oral sex and aunty ji
© Love Matters India

क्या ओरल सेक्स से मुझे एचआईवी हो सकता है?

द्वारा Auntyji दिसंबर 28, 01:28 बजे
नमस्ते आंटी जी, मैंने एक सेक्स वर्कर के साथ ओरल सेक्स किया था, क्या मुझे एचआईवी हो जाएगा? उदय, 23 वर्ष, जयपुर

आंटी जी कहती हैं- अरे बेटा... एचआईवी के सभी ज़ोखिम सेक्स वर्कर से ही क्यों जु़ड़े होंगे...आओ इस पर विस्तार से बात करते हैं।

सबसे कम

तो बेटा उदय, सबसे पहले तुम्हारी चिंता दूर कर देती हूं - अपने आप में महज ओरल सेक्स से एचआईवी की संभावना अपेक्षाकृत कम होती है। इस पर कई मत और सिद्धांत हैं- तुम्हें इस विषय पर कई एक जैसे तो कई विपरीत तर्क मिलेंगे।

लेकिन जब तक बहुत प्रतिकूल परिस्थितियां ना हों जैसे कि जननांगो पर गहरे घाव, मसूड़ों से खून बहना, मुंह या जननांगों से खून का रिसाव आदि , तब तक ओरल सेक्स से एचआईवी की संभावना सेक्स से जुड़ी अन्य गतिविधियों की तुलना में कम होती है। यदि ऊपर दी गई कोई भी स्थिति आपमें मौज़ूद नहीं है तो आपको एचआईवी संक्रमित होने का ख़तरा कम है। 

अगला कदम 

इसके बावज़ूद क्या तुम्हें आराम से बैठकर सोचना चाहिए कि तुम कितना सुरक्षित हो? शायद नहीं। एक्सपोजर आख़िर एक्सपोजर है - इसलिए मेरी मानों तो टेस्ट कराना बेहतर होगा। उदाहरण के लिए माहवारी के दौरान ओरल सेक्स करना ज़ाहिर तौर पर खून के संपर्क में आए बिना ओरल सेक्स करने से ज़्यादा ज़ोखिम भरा हो सकता है।

इसी तरह ओरल सेक्स के दौरान स्खलन, जननांगों के किसी हिस्से या मुंह में घाव होना, घाव में कट लगना या जननांगों के द्वार पर घाव आदि की अनदेखी नहीं करनी चाहिए। इसलिए मैं हमेशा कहती हूं कि चाहे जिस भी तरह का ज़ोखिम हो, अनुमान लगाने या इंटरनेट पर मौज़ूद सभी जानकारियों पर निर्भर रहने के बजाय समय-समय पर परीक्षण कराते रहना चाहिए। टेस्ट कराओ और चिंता से मुक्त रहो।

एचआईवी / एसटीडी और हेपेटाइटिस का परीक्षण कराने के बाद तुम्हें बहुत अच्छा महसूस होगा। क्या तुम्हें मालूम है कि बहुत से युवा हमसे एचआईवी टेस्ट के बारे में सवाल पूछते हैं और एचआईवी या किसी अन्य संक्रमण से ग्रसित होने के अपने संदेह और डर को जाहिर करते हैं। और मैं हमेशा उन्हें एक ही ज़वाब देती हूं कि ‘जाओ पहले टेस्ट करवाओ।’

लोग यह सोचकर कि शायद वे एचआईवी से संक्रमित हैं, ख़ुद को बहुत परेशान, बीमार, उदास और भयभीत कर लेते हैं। जबकि हमारा बस इतना ही कहना है कि आप पहले टेस्ट कराएं उसी से आपका सारा डर और संदेह दूर हो जाएगा।

दूसरों पर दोष लगाना

इस मुद्दे पर विस्तार से बात करना मेरे लिए भी थोड़ा मुश्किल है बेटा। सभी ज़ोखिम हमेशा सेक्स वर्कर से ही क्यों जुड़े होते हैं जैसे संक्रमण का मुख्य वाहक वे ही हों? मैं तुम्हें बताती हूं कि वे भी हमारे ही जैसी हैं और उनसे अधिक ज़ोखिम नहीं है और उनके प्रति इस तरह का दृष्टिकोण ग़लत है।

सेक्स वर्कर्स की सेहत को लेकर कोई भी चिंतित और परेशान नहीं दिखता है! अगर सेक्स वर्कर को कुछ हो जाता है तो क्या होगा? शायद हम सभी को एक पहल करने की आवश्यकता है। वैसे भी सेक्स वर्कर ख़ुद को संक्रमित होने से बचाने के लिए बहुत सावधानी बरतती हैं, जैसे कि कंडोम लगाना और नियमित जांच करवाना। आख़िरकार उन्हें भी तो ख़तरे का डर रहता है।

सुरक्षा का ध्यान 

यहां तक कि ओरल सेक्स के दौरान भी आप सुरक्षा बरत सकते हैं। लोगों का मानना है कि ओरल सेक्स के दौरान सुरक्षा उपाय अपनाने से मज़ा किरकिरा हो जाता है। जबकि ऐसा कुछ नहीं है अगर आपको आपको मेरी बात पर भरोसा नहीं है तो मैं जो आगे बता रही हूँ उसे आजमायें।

क्या आप जानते हैं कि ओरल  सेक्स के दौरान डेंटल डैम (दंत प्रक्रियाओं में अधिक इस्तेमाल होने वाले) का उपयोग करने के अलावा आप नए कंडोम को बीच से काटकर भी उसका इस्तेमाल कर सकते हैं। जब आप इसे खोलते हैं तो यह लेटेक्स के आयताकार टुकड़े जैसा दिखता है जिसे ओरल सेक्स के दौरान योनि या गुदा पर रखा जा सकता है।

कोई भी अच्छा रंग, स्वाद या सुगंधयुक्त लैटेक्स चुनें जो कि आपको और आपके पार्टनर दोनों को पसंद हो। याद रखें सुरक्षित तरीके से सेक्स करना हमेशा मज़ेदार होता है। 

गोपनीयता बनाए रखने के लिए नाम बदल दिए गए हैं।

क्या आप कोई सवाल पूछना चाहते हैं? हमारे चर्चा मंच पर एलएम विशेषज्ञों से पूछें। हमारे फेसबुक पेज को चेक करना ना भूलें।


 

क्या आप इस जानकारी को उपयोगी पाते हैं?

Comments
नई टिप्पणी जोड़ें

Comment

  • अनुमति रखने वाले HTML टैगस: <a href hreflang>