Hymen Reconstruction Surgery
Shutterstock/Creativa Images

क्या हाईमन पुनर्निर्माण के लिए सर्जरी करवानी चाहिए?

द्वारा Harish P जनवरी 22, 04:01 बजे
बहुत सी संस्कृतियों में हाईमन के फटने को कौमार्यता के साथ जोड़ा जाता है और शायद यही वजह है कि अक्सर महिलाएं हाईमन पुनर्निर्माण सर्जरी (हाइम्नोग्राफी) करवाने के बारे में गंभीरता से विचार करती हैंI लेकिन क्या इससे सच मैं आप अपना कौमार्य दोबारा पा सकते हैं?
इससे आप दोबारा 'वर्जिन' नहीं बन जाएंगी

सर्जरी से उस महिला का हाईमन दोबारा सिल तो दिया जाएगा लेकिन फ़िर भी इससे यह सुनिश्चित नहीं होगा कि वो जब अगली बार सम्भोग करेगी तो उसकी योनि से ख़ून निकलेगाI वैसे तो यह मानसिकता कि जब भी कोई महिला पहली बार सेक्स करती है तो उसका ख़ून निकलता है, अपने आप में ही एक गलत धारणा हैI

आम धारणा तो यही है कि जो जिन महिलाओं का हाईमन बरकरार है वो वर्जिन हैंI जबकि सच यह है कि पहली बार सेक्स के दौरान लगभग आधी से ज़्यादा महिलाओं की योनि से खून नहीं आताI इसका यह मतलब नहीं निकाला जा सकता कि उनका कौमार्या भंग हो चुका है क्यूंकि सेक्स के अलावा ऐसी कई और वजह हैं जो हाईमन के टूटने का कारण हो सकती हैंI जैसे व्यायाम, खेल कूद, कोई चोट, यहाँ तक कि कई बार टैम्पोन के इस्तेमाल से भी हाईमन टूट सकता हैI तो इसलिए यह सुनने में ही हास्यप्रद लगता है कि हमारे समाज में हाईमन को लेकर इतना हो-हल्ला किया जाता है जबकि वास्तव में हाईमन के होने या ना होने से इस बात का कोई सम्बन्ध नहीं है कि वो महिला वर्जिन है या नहींI।

इससे आपके स्वास्थ्य को कोई फ़ायदा नहीं होता

वैसे तो महिलाओं का यह सर्जरी करवाने का एकमात्र उद्देश्य अपनी 'खोई विर्जिनिटी' को वापस पाना होता है लेकिन अगर उन्हें लगता है कि इसके कुछ और फ़ायदे भी होंगे तो उनका यह सोचना गलत हैI देखा जाए तो यह केवल एक प्रक्रिया है जिसमे हाईमन को दोबारा सिल कर उसे कस दिया जाता हैI

इस सर्जरी से शरीर को कोई भी लाभ नहीं पहुंचता हैI परिशिष्ट (अपेंडिक्स) की तरह ही एक हाईमन का महिला के स्वास्थ्य पर कोई प्रभाव नहीं पड़ताI

विकल्प मौजूद हैं

ऐसा भी नहीं है कि सेक्स के दौरान खून निकलवाने का एकमात्र तरीका हाईमन का पुनर्निर्माण ही हैI बाज़ार में ऐसी गोलियां भी उपलब्द्ध हैं जो रक्तस्राव में मदद करती हैं। लेकिन ज़रा सोचिये कि क्या आप इसलिए गोली खाएंगी कि आपका खून निकले? आमतौर पर लोग खून रोकने के लिए गोलियां खाते हैंI यह हमें एक महत्त्वपूर्ण बात भी बताता है - अगर हम कुछ वैज्ञानिक तथ्यों पर गौर करें तो उससे हमारी सोच में बदलाव आ सकता हैI शायद अपनी सोच में बदलाव लाना सर्जरी से बेहतर विकल्प होगा! हाईमन के बारे में सोचने से अच्छा यह होगा कि हम लोगों को यह एहसास हो कि कौमार्यता को इतना गंभीरता से लेना ठीक नहीं है क्यूंकि इससे किसी के भी सेक्स जीवन पर कोई असर नहीं पड़ताI ना तो यह कामुक सुख को बढ़ाता है और ना ही इससे उसमे कोई कमी होती हैI तो हम लोगों को यह निर्णय एक महिला पर ही छोड़ देना चाहिए कि वो अपने शरीर के साथ क्या करना चाहती हैI

इससे जटिलताएं उत्पन्न हो सकती हैं

वैसे तो इस सर्जरी के अधिकतर साइड इफेक्ट्स जैसे संभावित संक्रमण, दर्द या जलन होना अल्पकालिक होते हैं और समय के साथ ठीक हो जाते हैं लेकिन कुछ दुर्लभ मामलों में, योनि छेद पतला होने जैसी दीर्घकालिक जटिलताएं हो जाती हैं जिस वजह से भविष्य में सेक्स करना बेहद मुश्किल या लगभग असंभव भी हो सकता हैI

यह हर जगह वैध नहीं है

दुनिया के कई हिस्सों में हाईमन पुनर्निर्माण सर्जरी गैर-कानूनी हैंI हालांकि आप इसे भारत में करवा सकते हैं लेकिन मध्य पूर्व और खाड़ी के कई देशों में यह प्रतिबंधित हैं। विडंबना देखिये, यह वही देश हैं जहाँ पहली बार सेक्स के दौरान एक महिला का रक्तस्राव दूसरी संस्कृतियों की तुलना में कहीं अधिक महत्वपूर्ण माना जाता है। अगर इसके कानूनी पहलु को नज़रअंदाज़ भी कर दिया जाए तो भी हर कोई इसे नैतिक रूप से भी सही नहीं मानताI

क्या आपके पास कौमार्य पर कोई सवाल है? हमारे फेसबुक पेज पर लव मैटर्स से पूछें या कृपया हमारे चर्चा मंच पर जाएं।

क्या आप इस जानकारी को उपयोगी पाते हैं?

Comments
नई टिप्पणी जोड़ें

Comment

  • अनुमति रखने वाले HTML टैगस: <a href hreflang>