Sex Myth Buster
George Doyle/ Love Matters

गर्भधारण: मिथ्या तोड़ो

द्वारा Love Matters India मार्च 4, 12:01 पूर्वान्ह
सेक्स से जुडे मिथ्या सबसे ज्यादा हानिकारक होते हैं। एक संक्रामक रोग की तरह यह एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति तक फैलता रहता है। इसका इलाज करना बेहद ज़रूरी है, इससे पहले की यह एक जानलेवा बीमारी की तरह फ़ैल जाये।

 तो, पेश-ए-ख़िदमत है हमारी 'सेक्स मिथ्या तोड़' श्रंखला!

 

इस हफ्ते, हम बात करेंगे गर्भधारण (प्रेगनैंसी) की। क्या इस दौरान सेक्स किया जा सकता है? क्या ऐसे में कसरत करना हानिकारक है? क्या आप बिना अल्ट्रासाउंड के अपने बच्चे का लिंग पता लगा सकते हैं? आगे पढ़िए...

• मिथ्या 1: आप गर्भवती होने पर सेक्स नहीं कर सकते
अपने शायद सुना होगा की गर्भवती होने के बाद सेक्स करने से आप अपने बच्चे को नुकसान पंहुचा सकते हैं। बरहाल, यह सच नहीं है। आपके साथी का लिंग कभी भी आपके पेट में बच्चे तक नहीं पहुच सकता, तो आपका बच्चा बिलकुल सुरक्षित है।

 

आपका बच्चा आपके गर्भाशय के अन्दर एमनियोटिक थैली से पूरी तरह सुरक्षित होता है और साथ में बलगम जैसी परत से अच्छे से धक होता है। तो अधिकतर युगल के लिए, गर्भवती होने के पूरे नौ महीने तक भी सेक्स करना बिलकुल सुरक्षित होता है। सिर्फ एक ही कारण हो सकता है इस दौरान सेक्स ना करने का और वो है जब आपकी पानी की थेली फट चुकी हो। क्यूंकि इस दौरान आपको इन्फेक्शन / संक्रमण का खतरा होता है।

 

चरम आनंद/ ओर्गास्म से आपको 'बरक्सटन हिक्स' सिकुडन महसूस हो सकती है - आपका गर्भाशय भी सिकुड़ जाता है, और इसलिए पेट टाइट भी हो जाता है। लेकिन ऐसा पूरी प्रेगनेंसी के दौरान बिलकुल नार्मल है, और कोई नुकसान वाली बात नहीं।

 

अगर आपको रक्तस्त्राव (ब्लीडिंग) हो, या आपको अपने गर्भावस्था के दौरान कोई भी और परेशानी महसूस हो, और आपको लगे की सेक्स की वजह से आपको नुकसान पहुचेगा, तो अपने डॉक्टर से मिलकर बात करने और जांज करवाने में बिलकुल मत शर्माइये।

 

पढ़िए आंटी जी क्या कहती हैं: क्या गर्भधारण के दौरान सेक्स करना सही है?

और हाँ, गर्भधारण के बाद सेक्स पर ख़ास पांच तथ्य भी ज़रूर पढ़िए।

• मिथ्या 2: आपको दो के लिए खाना है
आपके आस-पास के लोग यही कहते होंगे की ज़्यादा खाओ, या जितनी भूख है उससे दुगना खाओ, क्यूंकि आप गर्भवती हैं। इस सोच के पीछे का कारण लोग मानते है की क्यूंकि अब आप गर्भवती हैं तो अपने साथ साथ आपको अपने अन्दर के दूसरे इंसान के लिए भी खाना चाहिए - यानी आप और आपका बच्चा।

लेकिन, इसकी ज़रुरत नहीं। शोधकर्ताओं ने यह पाया है की जब आप गर्भवती होती हैं, आपको सिर्फ करीब 300  एक्स्ट्रा कैलोरी (उष्मंग) हर दिन चाहिए होती हैं। और यह ज़्यादा नहीं है - शायद आधा सैंडविच जितना (वैसे यह इस पर निर्भर करता है की उस सैंडविच में क्या है)। तो सिर्फ एक पौष्टिक आहार जारी रखिये। और अगर आपको कुछ खाने की बहुत लालसा हो तो कुछ पौष्टिक ही खाइए!

 

• मिथ्या 3: शारीरिक कसरत (एक्सरसाइज) से नुकसान पहुचता है

सही बात इससे बिलकुल अलग है। अच्छी कसरत से आपके गर्भ के अन्दर के बच्चे के विकास में मदद मिलती है। रिसर्च भी येही दर्शाती है की जो महिलाएं अपने गर्भावस्था के दौरान निरन्तर गर्भधारण करती हैं, उनके बच्चों का स्वस्थ्य ज़्यादा अच्छा होता है।

जैसा की हमने पहले बताया - आपका बच्चा आपके गर्भाशय के अन्दर पूरी तरह सुरक्षित होता है। लेकिन जब आप किसी भी तरह की कसरत का रूटीन शुरू करें तो अपने डॉक्टर (स्त्रीरोग विशेषज्ञ) से सलाह ज़रूर लें। आपको यह पता होना ज़रूरी है की आपकी गर्भावस्था के अनुसार किस तरह की कसरत  है और आपको क्या नहीं करना चाहिए।   
और यहाँ पढ़िए कुछ अच्छी स्वस्थ्य टिप्स

• मिथ्या 4: आप अपने गर्भाशय के आकार से बच्चे के लिंग का पता लगा सकते हैं
जी नहीं! आपका अपने पेट के बहार के आकार को देखकर बच्चे के लिंग का पता नहीं लगा सकते। कुछ लोगों का मानना है की अगर पेट आगे की तरफ निकला हुआ होता है तो बच्चा लड़का पैदा होता है। और अगर बहुत ज़्यादा  सुबह उलटी ना हो, तबियत ना मचले, तो भी आपको लड़का ही पैदा होगा। लेकिन इसमें से कुछ भी सही नहीं है। अल्ट्रासाउंड से ही आप बच्चे के लिंग का पता लगा सकते हैं और उसके लिए भी सही जगह का अल्ट्रासाउंड होना ज़रूरी है। याद रखे, भारत में गर्भावस्था के दौरान बच्चे के लिंग का पता लगाना कानूनन जुर्म है।

 

• मिथ्या 5: गर्भावस्था के दौरान आप पागल हो जाते हैं
यह सच है की गर्भावस्था के दौरान आपके होर्मोनस बहुत बदलते हैं। तो आपका मूड बहुत ऊपर नीचे होगा। लेकिन इसका मतलब यह नहीं की आप पागल हो जाओगे! आप जैसे हैं वैसे ही रहेंगे।

प्रेगनेंसी / गर्भावस्था का असर हर एक इंसान पर अलग अलग होता है। कुछ महिलाएं हमेशा थका हुआ महसूस करती हैं, और कुछ महिलाएं बहुत ज़्यादा उर्जा (एनर्जी) महसूस करती हैं, और कुछ महिलाएं हमेशा खोया-खोया महसूस करती हैं। कुछ महिलाएं बहुत उत्सुक होकर लोगों से मिलना पसंद करती हैं, और कुछ महिलाएं किसी से भी ना मिलना और कटा-कटा रहना पसंद करती हैं। लेकिन इसका मतलब ये नहीं की आप कुछ और ही इंसान बन जायेगे।

 

हाँ, यह जानना आपके लिए ज़रूरी है की आप अपनी ज़िन्दगी के एक महत्वपूर्ण पड़ाव पर हैं और इस पड़ाव का खुल कर मज़ा लें। तो अगर आप गर्भवती होने की कोशिश कर रही है तो 'बेस्ट ऑफ़ लक' और अगर आप गर्भवती हो चुकी हैं तो 'बहुत बहुत मुबारक हो'!

 

फोटो/ चित्र: George Doyle / Love Matters/RNW

क्या अपने भी सेक्स से जुडी कोई मिथ्या सुनी है और सोच रहे हैं की यह सच है या गलत? यहाँ लिखये या फेसबुक पर हो रही चर्चा में भाग लीजिये।

'सेक्स मिथ्या तोड़ो' श्रंखला के अन्य लेख

प्रेगनेंसी/ गर्भधारण पर अन्य लेख

प्रेगनेंसी/ गर्भधारण पर अधिक जानकारी

क्या आप इस जानकारी को उपयोगी पाते हैं?

Comments
नई टिप्पणी जोड़ें

Comment

  • अनुमति रखने वाले HTML टैगस: <a href hreflang>