Sex getting in the way of sex
Shutterstock/spfotocz - Love Matters

सेक्स से जुड़ा तनाव?

द्वारा Sarah Moses नवंबर 29, 03:17 बजे
तनाव और सेक्स का मिश्रण तकलीफ का कारण बन सकता हैI किस प्रकार का तनाव सेक्स को प्रभावित कर सकता है?

और इस तनाव का संधान करने के लिए आप क्या कर सकते हैं? रिसर्च से पता चलता है कि कैसे रोज़मर्रा के तनाव हमारे सेक्स जीवन को नुकसान पहुंचते हैंI

रोशन के जीवन का तनाव आपके स्वस्थ पर बुरा असर डाल सकता हैI ये आपकी पढ़ाई को प्रभावित करता है, आपकी नींद को प्रभावित करता है- और आपके सेक्स जीवन को भी प्रभावित करता हैI तनाव तरह तरह के रूप में हमारे सामने आता ही रहता हैI इनका सामना कैसे किया जाये?

दीवानगी पर प्रहार

पहले सवाल का जवाब ढूंढने के लिए कनाडा के कुछ शोधकर्ताओं ने इंटरनेट पर प्रचार किया कि वो तनाव और सेक्स से जुड़ा एक सर्वे करने वाले हैंI रोज़मर्रा के जीवन में आने वाले तनाव और सेक्स पर उसके असर से जुडी प्रशनवाली के ज़रिये होने वाले इस सर्वे के लिए उनसे 155 महिलाओं और 90 पुरुषों ने संपर्क कियाI इस प्रश्नावली में लगभग वो सभी बिंदु सम्मिलित थे जो रोज़मर्रा के जीवन में तनाव का कारण बन सकते हैं, बिजली के बिल के भुगतान से लेकर, वातावरण दूषण, ट्रैफिक और जीवन के सही अर्थ कि समझ तकI

सर्वे में भाग लेने वाले लोगों ने अपने सेक्स जीवन से जुडी अंतरंग जानकारी भी शोधकर्ताओं के साथ साझा कि, जैसे कि क्या उन्हें कोई निराशा या चिंता परेशान कर रही है? जब शोधकर्ताओं ने सारी जानकारी अर्जित कर ली, तो वे इसके आंकलन के काम में जुट गएI

'दीवानगी पर प्रहार करने वाले तनाव' कि गहनता के आधार पर उन्होंने तनाव को 5 भागों में बाँट दिया:

  • व्यक्तिगत तनाव( उदाहरण:डिनर पर क्या बनाऊँ? मेरी मौत कब होगी?)
  • आर्थिक तनाव(उदाहरण: किराया कैसे भरूं? अगर नौकरी चली गयी तो?)
  • सामाजिक और आर्थिक वर्गीकरण तनाव( उदाहरण:मेरा घर अच्छे इलाके में नहीं हैं या पड़ोस के लोग हमारे स्तर के नहीं हैं)
  • नौकरी से जुड़े तनाव( उदाहरण:मेरा बॉस घटिया है)
  • समय का तनाव( उदाहरण: काम बहुत ज़्यादा है और समय काम)

तनाव का प्रभाव महिलाओं पर अधिक

ये बात तय है कि तनाव का दुष्प्रभाव महिला और पुरुष दोनों के सेक्स जीवन पर पड़ता हैI "जब आपके दिमाग में पैसे से जुड़ा या काम से जुड़ा तनाव हो, तो ये स्वाभाविक है कि अपने साथी पर ध्यान केंद्रित करना और सेक्स के लिए ऊटेजांना महसूस करना आसान नहीं है," शोधकर्ता डॉ लिसा डॉन हैमिलटन ने लव मैटर्स को बतायाI इसकी असल वजह खुद तनाव है या फिर इस तनाव के कारण हुई निराशा है, ये पता लगाना मुश्किल है क्यूंकि इनका गहरा सम्बन्ध हैI

रिसर्च ने ये भी खुलासा किया कि रोज़मर्रा के इस तनाव के नुकसानों का प्रभाव महिलाओं पर पुरुषों से अधिक होता हैI "महिलाएं अक्सर काम पैसा कमेटी है, घर के कामों में पुरुषों से ज़्यादा उलझी रहती हैं," डॉ हैमिलटन कहती हैंI इन सभी बातों कि चिंता के साथ उनका दिमाग सेक्स पर लग पाना और उसका लुत्फ़ उठा पाना थोड़ा मुश्किल हो जाता हैI

तो आखिर सभी तनावों में से महिलाओं को सबस एज़्यादा कौनसा तनाव प्रभावित करता है? जी हाँ! अपने सही अंदाज़ा लगाया, 'पैसे' का तनाव महिलाओं को सबसे अधिक परेशान करता हैI उसके बाद बारी आती है अर्थी और सामाजिक वर्गीकरण से जुड़े तनाव कीI "सबसे खतरनाक वो तनाव होते हैं जिन पर आपका चाहकर भी कोई नियंत्रण नहीं होता," डॉ हैमिलटन का कहना हैI

अपने आज पर ध्यान दें

निष्कर्ष: सेक्स को बेहतर अनुभव करने के लिए तनाव का अंत करना ज़रूरी है? हाँ, ये कहना आसान है लेकिन शायद करना मुश्किल होगाI पैसे की चिंता मत कीजिये- बस अमीर बन जाइये? कहने में आसान ही है! आप तनाव के कारणों को ख़त्म नहीं कर सकते, लेकिन आपके आप पर इनके दुष्प्रभाव को रोक सकते हैं, मैडिटेशन(ध्यान) एक असरदार तरीका हैI

रिसर्च दर्शाती है की ये तकनीकें तनाव का स्तर नीचे ला सकती हैI मैडिटेशन आपको वर्तमान के पल पर ध्यान केंद्रित करने में मदद करता हैI एक प्राचीन भारतीय तकनीक, 'तांत्रिक सेक्स' भी असरदार पाया गया हैI सारी समस्या और उसके समाधान का सार असल में उस पल पर ध्यान केंद्रित करने के बारे में है जो आप अपने साथी के साथ बिस्तर में गुज़रते हैं, है ना?

Source: The Relationship Between Daily Hassles and Sexual Function in Men and Women, Lisa Dawn Hamiltona & Amanda M. Juliana

क्या रोज़मर्रा के तनाव से आपका सेक्स भी प्रभावित है? क्या आप तनाव से निबटने के लिए योग या मैडिटेशन करते हैं? हमें अपने अनुभव बताएंI यहाँ या फिर फेसबुक परI

क्या आप इस जानकारी को उपयोगी पाते हैं?

Comments
नई टिप्पणी जोड़ें

Comment

  • अनुमति रखने वाले HTML टैगस: <a href hreflang>