Woman having erotic thoughts during sex
Shutterstock / Sassystock / Love Matters

कामुक मस्तिष्क शक्ति- महिलाएं ओर्गास्म तक कैसे पहुंचें

द्वारा Sarah Moses सितम्बर 20, 02:05 बजे
ऐसा क्यों है कि कुछ महिलाओं को आसानी से ओर्गास्म हो जाता है जबकि कुछ महिलाएं काफी कोशिश करके भी चरम तक नहीं पहुँच पातीं? फ्रेंच शोधकर्ताओं के अनुसार इसका असली राज़ दिमाग कि कामुक शक्ति में छुपा हैI पेश है सेक्स और विज्ञानं श्रृंखला में महिलाओं के ओर्गास्म पर हमारी तीसरी और आखिरी पेशकशI

ये उन लोगों के लिए शुभ समाचार है जिन्हे उतनी बार ओर्गास्म नहीं हो पता जितना कि वो चाहते हैंI ओर्गास्म तक पहुंचना सिर्फ आपकी और आपके साथी की प्या करने की कला और तकनीक तक सीमित नहीं हैI सेक्सी महसूस करना और ध्यान केन्द्रित करना भी बहुत आवश्यक हैI

ओर्गास्म तक न पहुंचा पाना आम सेक्स समस्या है, इसलिए फ्रांस के शोधकर्ताओं के एक समूह ने इस बारे में अध्यन करने की ठानी, उन् महिलाओं के बीच फर्क जानने के लिए जिन्हे आसानी से ओर्गास्म हो पाता था और वो महिलाएं जिन्हे कोशिश करने पर भी ये सुख हासिल नहीं हो पा रहा थाI

शोधकर्ताओं ने 251 महिलाओं से सर्वे की प्रश्नावली के ज़रिये पूछा कि क्या उन्हें सेक्स के दौरान या फिर हस्तमैथुन से ओर्गास्म हो पाता है, वो अपने आप को उत्तेजना के इस चरम तक पहुँचाने के लिए क्या करती हैं और ऐसा करते समय उनके मनोभाव और विचार क्या रहते हैं? फिर उन्होंने दोनों समूह की महिलाओं की प्रतिक्रियाओं का विश्लेषण कियाI

तीस प्रतिशत महिलाओं को ओर्गास्म होता ही नहीं था, भले ही वो कितनी भी कोशिश क्यों न कर लेंI और फिर ये पता चला कि वो क्या हैं, और वो अपने बारे में कैसा महसूस करती हैं, इस बात का असर उनकी इन् कोशिशों कि विफलता पर भी पड़ता हैI

उस पल पर ध्यान केंद्रित

हस्तमैथुन के समय तो लगभग सभी महिलाओं के दिमाग में कामुक ख्याल थे, लेकिन जो महिलाएं पार्टनर के साथ सेक्स के दौरान भी गहरी कामुक कल्पनाओं में गोते खा रही थी, उन्हें ओर्गास्म होने कि सम्भावना दूसरी महिलाओं कि अपेक्षा अधिक थीI इन् महिलाओं का शरीक संवेदनाओं पर ध्यान भी अधिक केंद्रित थाI

इस अध्यन ने ये भी दर्शाया कि सेक्स के दौरान अपने शरीर को उचित महत्त्व देना भी इस दिशा में बढ़ने कि सही राह थीI ये भी सामने आया कि महिलाओं का इस पल में रहना ज़रूरी है बिना अपना ध्यान और दिमाग कहीं और भटकाएI अपने शरीर और सेक्स प्रदर्शन को लेकर नकारात्मक और हीन भावनाओं वाले भाव से बचना बेहद ज़रूरी हैI

दोनों महिला समूहों में एक भावनात्मक अंतर भी थाI जिन महिलाओं को आसानी से ओर्गास्म होता था वो महिलाएं सेक्स का लुत्फ़ बिना किसी मानसिक तनाव के उठाती हैंI और यह समझना काफी आसान है कि जब तनाव को किनारे कर लुत्फ़ उठाया जाये तो मंज़िल तक पहुंचना आसान होगाI

रोमांचक

ओर्गास्म तक पहुंचना और न पहुंचना केवल विचारों और मनोदशा तक ही सीमित नहीं थाI जिन महिलाओं को ओर्गास्म आसानी से होता था वो, बैडरूम में काफी रोमांचक और उत्साहित थीं, अध्यन से पता चलाI वो नए प्रयोगों के लिए सदैव तैयार थींI

तो यदि आपको भी ओर्गास्म तक पहुँच पाने में कठिनाई हो रही है तो कामुक ख्यालों, कल्पनाओं और ध्यान को इस पल में केंद्रित करने के लिए थोड़ी कोशिश और करके देखें, ये छोटी सी कोशिश आपके अनुभव को आनंद के नए आयाम तक ज़रूर पहुंचाएगीI

सन्दर्भ: ऑर्गैस्मिक महिलाएं कौन हैं? फ्रेंच भाषी महिला समुदाय कि एक अन्वेषी पेशकश

क्या आप इस जानकारी को उपयोगी पाते हैं?

Comments
नई टिप्पणी जोड़ें

Comment

  • अनुमति रखने वाले HTML टैगस: <a href hreflang>