Couple making love
© Love Matters

निष्काशन (विदड्राल) विधि

निष्काशन उसे कहते हैं जब पुरुष स्खलित होने - वह क्षण जब लिंग से वीर्य बाहर आने को होता है - से पहले महिला की योनि से अपना लिंग बाहर निकाल लेता है। इसे निष्काशन विधि या सहवास विघ्न (कोइटस इंटरप्टस) भी कहते हैं। जो निष्काशन विधि का प्रयोग करते हैं, उनमें अनचाहे गर्भधारण की दर सबसे अधिक है।

सफलता की दरः पुरुष साथी द्वारा निष्काशन विधि का आम प्रयोग अपनाने वाली 100 में से 27 महिलाएं गर्भवती हो जाती हैं। सही प्रयोग करने पर 100 में 4 महिलाएं गर्भवती हो सकती हैं।

खूबियां और खामियां

खूबियां: इसे कभी भी बंद कर सकते हैं और आसानी से इसे पलटा जा सकता है, किसी डाक्टर या स्वास्थ्य कर्मी की ज़रूरत नहीं होती, किसी नुस्खे की ज़रूरत नहीं होती, कोई दुष्प्रभाव नहीं होते। यह मुफ़्त है।

खामियां: सभी प्रकार के गर्भनिरोधक उपायों में गर्भधारण से बचने का यह सबसे कमज़ोर उपाय है। जो दंपति निष्काशन विधि का प्रयोग करते हैं, उनमें अनचाहे गर्भधारण की दर सबसे अधिक है।

निष्काशन, गर्भधारण से कैसे बचाता है?

निष्काशन, शुक्राणु को योनि में जाने से रोककर गर्भधारण से बचाता है।

गर्भधारण से बचने के लिए मुझे कब-कब निष्काशन विधि का प्रयोग करना चाहिए?

गर्भधारण से बचने के लिए आपको एवं आपके साथी को योनि संभोग करते समय हर बार इसका प्रयोग करना होता है।

गर्भधारण रोकने के लिए निष्काशन कितना प्रभावी है?

  • अपने पुरुष साथी द्वारा इस विधि का ‘आम प्रयोग’ करने वाली 100 में से 27 महिलाएं गर्भवती हो जाती हैं। ‘आम प्रयोग’ का अर्थ है, निष्काशन विधि का सही तरीके से प्रयोग नहीं करना, जिसके कारण शुक्राणु योनि में प्रवेश कर जाते हैं।
  • जो महिलाएं अपने पुरुष साथी के साथ इस विधि का सही प्रयोग करती हैं, उन 100 महिलाओं में से केवल 4 गर्भवती होंगी। आप निश्कासन विधि को और अधिक प्रभावी बना सकते हैं यदि आप और आपके साथी इस बात को जानते हैं कि वह चरम अवस्था पर कब पहुंचने वाले हैं, या कब वह स्खलन पर नियंत्रण नहीं रख सकते, रोक नहीं सकते या उसे टाल नहीं सकते हैं।

यह बहत मुश्किल काम है। यह क्षण कब आने वाला है इसका पता करना काफी कठिन है। इसलिए वीर्य, योनि में जा सकता है और गर्भधारण हो सकता है।

  • इसके साथ-साथ वीर्यपात से पहले लिंग से निकलने वाले द्रव, जिसे स्खलनपूर्व निकलने वाला द्रव या प्री-कम भी कहते हैं, से भी गर्भधारण हो सकता है। कुछ विशेषज्ञ मानते हैं कि इस द्रव में पुरुष की मूत्र नली में पिछली बार हुए वीर्यपात के बचे शुक्राणु मिल जाते हैं, जिससे गर्भधारण होता है। इसलिए ये विषेशज्ञ निष्काशन विधि को प्रभावी बनाने के लिए वीर्यपात के बाद आपको पेशाब करने की सलाह देते हैं।

कुल मिलाकर निष्काशन विधि बहुत अधिक विष्वसनीय नहीं है, इसलिए यदि आपके लिए गर्भवती होना दुनिया की सबसे अनुचित बात है, तो यह विधि आपके लिए ठीक नहीं है

यदि शुक्राणु मेरी योनि में प्रवेश कर जाते हैं तो मैं क्या कर सकती हूँ?

यदि ऐसा हो जाता है तो आपातकालिक गर्भनिरोधक पर विचार करें।
आपातकालिक गर्भनिरोधक, असुरक्षित संभोग करने के पांच दिनों तक प्रभावशाली होता है। आप इसे जितना जल्दी लेती हैं, यह उतनी ही अधिक कारगर होती है।

निष्काशन कितना सुरक्षित है?

इसके कोई दुष्प्रभाव नहीं हैं, इसलिए कोई भी इसे गर्भनिरोधक उपाय के रूप में अपना सकता है।

क्या इसके लिए किसी डाक्टरी नुस्खे की ज़रूरत होती है?

नहीं

कीमत कितनी है?

कुछ नहीं, इसकी कोई कीमत नहीं है!

क्या आसानी से उपलब्ध है?

जी हाँ

निष्काशन विधि के प्रयोग में केवल एक ही समस्या है, कि आप और आपके साथी दोनों को इसके लिए राज़ी होना चाहिए।

फायदे?

यदि कोई गर्भनिरोधक उपाय मौजूद नहीं है तो निष्काशन विधि का प्रयोग करना सुरक्षित होता है। इसकी कोई कीमत नहीं देनी होती और जब तक दोनों साथी इसके लिए राज़ी हैं, यह उपाय अपना सकते हैं।

नुकसान?

निष्काशन विधि का प्रयोग करने से किसी यौनसंचारित रोग से सुरक्षा नहीं मिलती है। संभेाग करते समय आपको हर बार योनि से लिंग बाहर निकालकर वीर्यपात करना होता है।

कुछ दंपतियों का मानना है कि निश्कासन विधि का प्रयोग करने से उनकी चिंता और यौनिक कुंठा बढ़ जाती है जिससे उनके संभोग के आनंद में कमी आ जाती है।

यदि आप महिला हैं, तो आपके साथी को लिंग बाहर निकालने के लिए हमेषा राज़ी होना और ऐसा कर पाना ज़रूरी होता है। साथ ही उन्हें इस बात का पता होना चाहिए कि उनका वीर्यपात कब होने वाला है, यदि वह शराब पीए हों या किसी नषीले पदार्थ का सेवन किए हों तो इसका अनुमान लगाना कठिन हो सकता है।

आम तौर पर निष्काशन विधि काफी चतुराई वाली होती है। इसके लिए पुरुष को इस बात का अनुमान होना चाहिए कि लिंग को कब बाहर निकालना है। इसके लिए काफी अभ्यास की ज़रूरत होती है। इसलिए उस विधि का प्रयोग करने की किषारों या गैर-अनुभवी पुरुषों को सलाह नहीं दी जाती है। साथ ही ऐसे पुरुशों को भी नहीं जो जल्दी स्खलित हो जाते हैं।

यदि आपने प्रभाव वाले खंड को ध्यान से पढ़ा है तो आपको भी पता चल गया होगा कि चाहे आप अनुभवी हों, शीघ्र स्खलित होते हों और आपको इस बात का पता रहे कि आप कब स्खलित होने वाले हैं, फिर भी आप किसी को गर्भवती कर सकते हैं। इसलिए यदि आप अभी बच्चा नहीं चाहते हैं तो दूसरे गर्भनिरोधक उपायों का प्रयोग करें।

यौनसंचारित रोगों से सुरक्षा?

नहीं

निष्काशन विधि से यौनसंचारित रोगों से कोई सुरक्षा नहीं होती। यौनसंचारित रोगों के जोखिम से बचने के लिए पुरुष या महिला कंडोम का प्रयोग करें।

क्या आप इस जानकारी को उपयोगी पाते हैं?

Comments
नई टिप्पणी जोड़ें

Comment

  • अनुमति रखने वाले HTML टैगस: <a href hreflang>