Auntyji
thingkreations

मेरा शारीरिक शोषण हुआ है - क्या मुझे बताना चाहिए?

द्वारा Auntyji मई 3, 02:10 बजे
सवाल: मेरी दोस्त के एक रिश्तेदार ने मुझसे छेड़-छाड़ करके मेरा शारीरिक शोषण किया। मैं खुद अपने लिए बहुत शर्मिंदा और आत्मग्लानी महसूस कर रही हूँ और मुझे नहीं पता मुझे क्या करना चाहिए। पलक, फरीदाबाद

आंटी जी कहती हैं...पलक पुत्तर, मेरी तरफ से एक ज़ोरदार झप्पी ले तू सबसे पहले। मैं सच कहूँ तू मुझे बहुत दुःख हो रहा है तेरे साथ जो हुआ उसके बारे में सुनकर और बहुत गुस्सा भी आ रहा है। यह बहुत मुश्किल है और सच यह है की जो तेरे साथ हुआ है उसका सामना ना जाने और कितनी लड़कियों को भी करना पड़ता है। मुझे याद है आज भी जब मेरे साथ भी ऐसा ही कुछ हुआ था।

लेकिन मुझे ख़ुशी है पुत्तर की तूने यह बात मुझे शेयर करने की सोची। ऐसी बातों को अपने दिल से निकलना बहुत ज़रूरी होता है। अरे हमारे ज़माने में तो लड़कियां कुछ भी कहने और बताने में इतना घबराती थी की क्या बताओ, और हम मन ही मन घुटते रहते थे।

समय बदल गया है

पलक पुत्तर, रिसर्च यह दर्शाता है की जिस के भी साथ ऐसा हादसा होता है, उसके भावनात्मक और शारीरिक तौर पर बहुत असर पड़ता है। इसका असर एक दम से चाहे ना दिखाए दे, इसलिए बहुत ज़रूरी है की तू यह बात अपने मत-पिता को ज़रूर बताये।

इसके बारे में बात करके तुम्हे इस घटना से उभरने में मदद मिल सकती है। और तुम्हारे माता-पिता तुम्हे प्रोफेशनल सहायता भी दिल सकते हैं। हमारे पार्टनर FPA इंडिया के सेंटर  द्वारा भी तुम्हे काउन्सलिंग की मदद मिल सकती है। वो कहते हैं ना की इलाज से बेहतर है रोकथाम।

और पुत्तर, जैसा की मैंने कहा, ज़माना बदल गया है। तुझे किसी से भी डरने की बिलकुल ज़रूरत नहीं। और में सच में यह बात पूरी समझ के साथ कह रही हूँ। ऐसे घटिया लोगों की सचाई सबके सामने भी आनी चाहिए और इनको सबक भी मिलना चाहिए। इनको तो पूरे समाज के सामने गलियां और जूते पडने चाहिए ताकि वो ऐसा दोबारा किसी के साथ करने की सोचे भी नहीं। और बाकी ऐसे घटिया लोगों के लिए भी यह एक उधारण बने। हाँ, मैं यह जानती हूँ की ऐसा करना तेरे लिए बहुत आसान नहीं होगा, वो भी जब आप इससे पहली बार गुज़र रहे हों। लेकिन पुत्तर, चिंता ना कर - बस थोड़ी हिम्मत दिखा।

चुप ना रह

चल मैं तुझे अपने परिवार की एक कहानी बताती हूँ। जब मैं बड़ी हो रही थी, तब हमारे परिवार में भी एक ऐसे व्यक्ति (अंकल) थे जो छोटी लड़कियों के साथ छेड़-छाड़ करके उनका शारीरिक शोषण करते थे। उस अंकल ने खुद मेरे बड़ी बहन  का बहुत बार शारीरिक शोषण किया, लेकिन मेरी बहन कभी भी किसी को कुछ ना कह पायी। उसका पूरा बचपन उस घटिया अंकल की वजह से बर्बाद हो गया और बहुत चुप रहने लगी।

तुझे विश्वास नहीं होगा, लेकिन 25 साल बाद, उसी आदमी ने, यानी मेरे उसी अंकल ने, मेरी उसी बेहन की बेटी के साथ वही करने की कोशिश करी। लेकिन वो अपनी माँ की तरह चुप ना रही बल्कि उस अंकल की सच्चाई  सबके सामने लाके रख दी। उसने अपनी को इस बारे में सब कुछ बता भी दिया।

तब मेरी बहन  को पता चला की उसने क्या गलती करी थी उस अंकल के बारे में किसी को भी कुछ ना बताकर और सालों तक उसका अत्याचार सहकर। फिर क्या था, बस, उस अंकल की जो धजियाँ उड़ाई सभी परिवार वालों ने, और वो भी खुद उसकी पत्नी और बेटी के सामने। उसको हमारे सभी परिवार वालों ने एक तरह से परिवार से निकाल ही दिया। लेकिन सच कहूँ तो आज तक मेरी बहन को यह लगता है जो हिम्मत उसकी बेटी ने दिखाई, काश उसने दिखाई होती।

शिकायत दर्ज करना

तो पलक पुत्तर, तुझे बिलकुल डरने की ज़रूरत नहीं है। अपना सर ऊंचा रख और तुझे बिलकुल शर्मिंदा होने की ज़रूरत नहीं। क्यूंकि गलत तू नहीं, गलत वो दरिंदा है जिसने तेरे साथ इतनी घटिया हरकत करी। मुझे पूरा विश्वास है की तेरे परिवार वाले तेरा पूरा साथ देंगे और उस घटिया आदमी को सज़ा दिलवाएंगे।

और हाँ, मुझे लगता है की तेरे माता-पिता को इस घटना के बारे मेरी तेरी दोस्त के माता-पिता से भी बात करनी चाहिए। उनको खुद इस आदमी की सच्चाई पता चलनी चाहिए क्यूंकि वो उनके परिवार का हिस्सा है। और फिर क्या पता वो तेरी दोस्त के साथ और दोस्त के और दोस्तों के साथ भी ऐसा करता हो। और हाँ, मैं तुझे यह पर्सनल सलाह भी दूंगी की तू उसके खिलाफ कानूनी एक्शन भी ले। पुलिस स्टेशन में रिपोर्ट भी दर्ज करनी चाहिए। 
 
तू बहुत हिम्मतवाली लड़की है पुत्तर और मुझे बहुत गर्व है की तूने यह बात मुझे बताई। अब ज़रूरत तुझ जैसी लड़कियों की है जो खुल कर इन घटिया लोगों की सच्चाई सामने लेकर आये और इन्हें सज़ा दिलवाए। और शायद हमारे कल के समाज के लिए यह एक बहुत बड़ा बदलाव लेकर आएगा।

फोटो: Auntyji, thinqkreations

अगर आपको प्यार, सेक्स और रिश्तों से जुडे किसी भी सवाल पर आंटी जी की सलाह चाहिए तो ईमेल करिए आंटी जी को।

आंटी जी कहती हैं...पलक पुत्तर, मेरी तरफ से एक ज़ोरदार झप्पी ले तू सबसे पहले। मैं सच कहूँ तू मुझे बहुत दुःख हो रहा है तेरे साथ जो हुआ उसके बारे में सुनकर और बहुत गुस्सा भी आ रहा है। यह बहुत मुश्किल है और सच यह है की जो तेरे साथ हुआ है उसका सामना ना जाने और कितनी लड़कियों को भी करना पड़ता है। मुझे याद है आज भी जब मेरे साथ भी ऐसा ही कुछ हुआ था।

लेकिन मुझे ख़ुशी है पुत्तर की तूने यह बात मुझे शेयर करने की सोची। ऐसी बातों को अपने दिल से निकलना बहुत ज़रूरी होता है। अरे हमारे ज़माने में तो लड़कियां कुछ भी कहने और बताने में इतना घबराती थी की क्या बताओ, और हम मन ही मन घुटते रहते थे।

समय बदल गया है

पलक पुत्तर, रिसर्च यह दर्शाता है की जिस के भी साथ ऐसा हादसा होता है, उसके भावनात्मक और शारीरिक तौर पर बहुत असर पड़ता है। इसका असर एक दम से चाहे ना दिखाए दे, इसलिए बहुत ज़रूरी है की तू यह बात अपने मत-पिता को ज़रूर बताये।

इसके बारे में बात करके तुम्हे इस घटना से उभरने में मदद मिल सकती है। और तुम्हारे माता-पिता तुम्हे प्रोफेशनल सहायता भी दिल सकते हैं। हमारे पार्टनर FPA इंडिया के सेंटर  द्वारा भी तुम्हे काउन्सलिंग की मदद मिल सकती है। वो कहते हैं ना की इलाज से बेहतर है रोकथाम।

और पुत्तर, जैसा की मैंने कहा, ज़माना बदल गया है। तुझे किसी से भी डरने की बिलकुल ज़रूरत नहीं। और में सच में यह बात पूरी समझ के साथ कह रही हूँ। ऐसे घटिया लोगों की सचाई सबके सामने भी आनी चाहिए और इनको सबक भी मिलना चाहिए। इनको तो पूरे समाज के सामने गलियां और जूते पडने चाहिए ताकि वो ऐसा दोबारा किसी के साथ करने की सोचे भी नहीं। और बाकी ऐसे घटिया लोगों के लिए भी यह एक उधारण बने। हाँ, मैं यह जानती हूँ की ऐसा करना तेरे लिए बहुत आसान नहीं होगा, वो भी जब आप इससे पहली बार गुज़र रहे हों। लेकिन पुत्तर, चिंता ना कर - बस थोड़ी हिम्मत दिखा।

चुप ना रह

चल मैं तुझे अपने परिवार की एक कहानी बताती हूँ। जब मैं बड़ी हो रही थी, तब हमारे परिवार में भी एक ऐसे व्यक्ति (अंकल) थे जो छोटी लड़कियों के साथ छेड़-छाड़ करके उनका शारीरिक शोषण करते थे। उस अंकल ने खुद मेरे बड़ी बहन  का बहुत बार शारीरिक शोषण किया, लेकिन मेरी बहन कभी भी किसी को कुछ ना कह पायी। उसका पूरा बचपन उस घटिया अंकल की वजह से बर्बाद हो गया और बहुत चुप रहने लगी।

तुझे विश्वास नहीं होगा, लेकिन 25 साल बाद, उसी आदमी ने, यानी मेरे उसी अंकल ने, मेरी उसी बेहन की बेटी के साथ वही करने की कोशिश करी। लेकिन वो अपनी माँ की तरह चुप ना रही बल्कि उस अंकल की सच्चाई  सबके सामने लाके रख दी। उसने अपनी को इस बारे में सब कुछ बता भी दिया।

तब मेरी बहन  को पता चला की उसने क्या गलती करी थी उस अंकल के बारे में किसी को भी कुछ ना बताकर और सालों तक उसका अत्याचार सहकर। फिर क्या था, बस, उस अंकल की जो धजियाँ उड़ाई सभी परिवार वालों ने, और वो भी खुद उसकी पत्नी और बेटी के सामने। उसको हमारे सभी परिवार वालों ने एक तरह से परिवार से निकाल ही दिया। लेकिन सच कहूँ तो आज तक मेरी बहन को यह लगता है जो हिम्मत उसकी बेटी ने दिखाई, काश उसने दिखाई होती।

शिकायत दर्ज करना

तो पलक पुत्तर, तुझे बिलकुल डरने की ज़रूरत नहीं है। अपना सर ऊंचा रख और तुझे बिलकुल शर्मिंदा होने की ज़रूरत नहीं। क्यूंकि गलत तू नहीं, गलत वो दरिंदा है जिसने तेरे साथ इतनी घटिया हरकत करी। मुझे पूरा विश्वास है की तेरे परिवार वाले तेरा पूरा साथ देंगे और उस घटिया आदमी को सज़ा दिलवाएंगे।

और हाँ, मुझे लगता है की तेरे माता-पिता को इस घटना के बारे मेरी तेरी दोस्त के माता-पिता से भी बात करनी चाहिए। उनको खुद इस आदमी की सच्चाई पता चलनी चाहिए क्यूंकि वो उनके परिवार का हिस्सा है। और फिर क्या पता वो तेरी दोस्त के साथ और दोस्त के और दोस्तों के साथ भी ऐसा करता हो। और हाँ, मैं तुझे यह पर्सनल सलाह भी दूंगी की तू उसके खिलाफ कानूनी एक्शन भी ले। पुलिस स्टेशन में रिपोर्ट भी दर्ज करनी चाहिए। 
 
तू बहुत हिम्मतवाली लड़की है पुत्तर और मुझे बहुत गर्व है की तूने यह बात मुझे बताई। अब ज़रूरत तुझ जैसी लड़कियों की है जो खुल कर इन घटिया लोगों की सच्चाई सामने लेकर आये और इन्हें सज़ा दिलवाए। और शायद हमारे कल के समाज के लिए यह एक बहुत बड़ा बदलाव लेकर आएगा।

फोटो: Auntyji, thinqkreations

अगर आपको प्यार, सेक्स और रिश्तों से जुडे किसी भी सवाल पर आंटी जी की सलाह चाहिए तो ईमेल करिए आंटी जी को।

क्या आप इस जानकारी को उपयोगी पाते हैं?

Comments
नई टिप्पणी जोड़ें

Comment

  • अनुमति रखने वाले HTML टैगस: <a href hreflang>