sexual performance enhancers
Shutterstock/vchal

सेक्स क्षमता बढ़ाएं : पांच गूढ़ मन्त्र

द्वारा Stephanie Haase जनवरी 23, 12:51 बजे
क्या आप बिस्तर पर देर तक अपने पार्टनर का साथ ना दे पाने के कारण चिंतित हैं? यदि हां, तो दवाओं पर पैसा खर्च करने से पहले उनके आपके शरीर पर पड़ने वाले हानिकारक प्रभावों के बारे में भी विचार कर लें। इसके अलावा ये दवाएं आपकी जेब पर तो भारी पड़ती ही हैंI इस हफ्ते के संस्करण में हम आपको यौन क्षमता बेहतर बनाने से जुड़े पांच महत्वपूर्ण तथ्यों के बारे में बताने जा रहे हैं।
  1. ये क्या हैं?

    विभिन्न समस्याओं के आधार पर बाज़ार में यौन क्षमता बेहतर बनाने के लिए लाखों विकल्प मौज़ूद हैं। उत्तेजना ना होना, सेक्स की इच्छा में कमी, समय से पहले स्खलित होना जैसी विभिन्न सेक्स समस्याओं को दूर करने के लिए बाज़ार में दवा या सप्लीमेंट उपलब्ध है। सिल्डेनाफिल साइट्रेट नामक इस दवा को वियाग्रा के नाम से भी जाना जाता है और सेक्स से जुड़ी समस्याओं के इलाज़ में इसका व्यापक रूप से उपयोग किया जाता है। अगर इन दवाओं का सही तरीके से इस्तेमाल किया जाए तो इनमें से कुछ दवाएं सुरक्षित भी होती हैं।

    यौन क्षमता को सुधारने वाली ये दवाएं सभी प्रकार की सेक्स समस्याओं को ठीक कर देती हैं - इससे आप अधिक समय तक उत्तेजित रहते हैं और आपकी सेक्स करने की इच्छा भी बढ़ जाती है। इनमें से कुछ दवाएं महिला और पुरुष दोनों पर समान रूप से कार्य करती है और महिलाओं की योनि को सिकोड़ देती हैं जिसके कारण लगातार और तेज उत्तेजना का अनुभव होता है।
     
  2. हॉर्नी गोट वीड

    इनमें से अधिकतर दवाएं व्यक्ति के टेस्टोस्टेरोन के स्तर को प्राकृतिक रूप से बढ़ाने का काम करती हैं। टेस्टोस्टेरोन एक हार्मोन है जो सेक्स की इच्छा को बढ़ाता है। हालांकि रिसर्च से पता चलता है कि सिर्फ़ टेस्टोस्टेरोन ही सेक्स की इच्छा बढ़ाने के लिए पर्याप्त नहीं होता है।

    हॉर्नी गोट वीड जिसे रैंडी बीफ ग्रास के नाम से भी जाना जाता है टेस्टोस्टेरोन का स्तर बढ़ाने का दावा करता है, ठीक उसी तरह  जैसे कि अन्य जड़ी बूटियां और पशुओं से बने उत्पाद करते हैं।

    अश्वगंधा और इंडियन जिनसेंग जैसी अलग-अलग तरह की दवाएं व्यक्ति के तनाव को कम करने में मदद करती हैं। तनाव सेक्स की इच्छा में कमी और उत्तेजना संबंधी अन्य समस्याओं का मुख्य कारण होता है। इसलिए तनाव का स्तर कम होने पर व्यक्ति के यौन क्रिया पर सकारात्मक प्रभाव पड़ता है।

    इन दवाओं की प्रमाणिकता हमेशा बहस का मुद्दा रहा है इसलिए दवा की बोतल के पीछे या दवा से संबंधित अखबारों के विज्ञापन में किए गए दावों पर भरोसा नहीं करना चाहिए।
     
  3. सुरक्षा

    यौन क्षमता बढ़ाने के उपायों को अपनाने का सिर्फ़ एक नुकसान यह होता है कि अंततः आपकी जेब खाली हो जाती है। कुछ दवाएं आपको चिड़चिड़ा बना देती हैं और घबराहट महसूस हो सकती है जब कि अन्य दवाएं आपके सेहत पर गंभीर प्रभाव डालती हैं। इसलिए यदि आपको सेक्स से संबंधित समस्या है तो अपनी मर्जी से ऑनलाइन दवाएं मंगाने की बज़ाय आपको डॉक्टर से सलाह लेनी चाहिए।

    वियाग्रा जैसी दवाएं सुरक्षित होती हैं। इसका मतलब यह नहीं है कि जब आपको सेक्स से संबंधित समस्या हो तो आप इस दवा का सेवन करें। बिस्तर पर अपनी यौन क्षमता को बेहतर बनाने के लिए लगभग 20 प्रतिशत पुरुष वियाग्रा का सेवन करते हैं। लेकिन इस बात का कोई सबूत नहीं है कि यह दवा काम करेगी ही। इसके सेवन से आपको सिरदर्द, डायरिया और यहां तक कि अचानक हृदय से जुड़ी समस्याएं भी हो सकती हैं और शारीरिक संबंध बनाने के दौरान ही बीच में उठकर आपको बाथरूम जाना पड़ सकता है।
     
  4. शार्क, गैंडे और सुअर के अंडकोष

    हम इन्हें यौन क्षमता बढ़ाने वाली दवाओं के नाम से जानते हैं लेकिन वास्तव में इनमें से अधिकांश सप्लीमेंट होती हैं और इनके नाम के कारण इनमें अंतर होता है। नियम के अनुसार पहले इन दवाओं का लंबे समय तक गहन परीक्षण किया जाता है कि वे सुरक्षित हैं या नहीं, तभी इन्हें बाजार में लाने की इजाजत दी  जाती है।

    हालांकि सप्लीमेंट बनाने की प्रक्रिया प्रत्येक देश में अलग अलग होती है। आमतौर पर निर्माताओं को उत्पाद और सामग्री को प्राधिकरण से पंजीकृत करना होता है लेकिन इसका अर्थ यह नहीं है कि सप्लीमेंट पूरी तरह सुरक्षित है। इसलिए जब तक डॉक्टर आपको सलाह ना दें इन सप्लीमेंट का इस्तेमाल ना करें।

    यह भी ध्यान रहे कि कुछ सप्लीमेंट गैंडे के सींघ या अन्य पदार्थ होने का दावा करते हैं जिससे लुप्तप्राय जानवरों के शिकार को बढ़ावा मिलता है और जानवर विलुप्त होने की कगार पर पहुंच जाते हैं। इस बात का कोई सबूत नहीं है कि गैंडे का सींघ या शार्क मछली के पर, यौन क्षमता को बढ़ाने का कार्य करते है। क्या आप हाथी के टेस्टिकिल से बने दवाओं का सेवन कर सकते हैं?
     
  5. फीमेल वियाग्रा

    यौन क्षमता बढ़ाने की दवाएं सिर्फ पुरुषों के लिए ही नहीं होती हैं। हाल ही में महिलाओं में सेक्स की इच्छा की कमी पर एक नई दवा का परीक्षण किया जा रहा है। इसे फीमेल वियाग्रा नाम दिया गया है जो महिलाओं के शरीर और दिमाग़ दोनों के लिए उपयोगी है। दुनियाभर में लगभग 50 प्रतिशत महिलाएं सेक्स की इच्छा को तीव्र करना चाहती हैं। इसलिए यह दवा का बाजार व्यापक हो सकता है।

    पुरुषों के वर्जन के विपरीत, फीमेल वियाग्रा मस्तिष्क को सेक्स के लिए सोचने पर मजबूर कर देता है। लेकिन देखा गया है कि महिलाएं अक्सर अपने रिश्तों में समस्या के कारण सेक्स की इच्छा में कमी का शिकार होती हैं, इसलिए यह सवाल बना हुआ है कि क्या दवाओं से पैदा की गई नकली अंतरंगता रिश्तों में कमी की भरपायी कर पाएगी।




 

क्या आप इस जानकारी को उपयोगी पाते हैं?

Comments
नई टिप्पणी जोड़ें

Comment

  • अनुमति रखने वाले HTML टैगस: <a href hreflang>