women friends
Love Matters India

लेस्बियन और द्विलैंगिक महिलाएं कैसे कर सकती हैं अपने यौन स्वास्थ्य की देखभाल

द्वारा Akshita Nagpal सितम्बर 9, 05:31 बजे
आमतौर पर यौन संबंध बनाने के दौरान यौन रोग और संक्रमण होने की संभावना सबसे अधिक होती है। इसलिए हम सभी को सेक्स करने के दौरान यौन रोगों से बचने के लिए पूरी सावधानी बरतनी चाहिए। हम यहां ख़ासतौर पर समलैंगिक और द्विलैंगिक जैसी महिलाओं जो दूसरी महिलाओं के साथ सेक्स करती हैं उनके यौन स्वास्थ्य के देखभाल के लिए कुछ महत्वपूर्ण तथ्यों के बारे में बता रहे हैं।

जरा संभलकर

यदि आप लेस्बियन या बाइसेक्शुअल हैं और आपको यह भी नहीं मालूम है कि आपकी पार्टनर को यौन संचारित बीमारी है या नहीं तो सेक्स या मुख मैथुन के दौरान योनि से निकलने वाले तरल और रक्त के संपर्क में ना आएं क्योंकि संक्रमण या बीमारी को फ़ैलाने में ये अहम भूमिका निभाते हैं। इसके लिए ओरल सेक्स करते समय डेंटल डैम्स का इस्तेमाल करें ,सेक्स खिलौनों को इस्तेमाल से पहले और बाद में अच्छे से धो लें और उसे किसी के साथ साझा ना करें। अगर आप बिना डेंटल डैम्स के ही ओरल सेक्स कर रही हैं तो यह ध्यान रखें कि आपके मुंह के अंदर कहीं कटा ना हो मतलब कि आपके मसूड़ों या दांतों से खून का रिसाव ना हो रहा हो।

नाखून काट लें

वैसे तो नाख़ून काटना साफ़ सफाई से जुड़ी एक आम बात है लेकिन सेक्स के दौरान अगर आप पार्टनर को उत्तेजित करने के लिए ऊँगलियों का प्रयोग कर रही हैं तो इन्हें काटना बहुत ज़रुरी हो जाता है। बड़े नाखून के कारण योनि की नाजुक परतों में घाव हो सकता है और योनि में संक्रमण होने का भी खतरा बना रहता है। कहीं ऐसा ना हो कि आपकी पार्टनर आनंद लेने के बजाय दर्द से चिल्लाने लगे... है ना? इसलिए बेहतर है कि आप सावधानी बरतें।

सीमाएं निर्धारित कर लें

अंतरंग पलों में उत्तेजना के लिए पार्टनर के साथ डिल्डो और वाइब्रेटर जैसे अपने सेक्स खिलौनों  को साझा करना सही तो है लेकिन कुछ बातों का ध्यान भी रखें। वैसे देखा जाए तो अपने पार्टनर के साथ सेक्स खिलौनें साझा करने ही नहीं चाहिए क्योंकि इससे आपके पार्टनर को संक्रमण हो सकता है। लेकिन यदि फिर भी आप शेयर करना चाहती हैं तो अपना सेक्स टॉय पार्टनर को देने से पहले उसे अच्छी तरह साबुन से साफ कर लें।

असामान्यता दिखाई देने पर डॉक्टर के पास जाएं

अपने यौन स्वास्थ्य के बारे में जानने का सबसे आसान तरीका यह है कि आप अपने शरीर पर नज़र रखें और उसे जानें, अर्थात अपनी योनि को स्पर्श करें और वहां किसी भी तरह के बदलाव को पहचानने की कोशिश करें। यदि आप नियमित रुप से अपनी योनि की देखभाल करेंगी तो किसी तरह की असामान्यता होने पर आपको तुरंत पता चल जाएगा, जैसे जांघों के बीच और योनि के आसपास फुंसी होना, योनि से तेज गंध आना या अलग रंग के तरल का स्राव होना इत्यादि। थोडा सा भी कुछ बदलाव नज़र आये तो नजदीकी स्त्री रोग विशेषज्ञ के पास जाकर जांच करवाएं।

अगर कोई समस्या नहीं भी है तो भी समय समय पर स्त्री रोग विशेषज्ञ के पास जाकर अपने यौन स्वास्थ्य की रुटीन जांच कराते रहें। हालांकि यह संभव हो सकता है कि आपको अपने यौन स्वास्थ्य से जुड़ी बातें डॉक्टर को बताने में शर्म या संकोच महसूस हो लेकिन डॉक्टर से अपनी परेशानी पूरी ईमानदारी से बताएं। यदि आपको लगता है कि डॉक्टर आपकी बातें ठीक से नहीं सुन रही है तो किसी दूसरे डॉक्टर के पास जाएं लेकिन अपने स्वास्थ्य से समझौता ना करें।

ये भी पढ़ें : समलैंगिक पुरुषों के यौन स्वास्थ्य के लिए सुझाव

*गोपनीयता बनाये रखने के लिए नाम बदल दिए गये हैं और तस्वीर में मॉडल का इस्तेमाल किया गया है।

क्या आपके पास मुख मैथुन से जुड़े कुछ सुझाव हैं? नीचे टिप्पणी करें या हमारे फेसबुक पेज लव मैटर्स (एलएम) से जुड़ेंI यदि आपके पास कोई विशिष्ट प्रश्न है, तो कृपया हमारे चर्चा मंच पर एलएम विशेषज्ञों से पूछें।

क्या आप इस जानकारी को उपयोगी पाते हैं?

Comments
Ab kya sthiti hai bete? Samanyataya periods 28 se 34 dino ke antral per ho sakte hai. Yadi yeh in dinon ke antral par na hokar har baar aniyamit hote hai toh is bare mein aap kisi vishesgya ya pnjikrit doctor se mill lijiye. Ise bhee padhiye: https://lovematters.in/hi/resource/menstrual-cycle https://lovematters.in/hi/our-bodies/my-periods-are-irregular-what-should-i-do Yadi aap is mudde par humse aur gehri charcha mein judna chahte hain to hamare discussion board “Just Poocho” mein zaroor shamil ho! https://lovematters.in/en/forum
नई टिप्पणी जोड़ें

Comment

  • अनुमति रखने वाले HTML टैगस: <a href hreflang>