How a breakup can affect your brain
Shutterstock / pathdoc

ब्रेअकप से होने वाली 5 दिमागी समस्याएं

द्वारा Harish P जुलाई 10, 06:59 बजे
वैसे तो हम सब जानते हैं कि ब्रेकअप के बाद क्या परेशानियों को झेलना पड़ता हैI लेकिन एक ब्रेकअप किस प्रकार हमारे दिमाग को प्रभावित करता, इस बारे में अभी भी काफ़ी कम जानकारी उपलब्ध हैI तो चलिए, आज फ़िर इसी बारे में बात करते हैं...
  1. दिल का दर्द भी शारीरिक दर्द जैसा ही है
    कोलंबिया विश्वविद्यालय के संज्ञानात्मक वैज्ञानिकों द्वारा किए गए एक अध्ययन से पता चला कि जब लोगों को उनकी उनकी पुरानी गर्लफ्रेंड या बॉयफ्रेंड की तसवीरें दिखाई गयी तो उनके दिमाग के उसी हिस्से में हरकतें हुई जिसमे तब होती हैं जब उनके हाथ में दर्द होता हैI लेकिन जब पुराने दोस्तों की तसवीरें दिखाई गयी तो ऐसा नहीं पाया गयाI इससे यही पता चलता है कि दिल के टूटने को भी हमारा दिमाग शरीर में कोई हड्डी टूटने जैसा ही समझता है और जिस प्रकार दांत के दर्द से दिमाग हटाना मुश्किल होता है, उसी प्रकार दिल के दर्द को भी आसानी से भूल पाना मुश्किल होता है!
     
  2. जैसे नशे की आदत छोड़ना
    अनुसंधान ने यह भी दावा किया है कि पूर्व प्रेमी के बारे में सोचने से दिमाग से डोपामाइन निकलता है और परिणामस्वरुप आपकी अपने पूर्व प्रेमी से मिलने की लालसा और प्रबल हो जाती है! नतीजा यह होता है कि आप अपने एक्स से मिलने और उसे वापस अपनी ज़िंदगी में लाने के लिए कुछ बेवकूफ़ी भरी कोशिशे भी कर बैठते हैंI यह बिलकुल वैसे ही काम करता है जैसे जब कोई नशे का आदि व्यक्ति नशा/सिगरेट/शराब छोड़ने की कोशिश कर रहा होता है तो उसका दिमाग बार-बार उसे उसकी ओर धकेलने  की कोशिश करता हैI  
     
  3. ब्रेकअप से बौद्धिक स्तर में कमी आती है, कम से कम शुरुआत में 
    अब पता चला कि ब्रेअकप के बाद इतने सारे लोगों के नम्बरो में भारी कमी क्यों आ जाती है! ओहिओ में केस वेस्टर्न रिजर्व विश्वविद्यालय में 2002 में हुए एक अध्ययन से पता चला कि अस्वीकृति विश्लेषणात्मक कौशल को 30 प्रतिशत तक और समग्र बौद्धिक स्तर को 25 प्रतिशत तक प्रभावित किया। रिश्ते में अस्वीकृति झेलने के बाद लोगों को आक्रामक होते हुए भी देखा गया! विशेषज्ञों के अनुसार ब्रेअकप के बाद आत्मनियंत्रण में कमी आ जाती है जिसके बिना समझदारी से काम लेना थोड़ा मुश्किल हो जाता हैI
     
  4. अपनी पहचान खोना
    वर्ष 2010 में एक मनोविज्ञान पत्रिका में प्रकाशित एक शोध पत्र में यह समझाया गया कि कैसे ब्रेअकप के बाद एक व्यक्ति अपनी पहचान ही खो बैठता हैI शोध का सार यह था कि जब कोई व्यक्ति एक गहरे रिश्ते में होता है तो उसकी ज़िंदगी अपने साथी की ज़िंदगी के साथ ऐसे गुंथ जाती है कि रिश्ता टूटने के बाद उसे लगता है कि ज़िंदगी का एक महत्त्वपूर्ण हिस्सा, एक ख़ास पहलु जैसे कहीं खो गयाI यही वजह है कि वो खुद ही भूल जाता है कि उसकी असली पहचान क्या है!
     
  5. उदास गाने सुनना अच्छा है
    घबराइए मत, हमारे पास आज आपके लिए सिर्फ़ उदासीन जानकारी ही नहीं हैI जो लोग ब्रेकअप से जूझ रहे हैं उनके लिए उदासीन संगीत रामबाण का काम करता हैI वैज्ञानिक शोध भी इसी ओर इशारा करता हैI बर्लिन में मौजूद फ्रीी यूनिवर्सिटी ने प्रयोग के द्वारा उस बात की पुष्टि की है, जिसके बारे में हमें अंदाज़ा तो पहले से ही था - कि उदास संगीत सुनने से एक उदास व्यक्ति का मूड बेहतर होता है!

हम देख सकते हैं कि सभी शोधों से यही पता चलता है कि दिल टूटने का दर्द किसी भी अन्य दर्द की तरह ही हैI यह एक प्राकृतिक प्रतिक्रिया है जिसे नज़रअंदाज़ ना करें बल्कि धैर्य और पक्के मन से इसका सामना करेंI समय के साथ और सही देखभाल की मदद से यह भी ठीक हो सकता है!

सन्दर्भ:

https://www.psychologytoday.com

http://www.apa.org

https://www.newscientist.com

https://www.livescience.com

अपनी ब्रेकअप कहानी हमें बताएंI क्या उसने आपको बुरी तरह प्रभावित किया था? अपनी विचार नीचे लिखकर या फेसबुक के ज़रिये हम तक पहुंचाएं I अगर आपके मन में कोई निजी सवाल हो तो हमारे चर्चा मंच का हिस्सा बनेंI  

क्या आप इस जानकारी को उपयोगी पाते हैं?

Comments
नई टिप्पणी जोड़ें

Comment

  • अनुमति रखने वाले HTML टैगस: <a href hreflang>