Auntyji
thingkreations

क्या मेरी सेक्स परेशानियों का कारण हस्तमैथुन है?

द्वारा Auntyji मार्च 7, 11:45 पूर्वान्ह
सवाल: जब भी मैं अपनी गर्ल फ्रेंड के साथ सेक्स करने की शुरुवात करता हूँ तो मेरा लिंग ठीक से तनता नहीं है। और फिर मुझे उसकी योनि के अन्दर वीर्य निकालने में भी परेशानी होती है. क्या यह मेरे ज़्यादा हस्तमैथुन करने के कारण हुआ है? प्रीतम (22 ) डिगबोई

आंटी जी कहती है...मेरे प्यारे प्रीतम, तुझे मैं बता दूँ की तेरी परेशानी काफी आम परेशानी है। तेरे सवाल का आसान सा जवाब है नहीं। और तेरे लिए एक आसान सी सलाह है, हालाँकि शायद तुझे मेरे जवाब से तसल्ली न हो: 'डोंट वरी'।

खैर, तू अकेला नहीं नहीं है पुत्तर, जैसा की लव मैटर्स ने पहले भी बताया था: लिंग में तनाव और ओर्गास्म (चरम आनंद) में परेशानी दोनों एक दुसरे से जुडी हुई हैं।

बहुत सारे पुरुष जिन्हें लिंग तनाव में परेशानी होती है, उन्हें अक्सर ओर्गास्म होने में भी परेशानी होती है। और हम अधिकतर शीघ्र वीर्यपात की समस्या पुरुषों से जोडते हैं, रिसर्च का मानना है की बहुत सारी महिलाओं को भी चरम तक पहुचने में परेशानी होती है।

मुझे लगता है तेरी तीन बड़ी परेशानियाँ है: लिंग का तनाव, वीर्यपात और तेरा यह सोचना की कहीं तेरा हस्तमैथुन करना परेशानी वाली बात तो नहीं।

मेरी राय: बढ़िया तरह से लिंग के तनाव के लिए अच्छे से फोरेप्ले (सेक्स के पहले की कामुक क्रिया), अपने ऊपर वीर्यपात ठीक से होने का ज़्यादा दबाव मत डालो, और हाँ हस्तमैथुन को लेकर बेवजह और बेबुनियाद चिंता करना छोड़ दे।

सुरक्षित 

तो मैं शुरुवात करती हूँ आखिरी मुद्दे से। हस्तमैथुन से सिर्फ ओर्गास्म हो सकता है, शारीरिक सुख मिल सकता है और संतुष्टि मिल सकती है, बाकि कोई नुकसान नहीं। ओये पुत्तर, हस्तमैथुन से तुझे कोई नुक्सान नहीं होगा। लेकिन हाँ, दिन भर सिर्फ यही करना, मतलब इसके चलते अपनी नार्मल लाइफ जीना छोड़ देना परेशानी वाली बात ज़रूर है।

तुझे बताओ पुत्तर, हस्तमैथुन मेरे जानने वाले कई वीर्यवान पुरुषों का सबसे पसंदिता कार्य है। तो मेरे डार्लिंग पुत्तर जी, तू हस्तमैथुन से तेरी सेक्स लाइफ पर होने वाले असर की चिंता छोड़ दे - ज़्यादा से ज़्यादा यह हो सकता है की हस्तमैथुन करने के बिलकुल बाद सेक्स करने के लिए कुछ घंटे आराम करना पडे।

जूनून का खात्मा
 
तेरी दूसरी परेशानी है ठीक से लिंग में तनाव ना होना. इसके कई कारण हो सकते हैं - शायद शारीरिक या मानसिक।

लेकिन एक बात तो साफ़ है। जब आप सेक्स करने की शुरुवात करते है, और इस बात की चिंता करने लगते है की के आपका लिंग ठीक से तन जायेगा और क्या आप अच्छे से सेक्स कर पाएंगे या आपका वीर्यपात ठीक से हो पायेगा...बेटा जी,  अब किसी के भी ऐसे सोचने से वो सेक्स ठीक से कर ही कहाँ पायेगा...सेक्स के जूनून पर तो मिटटी पड़ गयी ना यह सब सोच कर, और फिर कहाँ से लिंग तनेगा तेरा!
 
उसको खुश करना

अब, बेटा जी, यह फेमस बात तो तूने सुनी हो होगी - 'जल्दी का काम, शैतान का!' तो पुत्तर मेरे, जल्दबाजी ना कर, वो कहते हैं ना 'टेक इट इज़ी'। धीरे धीरे शुरुवात कर और सेक्स का मज़ा बढा।

मैं तो कहूँगी की सेक्स मतलब इंटरकोर्स से पहले बहुत कुछ कर - चूमना, एक दुसरे के शरीर को सहलाना और, और भी बहुत कुछ! और लिंग के तनाव की चिंता दिमाग से बिलकुल निकाल दे। प्रीतम पुत्तर, तेरे लिए मेरी ख़ास टिप है की तू यह जानने की कोशिश कर की तेरी साथी को क्या पसंद है, और उसको सबसे मजेदार ओर्गास्म तू कैसे दे सकता है। यह सब करने से तू खुद भी उत्तेजित महसूस करेगा। और बदले में तेरी साथी भी तुझे पूरा यौन सुख देने की कोशिश करेगी। और हाँ उसको भी तो तसल्ली मिलेगी की तेरे लिंग के ठीक से ना तनने का कारण और वीर्यपात न होने का कारण यह नहीं की तुझे वो आकर्षक नहीं लगती, बल्कि यह तेरे दिमाग का ही फितूर है!

अगर तू ठीक से उत्तेजित होगा तो इससे तेरे शीघ्र वीर्यपात की समस्या पर भी फर्क पड़ेगा। लेकिन हाँ यह जन ले की इस बात की कोई गारंटी नहीं है की एस अकब तक चलेगा। ज़रूरी यह है की तुम दोनों सेक्स का पूरा मज़ा लो।

उत्सुक 

अब वापस आते है हस्तमैथुन पर। यह सच है की ज़्यादा हस्तमैथुन करने से लिंग की संवेदनशीलता में थोड़ी कमी आती है। और यह उन पुरुषों के लिए अच्छा है जिन्हें शीघ्र वीर्यपात की परेशानी है।

और यह सच है की देरी से वीर्यपात का कारण हस्तमैथुन हो सकता है। जो उत्तेजना आपको हस्तमैथुन के दौरान महसूस होती है, वो उससे बहुत अलग होती है जो आप इंटरकोर्स के दौरान महसूस करते हैं। इसमें सेक्स करने का तरीका, दबाव और पकड़ का भी हाथ होता है।

तो पुत्तर जी, हस्तमैथुन नहीं, अपने दिमाग के इस फितूर को भगाओ!

संतुष्ट करने के बहुत सारे तरीके

ओये पुत्तर, ऐसा कोई कानून थोड़ी ना है, जो यह कहता हो की चाहे आप पुरुष हो या महिला, इंटरकोर्स से दौरान ही ओर्गास्म होना चाहिए। सेक्स करने के बहुत सारे तरीके हैं, और तेरा साथी तुझे बहुत सारे तरीको से संतुष्ट कर सकता है - हाथों से, मुह से, स्तन से, योनि से। ओये दिखा उसे तेरी कला का जादू...दिखा दे की तू उसे बहुत कुछ दे सकता है। और हाँ उसको बता की उसकी ख़ुशी तेरे लिए बहुत ज़रूरी है।

चल अब रिलैक्स कर और चिल्ल मार! अपने हाथ का इस्तेमाल कर और अपनी गर्ल फ्रेंड को खुश कर दे। तो जी, धीरे और आराम से चलने वाले ही लम्बी रेस में आगे निकल जाते हैं!

फोटो: आंटी जी, thinqkreations 

अपने प्यार, सेक्स और रिश्तों से जुडे सवालों पर आपको अगर आंटी जी की राय चाहिए, तो ईमेल करिए।

क्या आप इस जानकारी को उपयोगी पाते हैं?

Comments
Don't worry! Jab tak aap apni zindagi ke baaki kaamo ko sahi samah de paa rahe hain, isme koi problem nahi hain. Hastmaithun ek safe/surakshit tareeka hai apni santushti karne ka. Isse koi nuksaan ya beemari nahin hoti. Yadi chahein toh bahut see activities hain, jinmein aap samya bitaa sakte hain jaise ki khel – games, gym ya koi hobbies…ok? Yeh bhi padhiye: https://lovematters.in/hi/resource/men-masturbating https://lovematters.in/hi/news/i-could-masturbate-anytime-anywhere Yadi aap is mudde par humse aur gehri charcha mein judna chahte hain toh hamare discussion board ‘Just Poocho’ mein zaroor shamil hon! https://lovematters.in/en/forum
Ab kya sthiti hai bete? Hastmaithun iska karan nahi ho sakta hai bete! Tension ya pressure ke karan bhee ling me tanav ki kami ki samasya ho sakti hai. Yeh samjh lijiey ki ling me tanav ke liye bilkul tanav mukt hona zaruri hai bête. Aur yadi shareer menin uttejna adhik hogi, sex ki bhavna zyada hogi toh shighrpatan hone ki sambhavna bhi adhik ho sakti hai. Aisee stithi mein, partner par focus badhana, foreplay , pravesh karne se pehle bahut se alag alag kriyaein karna , jinse dono ko aanand mile, apne partner kee uttejna badhana, yeh sab activities sabse zaroori hain. Iske ilava, partner ke saath sex karne se pehle, ek baar hastmaithun kar saktey hain, utne samay pehele jitne mein ling mein tanaav aa jaaye. Condom ka istemaal bhi jaldi discharge kum karne mein madadgaar saabit ho sakta hai. Yaha padhiye: https://lovematters.in/hi/news/4-signs-you-have-erectile-dysfunction https://lovematters.in/hi/news/premature-ejaculation-top-five-facts https://lovematters.in/hi/making-love/sex-problems-how-to-overcome-them/i-ejaculate-too-soon-help Yadi aap is mudde par humse aur gehri charcha mein judna chahte hain to hamare discussion board “Just Poocho” mein zaroor shamil ho! https://lovematters.in/en/forum
Monis bete, iske liye hastmaithun ko zimmedaar mat maaniye kyunki yeh ek safe/surakshit tareeka hai apni santushti karne ka. Isse koi nuksaan ya beemari nahin hoti. Yadi chahein toh bahut see activities hain, jinmein aap samya bitaa sakte hain jaise ki khel – games, gym ya koi hobbies…ok? Yeh bhi padhiye: https://lovematters.in/hi/resource/men-masturbating https://lovematters.in/hi/news/i-could-masturbate-anytime-anywhere https://lovematters.in/hi/making-love/sex-problems-how-to-overcome-them/are-my-sex-problems-caused-by-masturbation Kahin aap kisi tension, pressure mein toh nahi hain na? Yeh samjh lijiye ki sex karne ke liye bilkul tanav mukt hona zaroori hai bête. Iss baare mein aur yaha padh lo : https://lovematters.in/hi/news/4-signs-you-have-erectile-dysfunction https://lovematters.in/hi/news/erection-trouble-where-turn Yadi aap is mudde par humse aur gehri charcha mein judna chahte hain toh hamare discussion board ‘Just Poocho’ mein zaroor shamil hon! https://lovematters.in/en/forum
Rishi bete iske liye apni partner ki body ko samjh lijiye- usko time dijiye. Partner par focus badhana, foreplay, yaani ki pravesh karne se pehle bahut se alag alag kriyaein karna, apne partner kee uttejna badhana, yeh sab activitys sabse zaroori hain. Yeh links bhee padh lijiye: https://lovematters.in/hi/news/how-can-i-please-my-wife-bed https://lovematters.in/hi/resource/her-orgasms Yadi aap is mudde par humse aur gehri charcha mein judna chahte hain to hamare discussion board “Just Poocho” mein zaroor shamil ho! https://lovematters.in/en/forum
Sorry bete hum kisi dawa ke baare mein aapko nahi bata sakte hain aur is tarah bina panjikrit doctor ke salah ke kisi bhee dawa ka istemaal swashth nahi hota hai. Aur hastmaithun se fertility par koi asar nahi hota hai, yeh ek safe surakshit tarika hai apni santushti ka, isse koi bimari ya koi nuksan nahi hota hai. Kya aap iske baare mein kisi visheshgya ya panjikrit doctor se consult kiye hai? Please kisi achchhe panjikrit doctor se consult kijiye aur doctor ke nirdesh ka palan kijiye. All the best! Aur pregnancy ke tips yaha bhee pahdiye: https://lovematters.in/hi/resource/tips https://lovematters.in/hi/resource/pregnancy Yadi aap is mudde par humse aur gehri charcha mein judna chahte hain to hamare discussion board “Just Poocho” mein zaroor shamil ho! https://lovematters.in/en/forum
नई टिप्पणी जोड़ें

Comment

  • अनुमति रखने वाले HTML टैगस: <a href hreflang>