Auntyji
Love Matters

मैंने अपने माता पिता को सेक्स करते हुए देख लिया!

द्वारा Auntyji जून 26, 11:23 पूर्वान्ह
मेरे साथ एक अजीब घटना हो गयी। मैं आज थोडा जल्दी घर आ गया और मैंने अपने माँ- बाप को सेक्स करते देख लिया! हे भगवान! क्या हो गया है इन्हें? इन्हें सोचना चाहिए कि इनकी इतनी उम्र हो गयी है।

कब बंद करेंगे ये? मैं उन्हें अब सामान्य रूप से देख ही नहीं पा रहा हूँ। सलमान (20) मुम्बई।

आंटी जी कहती हैं...हाहाहाहा! माफ़ करना बेटाजी, हंसी नहीं रुक पायी। सिर्फ तू ही नहीं पुत्तर, पर सारे युवा बच्चे लोगों को यह सोच कर झटका लगता है! "मेरे माता-पिता? सेक्स? हे भगवान, ऐसा नहीं हो सकता!" सच यह है कि ऐसा हुआ है और होता रहता है।

इंसान

मैं तेरा नजरिया समझ सकती हूँ क्यूंकि हम कभी अपने माता - पिता को इस तरह से देखते ही नहीं। उनका काम हमें पालना, घर की देखरेख करना, खाना बनाना और घर में अनुशासन रखना होता है, है ना? अगर सोचना भी चाहें तो दिमाग यही कहता है कि "उन्होंने तो सिर्फ ज़िन्दगी में 2 बार ही सेक्स किया होगा, एक बार जब मैं पैदा हुआ और दूसरी बार जब मेरी बहन!"

बिलकुल गलत वीरे! इन्होंने साल दर साल सेक्स किया है लेकिन तुम केवल दो ही हो। मम्मी पापा भी दो प्यार करने वाले लोग हैं, जैसे तू और तेरी गर्लफ्रेंड हैं। सच का सामना हुआ है तुझे पुत्तर, पैदा होने के 20 साल बाद!

पुराने प्रेमी

देख बेटा, युवा माता-पिता के लिए जवानी के दिन थोड़े मुश्किल होते हैं क्योंकि उन पर हर समय तुम्हारी ज़िम्मेदारी रहती है। जब उम्र बढ़ती है तो वो थोडा आराम महसूस करते हैं, एक दूसरे के शरीर को पहले से बेहतर समझ पाते हैं - और आखिरकार जब वो इस पल का लुत्फ़ उठाने की अवस्था में पहुँचते हैं तो ऐसे में तुम बीच में आ जाते हो - उनके सेक्स के खिलाफ शिकायत लेकर।

ये तो अच्छी बात नहीं है, है ना? सिर्फ इसलिए कि उनकी उम्र ज्यादा है और वो तुम्हारी ज़िन्दगी में ऐसी भूमिका निभाते हैं जो सेक्स से कोसों दूर हैI हम कहीं न कहीं ये बात भूल जाते हैं कि वो भी इंसान हैं, उनके भी अधिकार हैं और इच्छाएं भी।

इसलिए सलमान पुत्तर, तेरे लिए तेरी अम्मी तेरी अम्मी ही रहेंगी और अब्बा हुज़ूर अब्बा हुज़ूर ही, लेकि"भारत में सेक्स और शादी को अलग नहीं किया जा सकता"न एक दूसरे के लिए तो वो वो हीरो- हीरोइन हैं। पढ़िए: बढ़ती उम्र के साथ सेक्स बेहतर

प्यार या नफरत?

अब जब तुझे सब पता चल गया है तो बेहतर है कि तू इसे स्वीकार ले और भूल जाये। अच्छी बात ये है कि तेरे माँ- बाप एक दुसरे में काफी मशगूल हैं। हाहाहा, गलत मत समझ बेटा, मेरा कहने का मतलब है कि वो एक दुसरे से काफी प्यार करते हैं। सेक्स प्यार और अंतरंगता का एक हिस्सा है।

तू क्या चाहेगा कि उनमें प्यार की जगह नफरत हो एक दुसरे के लिए? अगर प्यार की जगह तू उन्हें बेडरूम में एक दूसरे से झगड़ते देखेगा तो क्या तुझे बेहतर लगेगा?

युवा माता पिता अक्सर अपने सेक्स जीवन के साथ समझौता करते हैं जब उनके बच्चे बड़े हो रहे होते हैं, ताकि वो 'कुछ' देख न लें। और सच यह है की माता पिता क़ुरबानी देते हैं और बच्चों को जो देखना होता है वो कहीं न कहीं देख ही लेते हैं।

पुराने खिलाड़ी

कभी-कभी तुम युवा लोग मुझे कंफ्यूज कर देते हो। खुद के लिए तो तुम्हे रोमांच चाहिए, ज़रूरतें, ख्वाहिशें अंतरंगता इत्यादि। लेकिन अगर कोई 30 के पार हो गया तो तुम्हारे हिसाब से उसे सेक्स को अलविदा कह देना चाहिए। क्यों भाई? क्या तू पिता बनने के बाद सेक्स करना बंद कर देगा सलमान बेटा? नहीं ना, तो अपने माँ- बाप पर क्यों गाज गिरा रहा है?

मुद्दे की बात ये है कि जैसे तू उनसे उम्मीद रखता है कि वो तेरी व्यक्तिगत्ता का सम्मान करें, तुझे भी वैसा ही सम्मान उन्हें देना चाहिए। जो तूने देखा वो व्यक्तिगत था।

अगर तू किसी भी तरह की हिंसा, झगड़ा या दुर्व्यवहार देखता है तो हम तुझसे उम्मीद करते हैं कि तू उसके खिलाफ खड़ा होगा। इसी तरह अगर तू दो प्यार करने वालों के बीच अंतरंगता देखता है तो तुझे उनके लिए खुश होना चाहिए।

क्या आप भी ऐसी परिस्थिति का अनुभव कर चुके हैं? अपनी राय यहाँ लिखिए या फेसबुक पर बताइये।

क्या आप इस जानकारी को उपयोगी पाते हैं?

Comments
नई टिप्पणी जोड़ें

Comment

  • अनुमति रखने वाले HTML टैगस: <a href hreflang>