MSM
Shutterstock/Emotions studio

पुरुषों के साथ सेक्स करने वाले पुरुषों को इन 5 बातों का ध्यान रखना चाहिए

द्वारा Aastha Parivaar दिसंबर 27, 05:16 बजे
एक पुरुष जब दूसरे पुरुष (MSM) के साथ यौन संबंध बनाता है, तो उसे अन्य स्वास्थ्य समस्याओं के साथ यौन संचारित संक्रमण (एसटीआई) और एचआईवी होने का खतरा अधिक होता है। इस संबंध में आस्था परिवार के कुमार शेट्टी सेक्स, सुरक्षा और उससे जुड़े आनंद के बारे में जरूरी बातें शेयर कर रहे हैं।

कुमार शेट्टी ने अपने करियर का एक लंबा समय यौनकर्मियों, LGBTQI+ और पुरुष के साथ यौन संबंध रखने वाले पुरुषों के समुदायों के साथ बिताया है।

सेक्स, सुरक्षा और आनंद के बारे में बात करते समय पांच सबसे बेसिक, लेकिन बहुत जरूरी बातों पर ध्यान दें।

अजनबी, बेहतर है?

कैज़ुअल सेक्स और अजनबी पार्टनर खतरनाक हो सकता है लेकिन यह एक आम सेक्सुअल बिहेवियर है।  मैंने कई लोगों के साथ बातचीत की है, जो किसी अजनबी के साथ अपनी मर्जी से यौन संबंध बनाना पसंद करते हैं, क्योंकि लोग अजनबी के साथ सेक्स के अनुभव को बेहतर मानते हैं। यह समझ में आता है कि हममें से कुछ लोग अपने स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं/एचआईवी आदि के बारे में बात करने में सहज क्यों नहीं होते हैं। 

हमारा अधिकांश समुदाय स्वास्थ्य को लेकर सीधे भेदभाव और बहिष्कार का सामना करता है। इसलिए, जब किसी को एक मजेदार पार्टनर मिल गया हो तो वह अपनी स्वास्थ्य समस्याओं के बारे में दूसरे को बताकर अपने प्रति भेदभाव का सामना क्यों करे? चूंकि हर चमकती चीज सोना नहीं होती है और जो बाहर से अच्छा लगता है, जरूरी नहीं है कि वह अंदर से भी अच्छा ही हो। 

यदि आप ऑनलाइन पार्टनर ढूंढते हैं या किसी अजनबी के साथ अपनी इच्छा से यौन संबंध बनाते हैं, तो आपको यौन संचारित संक्रमण (एसटीआई) और एचआईवी होने का अधिक खतरा हो सकता है। इस तरह की स्थिति में, यौन क्रिया में शामिल व्यक्तियों को एक-दूसरे की एचआईवी / एसटीआई स्थिति के बारे में पता होना चाहिए- जैसे कि सुरक्षित यौन संबंध (कंडोम का इस्तेमाल करना) और स्वच्छ यौन आदतें (सेक्स के बाद जननांगों को धोना) यह आपकी पहली प्राथमिकता होनी चाहिए।

क्या आप एचआईवी पॉजिटिव हैं?

यूएस सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन (सीडीसी) के अनुसार, MSM में एचआईवी संक्रमण सहित एसटीआई (वायरल और बैक्टीरियल) होने का खतरा अधिक होता है। आपको साल में कम से कम एक बार यौन संचारित संक्रमण का पता करने के लिए जांच करवानी चाहिए और अगर खतरे की संभावना अधिक लगे तो कई बार जांच करवाएं।

कुछ सामान्य एसटीआई/एचआईवी टेस्टों के अलावा, जिसे कई पार्टनर के साथ संबंध रखने वालों को कराना चाहिए, पुरुष के पुरुष के साथ वाले यौन संबंध (MSM) में अधिक स्वास्थ्य समस्याएं हो सकती हैं और इसलिए अधिक क्लिनिकल अटेंशन की जरूरत होती है।  एचआईवी की स्थिति जानकर यौन चिंता के स्तर को काफी हद तक कम किया जा सकता है और आपको सुरक्षित यौन क्रिया में  मदद मिल सकती है। 

एआरटी (एंटीरेट्रोवायरल थेरेपी) और पीआरईपी (प्री-एक्सपोज़र प्रोफिलैक्सिस) जैसी थेरेपी से जुड़ी दवाएं हैं जो एचआईवी को आपके शरीर में फैलने से रोकती हैं और सेक्स के दौरान आनंद को बरकरार रखती हैं।

क्या आपका पार्टनर एचआईवी पॉजिटिव है?

किसी व्यक्ति से सहजता से बात करना उस समय ज्यादा कठिन होता है जब वह अपनी एचआईवी स्थिति के बारे में नहीं बताता है और बिना जांच कराए ही वह मान लेता है कि वह एचआईवी निगेटिव है। चूंकि एचआईवी और एसटीआई ट्रांसमिशन ऐसे ही नहीं हो जाते, इसलिए पार्टनर (पत्नियों सहित पुरुष और महिला दोनों पार्टनर) को एचआईवी और एसटीआई के लिए टेस्ट करवाने चाहिए।

खासतौर पर पुरुष के पुरुष के साथ यौन संबंध में जहाँ एचआईवी/एसटीआई की स्थिति मालूम नहीं रहती है वहां खतरा और अधिक होता है। यहां तक ​​कि कैजुअल सेक्स और वन-नाइट स्टैंड-एक मिनट की बातचीत भी आपके पार्टनर की स्थिति का निर्धारण कर सकती है और सुरक्षा और आनंद में बहुत अंतर ला सकती है। यदि आपको एचआईवी नहीं है, लेकिन पार्टनर द्वारा संक्रमित होने का खतरा है, तो पीआरईपी (PrEP) लेना प्रभावी होता है।

क्या आप PrEP के लिए तैयार हैं?

यदि आप एचआईवी के बारे में जानते हैं, तो इस बात की संभावना है कि आप पीआरईपी या प्री-एक्सपोजर प्रोफिलैक्सिस के बारे में भी जानते हैं। पीआरईपी एक सुरक्षात्मक दवा (preventive drug) है जो एचआईवी के जोखिम वाले लोगों के लिए है। चूंकि MSM में कई या अनजान सेक्स पार्टनर, अपनी इच्छा से संबंध बनाने और अन्य यौन कमजोरियों के कारण एचआईवी के संपर्क में आने का खतरा अधिक होता है, इसलिए लगातार कंडोम का इस्तेमाल करने के साथ वायरस के खिलाफ पीआरईपी की प्रभावशीलता इसे सबसे सुरक्षित विकल्प बनाती है।

आप अपने डॉक्टर से पीआरईपी के बारे में अधिक जानकारी ले सकते हैं और आप और आपका पार्टनर (जहां आप में से कोई भी एचआईवी पॉजिटिव हो सकता है) सेक्स के दौरान बेहतर आनंद के लिए डॉक्टर द्वारा बताए सुरक्षित यौन आदतों को आजमा सकते हैं।

आपस में संवाद करें!

अगर आपने इन चीजों के बारे में पहले से नहीं सोचा है तो पार्टनर से संवाद करना बेहतर विकल्प है। जब आप जानते हैं कि आपके विकल्प सीमित हैं, तो अधिक जोखिम वाले समूह से संबंधित होना किसी के भी मानसिक स्वास्थ्य के लिए हानिकारक हो सकता है।

हालांकि, क्या इसका मतलब यह है कि आपको सेक्स का आनंद लेने का अधिकार नहीं है? बिलकुल नहीं! बल्कि अपने पार्टनर से सुरक्षित यौन संबंध, यौन आदतों और एचआईवी/एसटीआई स्थिति के बारे में बात करने से आपकी चिंता काफी कम हो जाएगी और आप अधिक आनंद ले सकेंगे। सुरक्षा कारकों के लिए मनोवैज्ञानिक बाधाओं को कम करने की दिशा में कदम उठाना एक खुशहाल यौन जीवन की कुंजी है।

आस्था परिवार यौनकर्मियों का एक संघ है जो विभिन्न पृष्ठभूमि, लिंग और उम्र के लोगों को सुरक्षित यौन संबंध के बारे में शिक्षित करता है। लव मैटर्स इंडिया और आस्था परिवार दिसंबर में एचआईवी/एड्स के बारे में जागरूकता बढ़ाने के लिए एकजुट हैं, जो एचआईवी/एड्स जागरूकता माह भी है। आस्था परिवार और लव मैटर्स सुरक्षित यौन आदतों को बढ़ावा देने के लिए प्रतिबद्ध हैं।

क्या आप एसटीडी/एसटीआई/एचआईवी या सुरक्षित यौन संबंध से जुड़ा कोई सवाल पूछना चाहते हैं?अपने सवालों के जवाब पाने के लिए हमारे चर्चा मंच में शामिल हों या फेसबुक के जरिए हमसे जुड़ें।

 

क्या आप इस जानकारी को उपयोगी पाते हैं?

Comments
नई टिप्पणी जोड़ें

Comment

  • अनुमति रखने वाले HTML टैगस: <a href hreflang>