miscarriage symptoms
Shutterstock/fizkes

अकाल प्रसव: पांच मुख्य तथ्य

द्वारा David Joshua Jennings नवंबर 22, 02:54 बजे
अकाल प्रसव के साथ कई गलत धारणाएं जुड़ी हुई हैं? इसके होने के क्या कारण होते हैं? इसे कैसे रोका जा सकता है? लव मैटर्स प्रस्तुत करता है इससे सम्बंधित पांच मुख्य तथ्य...
  1. अकाल प्रसव होना सामान्य है
    अकाल प्रसव को स्वैच्छिक गर्भपात या गर्भावस्था का अपने आप समाप्त होना भी कहा जाता हैI वैसे तो मान्यता प्राप्त गर्भधारण में अकाल प्रसव की संख्या 10 से 20 फ़ीसदी पायी गयी है लेकिन असलियत में यह औसत 50 प्रतिशत भी हो सकती हैंI
    कई स्थितियों में तो महिला को यह पता ही नहीं चल पाता कि गर्भपात हो चुका हैI बढ़ती उम्र और अन्य सामाजिक कारणों की वजह से यह औसत बढ़ सकती है तो इसके लिए अपने आपको दोष देने से पहले यह जान लें कि मिसकैरिज होना (अकाल प्रसव या गर्भपात) सामान्य है और इसका आपसे या आपके चालचलन से कोई सम्बन्ध नहीं हैI
  2. अकाल प्रसव के विभिन्न कारण और प्रकार होते हैं
    योनि में खून के धब्बे या रक्तस्त्राव, ऐंठन या पेट में दर्द, और तरल पदार्थ या ऊतक का योनि में से निकलना, यह सभी संकेत है कि आपको मिसकैरिज हो रहा हैI अकाल प्रसव एक दम से नहीं होता और यह सारे लक्षण एक प्रक्रिया का हिस्सा हैI यह अलग-अलग कारणों और तरह से हो सकता हैI
    गर्भपात होने के कई संभावित कारण हो सकते हैं लेकिन इनमें सबसे सामान्य है भ्रूण के अंदर गुणसूत्र विषमता का उत्पन्न होना जो अक्सर वीर्य और अंडो के अंदर किसी प्रकार की समस्या होने से होती हैI गर्भाशय ग्रीवा या अन्य विकारों में समस्याएं भी गर्भपात के लिए जिम्मेदार हो सकती हैं।
  3. आपके रहनसहन का भी इसमें योदान हो सकता है  
    अधिकांश गर्भपात गुणसूत्र असामान्यताओं के कारण ही होते हैं और उनको रोकने के लिए आप ज़्यादा कुछ नहीं कर सकतेI लेकिन आपकी कोशिश यही होनी चाहिए कि आप जितना हो सकें उतना स्वस्थ बनें जिससे कि गर्भधारण के समय आपका शारिरिक परिवेश पूरी तरह उपजाऊ होI
    स्वस्थ भोजन और नियमित व्यायाम की मदद से आप गर्भपात होने से बच सकते हैं। आपको मदिरापान और धूम्रपान से भी दूर रहना चाहिए क्योंकि दोनों से ही गर्भावस्था और एक विकासशील भ्रूण को खतरा हो सकता है।
  4. इलाज अनिवार्य है
    गर्भावस्था के दौरान किसी भी तरह के रक्तस्त्राव की सूचना डॉक्टर को तुरंत करनी चाहिएI चूंकि गर्भपात योनि से खून बहने का एकमात्र कारण नहीं है इसलिए सही निदान पाने के लिए डॉक्टर से सलाह लेना अत्यंत महत्वपूर्ण है।
    यदि खून बहुत ज़्यादा बह रहा हो या आपके पेट में गंभीर दर्द हो रहा हो (जब आप गर्भवती हों), तो आप को तुरंत चिकित्सा सहायता लेनी चाहिए।
    एक बार रक्तस्राव का कारण पता चल जाए तो डॉक्टर आपको इलाज बता सकते हैंI अधिकाँश मामलों में गर्भपात, गर्भवस्था के शुरू में ही हो जाता है और ऐसे में किसी तरह के उपचार की ज़रुरत नहीं होतीI कुछ मामलों में, जिन में कुछ ऊतक गर्भाशय में रह गए होते हैं, उन्हें निकालने के लिए एक छोटी सी प्रक्रिया की आवश्यकता होती हैI
    मनोवैज्ञानिक रूप से देखा जाए तो गर्भपात के बाद दुख, कुछ खो देना और अवसाद की भावनाओं से ग्रस्त होना एक आम बात है, लेकिन इन भावनाओं को अपने दिल के अंदर रखने से हालात और खराब ही होंगेI कभी-कभी ऐसी स्थिति से बाहर आने का सबसे अच्छा तरीका होता है अपने करीबी के साथ अपना दुःख साझा करना, जैसे आपका साथी, आपके परिवार जन या आपका एक करीबी दोस्तI
  5. गर्भपात होने के बाद अधिकाँश महिलाएं दोबारा माँ बन सकती हैं
    गर्भपात होने का मतलब यह नहीं है कि आप फिर से गर्भवती नहीं हो सकतीI जैसे हम पहले ही चर्चा कर चुके हैं कि गर्भपात असामान्य नहीं हैI बस फ़र्क़ यह पड़ता है कि जिन महिलाओं के साथ यह हुआ है उनके साथ इसके दोबारा होने की संभावना थोड़ी बढ़ जाती हैI

क्या आपने या आपके साथी ने गर्भपात का दुखद एहसास झेला है? अपने अनुभव और सुझाव हमें नीचे लिखकर या फेसबुक के ज़रिये बताएंI अगर आपके मन में कोई सवाल हों तो हमारे फोरम जस्ट पूछो में उन्हें पूछेंI

क्या आप इस जानकारी को उपयोगी पाते हैं?

Comments
नई टिप्पणी जोड़ें

Comment

  • अनुमति रखने वाले HTML टैगस: <a href hreflang>