनेस का सामना करते हैं, जबकि वे ल्यूब्रिकेंट का इस्तेमाल करके सेक्स के मजे को बढ़ा सकते हैं। ल्यूब्रिकेंट (ल्यूब) आप या तो बाजार में खरीद सकते हैं या घर पर बनाकर भी इस्तेमाल कर सकते हैं! इस आर्टिकल में हम आपको घर में बने कुछ ल्यूब के बारे में बताएंगे। तो, आइए जानें!

सबसे पहले, आइए यह जानते हैं कि आंखिर ल्यूब्रिकेंट क्या है? ल्यूब्रिकेंट एक जेल या लिक्विड होता है जो सेक्स के दौरान योनि में ड्राईनेस को कम करने में मदद करता है, जिससे योनि में लिंग से रगड़ के कारण होने वाले दर्द या जलन को कम किया जा सकता है। इसका इस्तेमाल एनल सेक्स के दौरान होने वाली रगड़ को कम करने के लिए भी किया जा सकता है।

मार्केट में फार्मेसी पर ल्यूब्रिकेंट बहुत आसानी से उपलब्ध होते हैं। लेकिन अगर ये आपको महंगे लगते हैं या आप इनका इस्तेमाल नहीं करना चाहते, तो क्यों न घर के बने ल्यूब्रिकेंट का इस्तेमाल करें? जी हां, यह सही है, रोजमर्रा के कई ऐसी घरेलू चीजें हैं जो सुरक्षित ल्यूब के रूप में इस्तेमाल की जा सकती हैं। लेकिन साथ ही यह भी जान लें कि हर चिकनाई वाली चीज (जैसे वैसलीन) को लुब्रिकेंट के रूप में इस्तेमाल नहीं किया जा सकता है। ये भी याद रखना ज़रूरी हैं की घर पर बने ल्यूब कभी कभी कंडोम प्रभाव को कम कर सकते हैं। इसलिए क्या सुरक्षित है और क्या नहीं? आगे पढ़ें।

सेक्स के लिए 7 नैचुरल ल्यूब

सेक्स के लिए नैचुरल या घर के बने ल्यूब का इस्तेमाल करने का कारण बाजार में उपलब्ध ल्यूब में पाए जाने वाले केमिकल पैराबेन्स, ग्लिसरीन, प्रोपलीन ग्लाइकोल और कृत्रिम सुगंध के हानिकारक प्रभावों के बारे में बढ़ती चिंता है। ये हानिकारक रसायन कई समस्याएं पैदा करते हैं। इनका इस्तेमाल करने से जलन, चकत्ते, गर्भाशय कैंसर और हार्मोनल असंतुलन का खतरा बढ़ जाता है।

यहां हम आपको नैचुरल ल्यूब के बारे में बता रहे हैं जिन्हें आप सुरक्षित रूप से सेक्स के बेहतर आनंद के लिए इस्तेमाल कर सकते हैं:

नारियल तेल

नारियल तेल बहुत फेमस नैचुरल ल्यूब्रिकेंट है। इसकी महक और स्वाद अच्छा होता है और यह त्वचा को कोमल बनाए रखता है। यह न केवल पेनिट्रेटिव सेक्स (योनि में लिंग के प्रवेश वाले  सेक्स) के लिए  बल्कि ओरल (मौखिक) सेक्स के दौरान भी इस्तेमाल किया जा सकता है।

ल्यूब के रूप में हमेशा वर्जिन या अनरिफाइंड, या ऑर्गेनिक नारियल तेल का इस्तेमाल करना जरूरी है, क्योंकि इनमें कोई भी आर्टिफिशियल तत्व नहीं होता है। हालांकि, यदि आप गर्भावस्था या यौन संचारित रोगों  से बचने के लिए लेटेक्स-युक्त कंडोम का इस्तेमाल कर रहे हैं तो यह आपके लिए प्रभावी विकल्प नहीं हो सकता है। तेल कंडोम के लेटेक्स को नुकसान पहुंचा सकता है जिसके कारण कंडोम टूट सकता है।

ऑलिव ऑयल

ऑलिव ऑयल घर के किचन में आसानी से मिल जाता है। इसे ल्यूब्रिकेंट के रूप में इस्तेमाल किया जा सकता है। यह न केवल पेनिट्रेटिव सेक्स के दौरान रगड़ को कम करने में मदद करता है, बल्कि यह ओरल सेक्स के लिए भी एक बढ़िया विकल्प है क्योंकि मुंह में जाने पर इससे कोई नुकसान नहीं पहुंचता है।

नारियल तेल की तरह, हमेशा वर्जिन ऑलिव ऑयल का इस्तेमाल करना बेहतर होता है। लेकिन अगर आप लेटेक्स-युक्त कंडोम और डेंटल डैम का इस्तेमाल कर रहे हैं तो इससे बचें। चूंकि ऑलिव ऑयल त्वचा द्वारा अवशोषित नहीं होता है, इसलिए त्वचा के छिद्रों को बंद होने से बचाने के लिए इसे सेक्स के तुरंत बाद धोना चाहिए।

बादाम तेल

बादाम के तेल में पौष्टिक और राहत देने वाले गुण होते हैं। यह संवेदनशील और त्वचा पर जल्दी चकत्ते आने से परेशान लोगों के लिए नैचुरल ल्यूब्रिकेंट के रूप में एक बढ़िया विकल्प है। बादाम के तेल का सेवन करना भी सुरक्षित है और इसका इस्तेमाल ओरल के साथ-साथ पेनिट्रेटिव सेक्स के लिए भी किया जा सकता है।

यह लंबे समय तक त्वचा पर लगा रहता है इसलिए आपको सेक्स के दौरान इसे बार-बार लगाने की चिंता करने की ज़रूरत नहीं है। अन्य तेलों की तरह, यह भी लेटेक्स-युक्त कंडोम और डेंटल डैम के साथ अच्छा नहीं होता है।

एलोवेरा

एलोवेरा प्राकृतिक और प्लांट बेस्ड जेल है जो एलोवेरा के पौधे से निकलता है। यह सुखदायक और हाइड्रेटिंग गुणों से भरपूर होने के साथ ही स्किन केयर प्रोडक्ट के रूप में काफी लोकप्रिय भी है। यह त्वचा और बालों के लिए अच्छा है। औषधीय गुणों से भरपूर होने के कारण बहुत से लोग इसे पीते भी हैं!

ल्यूब्रिकेंट के रूप में इस्तेमाल करने पर एलोवेरा न केवल रगड़ को कम करता है बल्कि त्वचा की जलन को भी कम करने में प्रभावी है और जननांगों की संवेदनशील त्वचा को भी हाइड्रेट करता है।

चूंकि इसमें पानी होता है, इसलिए लेटेक्स-युक्त  कंडोम के साथ एलोवेरा का इस्तेमाल करना सुरक्षित है। कुल मिलाकर, यह एक बढ़िया प्राकृतिक ल्यूब्रिकेंट है।

घी

घी या क्लेरिफाइड बटर पोषण और हीलिंग वाले गुणों से भरपूर होता है। इसमें हेल्दी फैटी एसिड होता है और मॉइस्चराइजिंग गुणों से भरपूर होने के कारण यह जननांगों की संवेदनशील त्वचा पर इस्तेमाल के लिए सुरक्षित विकल्प है। इसकी हल्की सुगंध और स्वाद के कारण इसे ओरल सेक्स के दौरान इस्तेमाल करना अच्छा रहता है।

यह काफी गाढ़े प्रकृति का होता है जिससे कंडोम टूट सकता है। इसलिए कंडोम के साथ घी का इस्तेमाल ल्यूब्रिकेंट का अच्छा विकल्प नहीं है। भले ही यह त्वचा में घुल हो जाता है, लेकिन कुछ अवशेष त्वचा की सतह पर बने रह जाते हैं और अगर इसे छोड़ दिया जाए तो खराब गंध दे सकता है। इसलिए, यदि आप घी का प्राकृतिक ल्यूब्रिकेंट के रूप में इस्तेमाल कर रहे हैं, तो सेक्स के बाद अपनी त्वचा को गर्म पानी से धो लें।

घर का बना साधारण ल्यूब्रिकेंट

यदि ऑयल युक्त प्राकृतिक ल्यूब आपके लिए अच्छा विकल्प नहीं है और यह आपको आपके पसंदीदा सुरक्षित सेक्स के तरीके के अनुसार उपयुक्त नहीं समझ में आता है तो आप घर पर पानी और मक्के के स्टार्च (corn starch) से अपने लिए ल्यूब बना सकते हैं। मक्के का स्टार्च आपको किराने की दुकान पर मिल जाएगा।

एक कप पानी लें, उसमें 4 चम्मच मक्के का स्टार्च डालें, मध्यम आंच पर उबाल आने तक पकाएं, फिर लगभग 30 सेकंड तक हिलाएं। ठंडा होने के बाद ही इसका इस्तेमाल करें।

क्या इस्तेमाल नहीं करना चाहिए

आपके घर में कई प्रकार के ल्यूब उपलब्ध हैं जो सेक्स को मजेदार बनाने में प्रभावी रूप से काम करते हैं, लेकिन किचन या बाथरूम में मौजूद सभी चिकने या तेल-युक्त पदार्थों को ल्यूब्रिकेंट के रूप में इस्तेमाल नहीं किया जा सकता है। यहां दी गई कुछ चीजों को ल्यूब्रिकेंट के रूप में कभी भी इस्तेमाल नहीं करना चाहिए:

  • पेट्रोलियम जेली: इसमें मॉइस्चराइजिंग गुण होते हैं, लेकिन फिर भी पेट्रोलियम जेली ल्यूब्रिकेंट के रूप में अच्छी तरह से काम नहीं करती है। इससे फिसलन बढ़ सकता है जिससे पेनिट्रेट करने में परेशानी हो सकती है। इसके अलावा, स्टडी से पता चलता है कि जननांगों पर पेट्रोलियम जेली का इस्तेमाल करने से बैक्टीरियल इंफेक्शन बढ़ सकता है।
  • रिफाइंड तेल: कैनोला ऑयल और वनस्पति तेल जैसे हाइड्रोजनीकृत और रिफाइंड तेल ल्यूब्रिकेंट के रूप में इस्तेमाल करने के लिए अच्छे नहीं होते हैं क्योंकि वे इन्हें प्रिजर्वेटिव और केमिकल का उपयोग करके अधिक प्रोसेस्ड किया जाता है। हीटिंग, ब्लीचिंग और केमिकल ट्रीटमेंट की प्रक्रिया के कारण, इन्हें प्राकृतिक नहीं माना जाता है। इसलिए इन्हें ल्यूब के रूप में इस्तेमाल करने से योनि में इंफेक्शन का खतरा हो सकता है।
  • बेबी ऑयल: बेबी ऑयल आमतौर पर पेट्रोलियम या मिनरल बेस्ड ऑयल होते हैं, जिसके कारण ये अधिक चिपचिपे होते है। अगर संभोग के बाद योनि या लिंग में बेबी ऑयल रह जाता है, तो यह योनि में बैक्टीरिया पनप सकते है, जिससे इंफेक्शन हो सकता है। 

ज़रूरी बात

सेक्स के दौरान पहली बार (या हर बार) किसी भी नैचुरल या घर में बने ल्यूब का इस्तेमाल करने से पहले पैच टेस्ट करके अपनी त्वचा और अपने पार्टनर की त्वचा पर उसकी प्रभावशीलता का टेस्ट करने की सलाह दी जाती है। अपने ल्यूब को संवेदनशील त्वचा वाले क्षेत्र जैसे कोहनी के अंदर लगाएं और कुछ घंटों के लिए छोड़ दें। यदि आपको कोई जलन महसूस नहीं होती है, तो इसे ल्यूब्रिकेंट के रूप में इस्तेमाल करना सुरक्षित है।

पेनिट्रेटिव सेक्स के दौरान लुब्रिकेंट्स का इस्तेमाल महिला और पुरुष को योनि में ड्राईनेस या गुदा क्षेत्र में जकड़न के कारण होने वाले दर्द को दूर कर मजेदार सेक्स के लिए किया जाता है। इसमें शामिल दोनों पार्टनर आराम से सेक्स का आनंद लेते हैं तो बेशक मजा बढ़ जाता है! इसलिए अगली बार जब सेक्स के दौरान दर्द हो, तो किचन में जाएं और ऊपर बताए गए ल्यूब का इस्तेमाल करें!

कोई सवाल? हमारे फेसबुक पेज पर लव मैटर्स (एलएम) के साथ उसे साझा करें या हमारे चर्चा मंच पर एलएम विशेषज्ञों से पूछें। हम Instagram, YouTube  और Twitter पे भी हैं!

क्या आप इस जानकारी को उपयोगी पाते हैं?

Comments
नई टिप्पणी जोड़ें

Comment

  • अनुमति रखने वाले HTML टैगस: <a href hreflang>