Worried woman
ligthwavemedia / Shutterstock

जब सेक्स तकलीफदेह बन जाये

द्वारा Sarah Moses जून 1, 04:33 बजे
बहुत सी महिलाएं कई बार सेक्स के दौरान दर्द महसूस करती हैंI लेकिन सेक्स के दौरान होने वाला दर्द अगर लगातार बना रहे तो आपको तुरंत डॉक्टर से सलाह लेनी चाहिएI

अरविन्द और निशा छह महीने से एक साथ हैं और एक दुसरे से बहुत प्यार करते हैंI उनके लिए एक दूसरे से एक पल भी दूर रहना मुश्किल सा है लेकिन उनकी अंतरंगता में एक अड़चन सी बनी रहती हैI जब भी वो सम्भोग करने का प्रयास करते हैं, निशा को असहनीय दर्द होता हैI अरविंद का ऊँगली डालना भी निशा के लिए अत्यंत तकलीफदेह हो जाता हैI आखिरकार कुछ देर कोशिश करने के बाद वो दोनों थककर हार मान लेते हैंI

जो दर्द सेक्स से पहले, दौरान या उपरांत होता है और समय के साथ भी बना रहता है, उसे डिस्परनिया कहा जाता है और अलग-अलग महिलाओं को यह अलग स्तर पर महसूस होता हैI कुछ के लिए ये दर्द किसी एक स्थति या मुद्रा में होता हैI जबकि कुछ के लिए किसी एक पार्ट्नर के साथ दर्द से भरा और किसी और पार्टनर के साथ असीम आनंद वाला भी हो सकता हैI कई महिलाओं के लिंग के प्रवेश के दौरान ही ये दर्द होता हैI

लुब्रिकेशन

तो क्या वजह है की कभी सेक्स मज़ेदार होता है और कभी कभी दर्द से भरा एक सज़ा के सामान बन जाता है? जवाब आसान है- डिस्पेरनिया की कई वजह हो सकती हैं, अक्सर एक से अधिक कारणों का मिश्रण जो इस स्थिति को जन्म देता हैI

कुछ कारण शारीरिक होते हैं जैसे योनि में किसी प्रकार की जलन या संक्रमणI इसके कुछ मनोवैज्ञानिक कारण भी हो सकते हैं जैसे तनाव, आत्मविश्वास की कमी या फिर दर्द का डरI ये सभी कारण महिलाओं के कामोत्तेजित होने के रास्ते में मुश्किलें पैदा करने में सक्षम हैं, जिसके फलस्वरूप महिला की योनि में सेक्स करने के लिए उपयुक्त प्राकर्तिक तरावट उत्पन नहीं हो पति और सेक्स मज़ा नहीं सजा बन जाता हैI

हमारी सलाह

यदि आपके पार्टनर के लिए सेक्स दर्द का सबब बन गया है तो आप क्या करें? डॉक्टर आपकी मदद कर सकता है ये बताने में की इसकी असल वजह क्या हैI डिस्पेरनिया का इलाज महिला के शरीर की उचित जांच के द्वारा संभव हैI साथ ही डॉक्टर इस से जुडी मनोवैज्ञानिक समस्याओं के निवारण की भी उचित सलाह देने में सक्षम हैंI

कुछ जांची परखी टिप्स 

फोरप्ले अक्सर मददगार साबित होता हैI सेक्स से पहले बिस्तर पर बिताये अंतरंग पल महिला को सेक्स के लिए बेहतर तैयार कर सकते हैंI सेक्स के दौरान अलग अलग मुद्रा आज़मा कर देखना  अच्छा होगा क्यूंकि हो सकता है कि कोई एक मुद्रा अधिक तकलीफदेह होI और जो बात हमेशा याद रखनी चाहिए वो है पर्याप्त लुब्रिकेशन- जब बात दर्द मुक्त सेक्स कि आये तो 'चिकना बेहतर है!'I

क्या आप इस जानकारी को उपयोगी पाते हैं?

Comments
नई टिप्पणी जोड़ें

Comment

  • अनुमति रखने वाले HTML टैगस: <a href hreflang>