गर्भनिरोधक पिल्स: झूठ का भंडाफोड़
Shutterstock/AXL/Person in the photo is a model

गर्भनिरोधक पिल्स: झूठ का भंडाफोड़

क्या गर्भनिरोधक पिल्स नवयुवतियों के लिए सुरक्षित नहीं हैं? क्या उससे भविष्य में गर्भ धारण करने में असर पड़ सकता है? गर्भनिरोधक पिल्स से जुड़े झूठ क्या हैं और सच्चाई क्या है, आईये इस लेख के द्वारा हम जानते हैं।

अफवाह 1: गर्भनिरोधक पिल्स को बीच-बीच में कुछ समय के लिए छोड़ देना चाहिए

सच्चाई: ऐसा कोई प्रमाण नहीं है जिसके द्वारा यह संकेत मिले कि गर्भनिरोधक पिल्स को बीच बीच में छोड़ देना फायदेमंद हो सकता है। बल्कि, इसको छोड़ने की वजह से आप अनचाहे गर्भधारण का खतरा मोल ले लेते हैं। इन पिल्स को कई सालों तक लगातार खाया जा सकता है। असल में माहवारी के शुरू होने से लेकर रजोनिवृत्ति (मेनोपॉज़) तक इन्हें लगातार लेना पूर्णतः सुरक्षित है।

अफ़वाह 2: यह पिल नवयुवतियों के लिए सुरक्षित नहीं है 

सच्चाई: गर्भनिरोधक पिल्स दो तरह की होती हैं। पहले प्रकार को कंबाइंड ओरल कंट्रासेप्टिव (सीओसी) कहा जाता है, क्योंकि इसमें दो हॉर्मोन होते हैं-एस्ट्रोजन और प्रोजेस्ट्रोन (उदाहरण, माला-डी,माला-एन,ओवरॉल और लॉएटे)। गर्भनिरोधक पिल्स युवाओं के लिए अच्छा विकल्प हो सकती हैं। नवयुवतियों के लिए, सीओसी का प्रयोग लगातार और प्रभावी तरीके से करने के लिएअधिक साथ और प्रोत्साहन की ज़रुरत हो सकती है।

अफ़वाह 3: अगर आप लम्बे समय तक यह पिल ले रही हैं, तो इसका इस्तेमाल रोकने के बाद भी आप अनचाहे गर्भधारण से सुरक्षित रहेंगी 

सच्चाई: आप केवल तभी तक सुरक्षित हैं, जब तक कि आप इन पिल्स को नियमित रूप से, बताये गए तरीके से ले रहीं हैं।

अफवाह 4: पिल लेना आपके भविष्य में गर्भ धारण करने की क्षमता को प्रभावित कर सकता है

सच्चाई:जब कभी भी एक स्त्री इस पिल को लेना बंद करती है, तो वह ठीक उसी स्त्री की तरह गर्भवती हो सकती है जिसने गर्भ निरोध कोई और तरीके (बिना हॉर्मोन वाले) अपनाएं हो । यह पिल स्त्री की प्रजनन क्षमता के वापस आने को प्रभावित नहीं करती है। हालाँकि, कुछ स्त्रियों के लिएयह पिल छोड़ने के बाद माहवारी के दौरान होने वाले रक्तस्राव को, नियमित होने में कुछ महीने लग सकते हैं।

अफवाह 5: इस पिल से अबॉरशन हो सकता है 

सच्चाई: रिसर्च के अनुसार, गर्भ निरोधक पिल्स पहले से हुए गर्भधारण पर कोई असर नहीं करतीं। उन्हें गर्भ समापन/अबॉरशन करने के लिए इस्तेमाल नहीं करना चाहिए।

अफवाह 6: गर्भनिरोधक पिल्स जन्म के समय होने वाले दोष पैदा कर सकती हैं और यदि कोई गर्भवती स्त्री इसे गलती से ले तो यह भ्रूण को नुकसान पहुंचा सकती हैं 

सच्चाई: इस बात को प्रमाणित करने के लिए बहुत से तथ्य हैं कि सीओसी जन्म के समय होने वाले किसी भी दोष के या भ्रूण को नुक्सान पहुँचाने के लिए जिम्मेवार नहीं है, फिर चाहे कोई भी स्त्री पिल लेते हुए गर्भवती हो जाये या फिर गर्भवती होने पर भी गलती से इसे ले।

अफवाह 7: इस पिल के द्वारा स्त्री का वजन बढ़ या घट सकता है 

सच्चाई: ज़्यादातर स्त्रियों का वजन इस पिल की वजह से बदलता नहीं है। वजन का घटना या बढ़ना ज़िंदगी की परिस्थितियों या उम्र के कारण होता है। क्योंकि वजन का घटना या बढ़ना बहूत ही आम बात है, इसलिए अक्सर स्त्रियां यह मान लेती हैं कि यह इस पिल की वजह से है। हालाँकि, अध्ययनों से संकेत मिलता है कि औसतन, सीओसी से वजन नहीं बढ़ता है।

अफवाह 8: यह पिल यौन इच्छा (सेक्स ड्राइव) को प्रभावित करती है 

सच्चाई: वैसे, यह कुछ हद तक सच हो सकता है। इस पिल को शुरू करने के बाद कुछ स्त्रियों द्वारा यौन इच्छा का बेहतर होना बताया गया है। यह साधारणतः इसलिए भी हो सकता है क्योंकि अब स्त्री गर्भवती होने के डर से मुक्त है। 

सार यह है, कि अगर कोई स्त्री किसी और बीमारी से ग्रसित ना हो, तो यह पिल अनचाहे गर्भ को रोकने का आसान तरीका है। हमें उम्मीद है कि गर्भनिरोधक के विषय में महत्वपूर्ण जानकारी देते हुए यह लेख आपको अपने यौन जीवन और यौन स्वास्थ्य  के लिए उचित निर्णय लेने में सक्षम बनाएगा।

ये लेख मेजर (डॉ ) समीना पारिख (सेवानिवृत), एमएस, पीजीडीएमएलएस, से बातचीत पर आधारित है।

कोई सवाल? हमारे फेसबुक पेज पर लव मैटर्स (एलएम) के साथ उसे साझा करें या हमारे चर्चा मंच पर एलएम विशेषज्ञों से पूछें। हम Instagram, YouTube  और Twitter पे भी हैं!

क्या आप इस जानकारी को उपयोगी पाते हैं?

Comments
नई टिप्पणी जोड़ें

Comment

  • अनुमति रखने वाले HTML टैगस: <a href hreflang>