Aunty Ji
Love Matters India

मैं औरतों की तरह कपड़े पहनना चाहता हूँ, क्या मैं गे हूं?

द्वारा Auntyji जून 18, 03:23 बजे
नमस्ते आंटी जी, जब मैं अकेला होता हूं तो मेरा मन करता है कि मैं महिलाओं की तरह कपड़े पहनूं और मेकअप करुंI क्या इसका अर्थ है कि मैं समलैंगिक हूं? समीर, 21, पटना

आंटी जी कहती हैं, 'तो बेटा समीर, तुझे शृंगार करना अच्छा लगता हैI बड़ी अच्छी बात है, तेरी आंटी जी को भी बड़ा अच्छा लगता है! अब इस वाट पर प्रकाश डालते हैं कि क्या इसका मतलब यह है कि आप समलैंगिक हैं।'

इसका अर्थ यह नहीं है

तो पहले ही साफ़ कर देती हूँ - नहीं, इससे आपकी यौन पहचान नहीं पता चलती - यानी कि, नहीं इससे यह कहना मुश्किल है कि आप समलैंगिक हैं या बनना चाहते हैं।

बेटा, समलैंगिक या लेस्बियन (या समलैंगिकता) यौन अभिविन्यास का मामला है - यही वो एहसास है जो आपको किसी की और यौनिक या रोमांटिक रूप से आकर्षित होने पर होता हैI एक व्यक्ति समलैंगिक (समलैंगिक या समलैंगिक) तब होता है जब वो उसी लिंग के व्यक्ति की ओर आकर्षित होता हैI और केवल वे ही खुद ही ऐसी भावनाओं पर निर्णय ले सकते हैं और एक विशेष लैंगिकता के लिए अपनी अभिमुखता को जोड़ सकते हैं। कोई और उनके लिए यह नहीं कर सकता है। इसके अलावा, कौन कैसे कपड़े पहनता है, इसका उनके यौन अभिविन्यास से कोई सम्बन्ध नहीं हैI

ऐसे कई महिला और पुरुष हैं जिन्हे विपरीत लिंग के कपड़े पेहनना अच्छा लगता है और इसमें कुछ भी गलत नहीं हैI बहुत से लोग कई कारणों से अलग तरह से कपड़े पहनते हैं और श्रृंगार करते हैंI लेकिन अफ़सोस इस बात का है कि ट्रांस्टेसिज्म (क्रॉसड्रेसिंग) से कई मिथक जुड़े हैं और इन्ही में से एक मिथक को समीर बेटा आज तू सामने लाये होI

क्या आप जानते हैं कि कई विषमलैंगिक (सीधे) पुरुष भी ड्रेस अप करते हैं और इसका मतलब यह नहीं है कि वे भी 'समलैंगिक बनने' के लिए तैयार हैंI लेकिन ऐसे कई समलैंगिक पुरुष भी ड्रेस अप करते हैं, श्रृंगार पहनते हैं और यह उनकी अपनी पहचान की अभिव्यक्ति है और यह भी ठीक है। समस्या यह है कि अकसर इन दोनों को, लिंग पहचान और यौन अभिविन्यास, को एक जैसा मान लिया जाता है जो भ्रम पैदा करता हैI जैसा कि तुम्हारे साथ हो रहा हैI

जो मन आये पहनो

तो अपवादक और वो लोग जो पुरुषों और महिलाओं को ही जोड़ो के रूप में देखते हैं, वही अकसर यह पूछते हैं - 'अच्छा, अगर समलैंगिक नहीं हो तो क्यों लिपस्टिक, क्यों ऐसी वेशभूषा?' अरे! ये क्या बात हुई

हमारे समाज में कई क्रॉस ड्रेसर हैं जो इस रूढ़िवादी सोच को चुनौती देते हैं कि पुरुष क्यों महिला वस्त्र नहीं पहन सकतेI वे जो वे चाहते हैं पहनते हैंI मतलब कि आज समीर लड़कियों की तरह पोशाक या लिपस्टिक पहनना चाहता है, तो शायद वो इसलिए करना चाहता है क्यूंकि उसके लिए यह फैशनेबल

और साहसिक हैI या हो सकता है कि उसका मन थोड़ा शरारत के मूड में हैI यह भी हो सकता है कि ऐसे कपड़े पहनने से वो सेक्सी और रोमांचक महसूस करता हैI क्या इसका यह मतलब है कि प्रलय आने वाली है? नहीं, बिल्कुल नहींI क्या सभी समलैंगिक पुरुष 'स्त्री' पोशाक पहनना चाहते हैं और श्रृंगार करना चाहते हैं? बिलकुल नहीं। लोग वो पहनते हैं और करते हैं जो वो आराम से सहजता से कर सकें और जिसे पहन कर उन्हें खुश, सेक्सी और आरामदायक महसूस होI इसका उनके यौन अभिविन्यास के साथ कुछ सम्बन्ध नहीं हैI इसी तरह के मिथक समलैंगिक महिलाओं को भी घेरते हैं, कि वे अक्सर 'मर्दाना' कपड़े पहनती हैंI मैं तो यही कहूंगी पुत्तर कि यह सब बकवास है और इनको एक कान से सुनकर दूसरे से निकाल दिया करI

इस फिल्म में कोई हीरो नहीं है

अब आती है बात हमारे समाज कीI इसके लिए तो पुत्तर तुझे खुद ही अपने आपको तैयार करना पड़ेगा! यह करना आसान नहीं होगा क्यूंकि हमारे आसपास ऐसे ज़्यादा बहादुर नहीं हैं जो क्रॉसड्रेसिंग में विश्वास रखते हैं और जो हैं वे सच में समलैंगिक ही हैंI इसलिए जनता भ्रमित हो जाती है और उनकी रूढ़िवादी सोच मजबूत हो जाती हैं।

एक बात बताओ - मुझे कभी भी कोई ऐसा नहीं मिलता जो पैंट या जूते पहनने वाली महिलाओं के बारे में परेशान हो रहा होI बल्कि उसके विपरीत उसे तो एक पूरे फैशन उत्सव की तरह देखा जाता हैI लडकियां शर्ट पहन सकती हैं लेकिन लड़के ड्रेस नहीं पहन सकतेI हमारे राजा महाराजा तो आभूषणों से लाडे घुमते थी, काजल और लाली लगाते थेI अपने होंठ रंगते थे, लम्बी पोशाकें पहनते थे, चूड़ीदार पहनते थेI तब तो कोई नहीं कहता था कि हमारा राजा हिजड़ा है!

कमर कस ले

आप जो पहनना चाहते हैं पहने लेकिन समाज की फब्तियां झलने के लिए भी तैयार हो जाएँ क्यूंकि हमर समाज और उसमे रहने वाले लोगों की सोच अभी इतनी विकसित नहीं हुई है कि वे ट्रांसस्केस्टिविम या क्रॉस ड्रेसर्स का स्वागत बिना उनपर समलैंगिकता का ठप्पा लगाए कर सकेंI यह मुद्दा सभी के लिए कठिन हो सकता हैI वैसे आप इसे निजी भी रख सकते हैं और अकेले में इसका आनंद उठा सकते हैंI यह आपकी पसंद का मामला है - वो पोशाक पहनें जो आप चाहें, लेकिन किसी को भी आपके यौन अभिविन्यास के लिए ठप्पा ना लगाने दें, खुद को भी नहींI

नाम बदल दिए गए हैं, यह आर्टिकल पहली बार 15 नवंबर, 2018 को पब्लिश हुआ था।  

तस्वीर के लिए एक मॉडल का इस्तेमाल किया गया है

क्या आपको लगता है कि किसी व्यक्ति की वेशभूषा उसका यौन अभिविन्यास निर्धारित करती है? इस पृष्ठ के टिप्पणी अनुभाग में या हमारे फेसबुक पेज पर जाकर अपने विचार हमसे साझा करेंI अगर आपके पास कोई विशिष्ट प्रश्न है, तो कृपया हमारे चर्चा मंच का हिस्सा बनेंI

क्या आप इस जानकारी को उपयोगी पाते हैं?

Comments
Relax, Solanki beta. Jaldi viryapaat hone se koi baat nahin, don’t worry. Toh sabse pehle toh apni partner ki body ko samjh lo- usko time de do. Aur yadi shareer mein uttejna adhik ho, sex ki bhavna zyada hogi toh sheegra hi patan hone ki sambhavna bhi adhik ho sakti hai. Aisi stithi mein, partner par focus badhana, foreplay, yaani bete ki pravesh karne se pehle bahut se alag alag kriyaen karna , jinse dono ko anand mile, apne partner ki uttejna badhana, yeh sab activities sabse zaroori hain. Iske ilava, partner ke saath sex karne se pehle, ek baar hast maithun kar saktey hain, utne samay pehle jitne mein ling mein tanaav aa jaaye. Condom ka istemaal bhi jaldi discharge kum karne mein madadgaar saabit ho sakta hai. https://lovematters.in/hi/news/premature-ejaculation-top-five-facts Yadi aap is mudde par humse aur gehri charcha mein judna chahte hain toh hamare discussion board “Just Poocho” mein zaroor shamil hon! https://lovematters.in/en/forum
अन्याय है लडको के साथ, लेगीगंस,हेरबेड , हेडबेग जेड्स भी आते है पर लडकीया यूज करने लग जाती हैं । ओर फिर वो एक फेमिनी आइटम बन कर रह जाता है लडकीया जब जींस,शट्,पैट,पहनती है तो कोई उनको लेसबिअन नही कहता पर लडका पिंक कलर से ही गे हो जाता है। लडकीया अपने पसंद के कपडे पहन सकती है पर लडके नही, बहोत दूख होता है मुझे क्योकि मेरा मन भी करता है ओर कई लोग चाहते हूए भी नही पहन सकते
Ritik beta aisa hona bohot hi common hai par hum aapki ismein koi sahayata nahi kar saktay! Lekin aap hastmethun try kar saktay hain kyunki Hastmaithun ek safe /surakshit tareek ahai apni santushti karne ka. https://lovematters.in/hi/resource/men-masturbating Yadi aap is mudde par humse aur gehri charcha mein judna chahte hain to hamare discussion board “Just Poocho” mein zaroor shamil ho! https://lovematters.in/en/forum
Theek hai beta – lekin baat yeh hai ki samaaj aur logon ke liye yeh abhi bhi bahut adbhut hai – bahut hee alag hai!! So aapko apne samaaj aur mahool ko bhi dekhna hai – koi bhi kadam uthane se pehle. Behraal beta- aapko apne aap ko swath aur safe rakhn ahai – kisi ke behkaave mein nahin aa jaana hai – theek hai? Yadi aap is mudde par humse aur gehri charcha mein judna chahte hain to hamare discussion board “Just Poocho” mein zaroor shamil ho! https://lovematters.in/en/forum
बेटा इसमे कोई बड़ी या बुरी बात नहीं हैं. यदि इस मुद्दे पर आप और गहरी चर्चा में जुड़ना चाहते हैं, तो हमारे डिस्कशन बोर्ड, " जस्ट पूछो" में .हों शामिल ज़रूर https://lovematters.in/en/forum
Mujhe Surat ki Tarah sajna savarna Pasand hai, akele me ladkiyo ki dress panta hoon, bra pahanta hoon, lekin Mera Dil karta hai ki ladkiyon ke dress pahan kar Ghar se Nagar ghoomne jaoo. Lekin ek Baar Der Raat ko ghoomne nikli to kaee log piche par Gaye. Kya Karoo.
Theek hai beta – lekin baat yeh hai ki samaaj aur logon ke liye yeh abhi bhi bahut adbhut hai – bahut hee alag hai!! so shayed is liye log aapko dekhty hain peecha kartey hain. Behraal beta- aapko apne aap ko swath aur safe rakhna hai – kisi ke behkaave mein nahin aa jaana hai – theek hai? Yadi aap is mudde par humse aur gehri charcha mein judna chahte hain to hamare discussion board “Just Poocho” mein zaroor shamil ho! https://lovematters.in/en/forum
Yes that’s true. Its not about oral sex – its about society not accepting crossdressers, not allowing people to choose who they want to be with, have sex with. So whatever you do – be safe and be happy and be healthy. If you would like to join in on a further discussion on this topic, join our discussion board, "Just Ask” https://lovematters.in/en/forum
Theek hai beta – lekin baat yeh hai ki pariwar, samaj aur logon ke liye yeh abhi bhi bahut adbhut hai – bahut hee alag hai!! So aapko apne pariwar, samaj aur mahool ko bhi dekhna hai – koi bhi kadam uthane se pehle. Behraal beta- aapko apne aap ko swath aur safe rakhna hai – kisi ke behkaave mein nahin aa jaana hai – theek hai? Yadi aap is mudde par humse aur gehri charcha mein judna chahte hain to hamare discussion board “Just Poocho” mein zaroor shamil ho! https://lovematters.in/en/forum
Sirf 6 din? Pehle toh doctor se milkar yeh Nishchint kar lijiye ki sab theek hai aur apni wife ke comfort ka bhi dhyaan rakhiye, sex tab karen jab aapki wife tayyar feel karein, ready hon, koi dard ya takleef mein naa hon… aur yaad rakhiye, ki wo kabhi bhi pregnant ho sakteeh hain. So take precautions. https://lovematters.in/hi/news/sex-after-pregnancy-how-can-i-tell-him-im-not-ready Yadi aap is mudde par humse aur gehri charcha mein judna chahte hain to hamare discussion board “Just Poocho” mein zaroor shamil ho! https://lovematters.in/en/forum
ठीक है बेटे - लेकिन बात ये है कि समाज और लोगों की लिए ये अभी भी बहुत अद्भुत है -बहुत ही अलग है!! So आपको अपने समाज और माहौल साथ ही पत्नी को भी देखना है - कोई भी कदम उठाने से पहले. बहरहाल बेटा - आपको अपने आप को स्वस्थ और सुरक्षित रखना है - किसी के बहकावे में नहीं आ जाना है - ठीक है ? यदि इस मुद्दे पर आप और गहरी चर्चा में जुड़ना चाहते हैं, तो हमारे डिस्कशन बोर्ड, " जस्ट पूछो" में ज़रूर शामिल हों. https://lovematters.in/en/forum
Me 1boy hu but me girl dress aur mekup karti hu mughe girl dress &mekup karke ghumna bahut pasand hai me cahti hu me girl dress me rahu ladkiyo ki tarah chalu waisa hi masti karu mughe ladko me koi intest nahi hai but me cahti hu me jaise rahna cahti hu samag swikar kare
Theek hai beta – lekin baat yeh hai ki samaj aur logon ke liye yeh abhi bhi bahut adbhut hai – bahut hee alag hai!! So aapko apne samaj aur mahaul ko bhi dekhna hai – koi bhi kadam uthane se pehle. Behraal beta- aapko apne aap ko swath aur safe rakhna hai – kisi ke behkaave mein nahin aa jaana hai – theek hai? https://lovematters.in/hi/sexual-diversity/sexual-orientation/am-i-gay Yadi aap is mudde par humse aur gehri charcha mein judna chahte hain to hamare discussion board “Just Poocho” mein zaroor shamil ho! https://lovematters.in/en/forum
Bete yeh jaan lijiye ki gf sirf sex poorti karne ka zariya bilkul bhi nahi hain. Aur sex ki ichchha hona bohot hi common hai par hum aapki ismein koi sahayata nahi kar saktay! Lekin aap hastmethun try kar saktay hain kyunki Hastmaithun ek safe /surakshit tareek ahai apni santushti karne ka. https://lovematters.in/hi/resource/men-masturbating Yadi aap is mudde par humse aur gehri charcha mein judna chahte hain to hamare discussion board “Just Poocho” mein zaroor shamil ho! https://lovematters.in/en/forum
नई टिप्पणी जोड़ें

Comment

  • अनुमति रखने वाले HTML टैगस: <a href hreflang>