medical check
© Love Matters

वाटर वाटर्स

वाटर वाटर्स, मोलस्कम कान्टेजिओसम नामक विषाणु (वायरस) से होते हैं। यह एक आम विषाणु संक्रमण है जो चमड़ी पर बुरा असर डालता है। यदि आप संक्रमित हो जाते हैं, तो आपकी चमड़ी पर द्रव या पानी से भरे फफोले निकल आते हैं।
आमतौर पर पानी वाले छाले अपने-आप ठीक हो जाते हैं।

वाटर वाटर्स कैसे होते हैं?

आपकी त्वचा के किसी दूसरे की त्वचा से सीधे संपर्क में आने से आपको वाटर वाटर्स हो सकते हैं। साथ ही किसी संक्रमित व्यक्ति के तौलिए का प्रयोग करने, उनके साथ नहाने या उनके कपड़े पहनने से भी ये आपको हो सकते हैं।

वाटर वाटर्स से कैसे बच सकते हैं?

1. हमेशा कंडोम का प्रयोग करें।
कंडोम आपको वाटर वार्ट्स से केवल तभी बचाते हैं जब आपके साथी के जननांगों पर वाटर वार्ट्स हों। वे उन हिस्सों पर हुए संक्रमण से आपको सुरक्षित नहीं रख सकते हैं जो कंडोम से ढके हुए नहीं हैं।

2. वाटर वार्ट्स से संक्रमित हिस्सों को ढक कर रखें। यदि आपके साथी वाटर वार्ट्स से संक्रमित हैं तो प्रभावित त्वचा को कपड़े या जीवाणुरहित पट्टी से ढक कर रखें। ऐसा करने पर आपको अपने साथी के नज़दीकी संपर्क में आने पर इनसे (संक्रमित होने से) सुरक्षा मिलती है।
3. अपने शरीर के छालों या फोड़ों को न छूएं।
अपने शरीर के छालों या फोड़ों को छूने, खुजली करने या फोड़ने या नोचने से बचें। अपने डॉक्टर से इनकी जांच कराएं, वरना आप अनचाहे अपने षरीर के दूसरे हिस्सों में विषाणु फैला सकते हैं।

 

वाटर वार्ट्स के लक्षण क्या हैं?

विषाणु (वायरस) से संक्रमित होने के दो से आठ हफ्तों के भीतर महिलाओं और पुरुषों में वाटर वार्ट्स के लक्षण नज़र आने लगते हैं।

महिलाओं और पुरुषों में वाटर वार्ट्स के लक्षण एक जैसे ही होते हैं। आम तौर पर ये आपके जननांगों, गुदा, जांघों और धड़ पर निकलते हैं।

वाटर वार्ट्स के लक्षणः

ऽ द्रव से भरे फफोले या छाले
ऽ फफोले या छाले अक्सर समूह में (एक साथ कई) निकलते हैं।

चित्रः  योनि के आस-पास वाटर वाट्र्स

ध्यान रहे, यदि आपको वाटर वार्ट्स हुए हैं, तो वह दिखाए गए इन चित्रों से बिलकुल अलग भी दिख सकते हैं! कभी-कभार कुछ भी नज़र नहीं आता। यदि आपको कोई षंका है, तो डॉक्टर के पास या क्लीनिक जाएं।

 

वाटर वार्ट्स की जांच कैसे कराएं?

आपके डाक्टर आपकी जांच कर बता सकते हैं कि आपको वाटर वार्ट्स हुए हैं कि नहीं। कभी-कभार आपके डाक्टर ऊतक (टिशू) का सैम्पल (बायोप्सी) लेकर इस बात की जांच करने के लिए भेज सकते हैं, कि आपको वाटर वार्ट्स ही निकले हैं और कुछ नहीं।

वाटर वार्ट्स से छुटकारा कैसे पाएं?

यदि आपको ये द्रव से भरे वाटर वार्ट्स हो गए हैं, तो आप अपने शरीर के दूसरे हिस्सों या दूसरे लोगों को भी वायरस फैला सकते हैं।

आम तौर पर आपका शरीर त्वचा पर होने वाले संक्रमण से 6 से 18 महीनों में अपने-आप छुटकारा पा लेता है। इसलिए दवाओं की सहायता से इन्हें दूर करने से पहले आपके डॉक्टर आपको, इनके अपने-आप ठीक होने का इंतज़ार करने की सलाह दे सकते हैं। आम तौर पर जब वाटर वार्ट्स खत्म हो जाते हैं तो संक्रमण भी चला जाता है। किंतु यदि आप किसी ऐसे व्यक्ति के संपर्क में आते हैं जिसे वाटर वार्ट्स हुए हैं तो आप इनसे फिर से संक्रमित हो सकते हैं।

वाटर वार्ट्स के इलाज के विकल्प
आपके शरीर के दूसरे हिस्सों या दूसरे लोगों को वाटर वार्ट्स का संक्रमण फैलने से रोकने के लिए आपको छालों को ऐसी पट्टी या कपड़े से ढक कर रखने की सलाह दी जाएगी जिससे षरीर के दूसरे अंगों पर पानी ना लग सके।

आप इन वाटर वार्ट्स को डाक्टर द्वारा निम्नलिखित किसी तरीके से भी हटवा सकते हैं:

  • उनको जमा कर (क्रायोथेरेपी)
  • उन पर लेज़र डालकर
  • छालों को काटकर या चीरा लगाकर या खुरच कर उनसे पानी बाहर निकालकर (क्यूरेटाज)

आम तौर पर आपके डॉक्टर आपको इनके अपने-आप ठीक होने का इंतज़ार करने की सलाह दे सकते हैं, क्योंकि इन तरीकों से कटे के निशान बन सकते हैं।

Comments
Add new comment

Comment

  • Allowed HTML tags: <a href hreflang>