18 + के लिए उचित

दृष्टिकोण एवं कानून

Gay couple
यह कहना काफी कम होगा की विश्व के विभिन्न भागों में समलैंगिकताको लेकर विभिन्न नज़रिए हैं। समलैंगिकता को लेकर लोगों के सांस्कृतिक एवं निजी नज़रिए बहुत पृथक हैं। कुछ लोग, सामान्यतः धार्मिक या परंपरागत कारणों से समलैंगिकता को शर्मनाक या पाप मानते हैं। समलैंगिक लोगों को पूर्वाग्रह एवं भेदभाव, घृणा एवं हिंसा का सामना करना पड़ सकता हैं।

दूसरी ओर, पूरे दुनिया में बहुत सारे लोग समलैंगिकता को सामान्य जीवन का एक हिस्सा मानते हैं। उनका मानना है की गे एवं लेस्बियन लोग भी विषमलैंगिक लोगों की तरह सम्मान के अधिकारी हैं।