Transgender
AJP/Shutterstock

विपरीतलिंगियों के बारे में 6 प्रमुख मिथक

द्वारा Dr. Gaurav Deka अप्रैल 21, 11:56 पूर्वान्ह
विपरीतलिंगी, जिन्हें आमतौर पर हिजड़ा भी कहा जाता है आखिर कौन होते हैं? कितना जानते हैं हम इस तीसरे लिंग के बारे में? इनसे जुड़े 6 प्रचलित मिथकों के पीछा छुपा पूरा सच ढूंढ निकाला है लव मैटर्स नेI

यह लोग अपने लिंग को लेकर भ्रमित रहते हैं

सरासर गलत! 'विपरीतलिंगी' शब्द मोटे तौर पर उन सभी लोगों के लिए इस्तेमाल किया जाता है जिन्हें इस बात का आभास हो चुका होता है कि उनकी लैंगिक पहचान असल में वो नहीं है जिसके साथ उनका जन्म हुआ थाI वो अपनी पहचान को लेकर भ्रमित नहीं है बस जो वो अंदर से महसूस करते हैं बाहर से उनका शरीर उसके बिलकुल उलट हैI वो पुरुष, महिला या इंटरसेक्स कोई भी हो सकते हैंI

औरतों और मर्दों को लेकर हमारी एक स्थापित विचारधारा है, लेकिन इसका यह मतलब कतई नहीं है कि इस बारे में कुछ लोगों की सोच अलग नहीं हो सकतीI विपरीतलिंगी होना "है या नहीं" वाली स्थिति नहीं हैI इन लोगों की एक अलग लैंगिक पहचान होती है, जिसके बारे में यह भली भांति परिचित होते हैंI असल में देखा जाए तो शायद भ्रमित यह लोग नहीं होते बल्कि इनके आसपास वाले होते हैं जिनकी लैंगिक पहचान को लेकर समझ महिला और पुरुष तक ही सीमित होती हैI

यह सभी समलैंगिक होते हैं

लैंगिक पहचान और लैंगिक रुझान दो अलग बातें हैंI लैंगिक पहचान से अर्थ है कि आप कैसा महसूस करते हैं और लैंगिक रुझान से तात्पर्य है कि आप किस लिंग के प्रति आकर्षित हैंI यह बिलकुल ज़रूरी नहीं है कि विपरीतलिंगी व्यक्ति समलैंगिक ही होगाI वैसे भी, सिर्फ इन्हे देखकर यह कहना मुश्किल हैI

यह मानसिक रूप से असंतुलित होते हैं

हिजड़ा होना कोई मानसिक रोग नहीं है, यह तो वो पहचान है जो आप अंदर से महसूस करते हैंI हमारे पुरुष प्रधान समाज में एक विपरीतलिंगी व्यक्ति अपनी पहचान को लेकर शर्मिंदगी महसूस कर सकता है जो एक कटु अनुभव हो सकता हैI इसीलिए इन लोगों को भावनात्मक मदद और परामर्श की आवश्यकता होती है लेकिन इसका यह अर्थ नहीं निकालना चाहिए कि यह मानसिक रूप से असंतुलित है या मनोविकारी हैंI

केवल ड्रैग क्वीन और प्रतिजातीय वेशधारी ही विपरीतलिंगी होते हैं

ड्रैग क्वीन आमतौर पर वो समलैंगिक पुरुष होते हैं जिन्हे महिलाओं की तरह वस्त्र पहनना अच्छा लगता है और इसे वो अपनी अदाकारी दिखाने के लिए या लोगों के मनोरंजन के लिए भेी करते हैंI दूसरी और क्रॉस ड्रेसर या प्रतिजातीय वेशधारी व्यक्ति इस बात को लोगों को नहीं पता चलने देते कि उन्हें दूसरे लिंग की वेशभूषा धारण करना पसंद हैI

भारत में यह शब्द आमतौर पर उन पुरुषों के लिए इस्तेमाल किया जाता है जो ना सिर्फ़ औरतों की तरह कपड़े पहनना पसंद करते हैं बल्कि वो पुरुषों की और आकर्षित भी होते हैंI लेकिन इसका यह मतलब नहीं है कि उनकी लैंगिक पहचान वो नहीं है जिसके साथ उनका जन्म हुआ थाI विप्रीतलिंगियों की पहचान स्थायी होती है और वो उनकी वेशभूषा के साथ बदलती नहीं रहतीI

विपरीतलिंगी या हिजड़ा होना एक विकल्प है

जैसे आप अपना लैंगिक रुझान नहीं चुन सकते उसी प्रकार लैंगिक पहचान को भी चुना नहीं जा सकता, यह वो वो एहसास है जो आप अपने अंदर महसूस करते हैंI अब आप यह चुन तो नहीं सकते कि आप एक पुरुष बनेंगे या एक महिला? या आप एक पुरुष की ओर आकर्षित होंगे या एक महिला की ओर? आप तो वैसे ही रहेंगे जैसे आप हैंI

सभी विपरीतलिंगी लोगों को शल्य चिकित्सा की ज़रुरत पड़ती हैI

सर्जरी करवाना या नहीं करवाना एक निजी मामला है और ऐसा नहीं है कि हर विपरीतलिंगी व्यक्ति इसकी ज़रुरत महसूस करता हैI कुछ लोगों को शायद वो जैसे हैं उसमे कुछ भी असहज नहीं लगता, जबकि कुछ लोग ऐसे भी हैं जिनके लिए हार्मोन्स लेना महत्त्वपूर्ण हैI आप जिस प्रकार के हार्मोन्स लेंगे आपके शरीर में वैसे ही गुण विकसित होने शुरू हो जाएंगे, जैसे पुरुष हार्मोन्स लेने से मर्दाना गुण और महिला हार्मोन्स से जनाना गुणI कुछ लोगों के लिए इतना ही बहुत होता हैI लेकिन कुछ लोग अपने शरीर को पूरी तरह बदलना चाहते हैं और इसीलिए वो शल्य चिकित्सा का सहारा लेते हैंI

विपरीतलिंगी भावनाओं के बारे में बात करना चाहते हैं? हमारे फोरम जस्ट पूछो का हिस्सा बनें या फेसबुक के ज़रिये हमसे संपर्क करेंI

क्या आप इस जानकारी को उपयोगी पाते हैं?

Comments
नई टिप्पणी जोड़ें

Comment

  • अनुमति रखने वाले HTML टैगस: <a href hreflang>