महिला शरीर

'विशिष्ट महिला' जैसी कोई चीज नहीं है - हर किसी का शरीर थोड़ा अलग दिखता है। लेकिन इस खंड में हम उन हिस्सों के बारे में बात करेंगे जो हर महिला में समान होते हैं, जैसे कि किशोरावस्था में होने वाले बदलाव और वो देखभाल जिसकी एक स्वस्थ शरीर को आवश्यकता होती है।

तथ्य

साफ़-सफ़ाई

जब आप किसी को किस करते या चूमते हैं या सेक्स करते हैं तो बेहतर होगा की आप साफ़ सुथरे  हों और आपके पास से दुर्गंध न आ रही हो। आप अपने दाँत रोज़ ब्रुश करें, रोज़ नहाएँ एवं साफ़ सुथरे कपड़े पहने।

मासिक धर्म के बारे में आम पूछे गए सवाल

पेश हैं मासिक धर्म (माहवारी) के सन्दर्भ में पूछे जाने वाले आम सवाल - क्या माहवारी के दौरान सेक्स करने से आप गर्भवती हो सकती हैं? क्या बिना माहवारी हुए आपका अण्डोत्सर्ग हो सकता है? क्या आप जान सकते हैं कि आपका अण्डोत्सर्ग कब होगा? ये सब और बहुत कुछ...

किशोरावस्था

किशोरावस्था वह समय है जब आप बच्चे से वयस्क में बदलते हैं। यही वह समय भी है जब शरीर यौनिक रुप से परिपक्व होता है।

टॉक्सिक शॉक सिंड्रोम

टॉक्सिक शॉक सिंड्रोम, जीवाणु (बैक्टीरिया) से होने वाली एक बीमारी है। यह घातक है पर यह बहुत कम होती है।

पैड एवं टैम्पॉन

पैड (जिसे सैनिटरी पैड, सैनिटरी टावल, सैनिटरी नैप्किन भी कहते हैं )एवं टैम्पॉन मासिक धर्म के समय रक्तस्राव को सोखने के लिए उपयोग किए जाने वाले सबसे सामान्य उत्पाद हैं।

मासिक धर्म के समय दर्द

हो सकता है आपको मासिक धर्म के समय या उससे पहले कुछ परेशानियाँ होती हों। यदि आप को ऐसा नहीं होता है तो स्वयं को भाग्यशाली समझिए।

मासिक चक्र

हर महिला को किशोरावस्था में पहुँचने के बाद माहवारी (मासिक चक्र) शुरू होती है। पढ़िए यह कैसे होता है, इससे महिला के शरीर में क्या बदलाव आते हैं, और बहुत कुछ...

मासिक धर्म (पीरिएड्स) की शुरुआत

लड़कियों में मासिक धर्म 9 से 16 वर्ष की आयु के बीच शुरु हो सकता हैं। ऐसा होने का अर्थ है की आप किशोरावस्था के अन्तिम चरण में हैं और आप जब वे शारीरिक एवं यौनिक रुप से परिपक्व हो रही हैं।

महिला परिच्छेदन (फीमेल सर्कम्सिशन)

महिला परिछेदन एक प्राचीन परंपरा है, जिसके अंतर्गत लड़की या महिला के गुप्तांग को काट दिया जाता है। उस लड़की कि जाति और राष्ट्रीयता के मुताबिक़, गर्ल / महिला के गुप्तांग को पूरी तरह या गुप्तांग का कुछ हिस्सा काट दिया जाता है।

गुदा द्वार (एनस)

जहाँ आतें खुलती हैं, उसे गुदा द्वार कहते हैं - जहाँ से मल बाहर निकलता है। गुदा द्वार के आस पास छोटे बाल होते हैं जो अक्सर नितम्बों के बीच फ़ैले होते हैं।

योनि (वेजाइना) इत्यादि

महिला के यौनांग शरीर के अन्दर एवं बाहर होते हैं। ’योनि‘ शब्द का प्रयोग अक्सर महिला के जननांग या यौनांग के लिए किया जाता है जबकी योनि यौनांगों का सिर्फ एक भाग है। योनि एक नली या द्वार है जो बाहरी यौनांगों को भीतरी यौनांगों से जोड़ती है।

स्तन(ब्रेस्ट)

स्तन कई आकार व माप के हो सकते हैं। निप्पल के आकार व रंग में भी काफ़ी अंतर हो सकता है।

मासिक धर्म से जुड़े मिथक

मासिक धर्म (माहवारी) से जुड़े 5 सबसे आम मिथ्य एवं उनके सत्य: 1. माहवारी का खून गन्दा होता है। 2. माहवारी के दौरान शरीर का बहुत सारा खून बह जाता है। 3. अगर आपकी माहवारी किसी महीने ना आये तो आप गर्भवती हैं। 4. माहवारी के दौरान सेक्स करना सेहत के लिए खराब होता है। 5.अगर आपको माहवारी शुरू हो जाती है तो आप गर्भवती नहीं हैं।

वल्वा

वल्वा वह सब यौनांग हैं, जो की, महिला के शरीर से बाहर हैं, उनकी टांगों के बीच में।

मासिक धर्म (मेंसट्रुएशन)

किशोरावस्था के अन्त होते - होते मासिक धर्म की शुरुआत हो जाती है। इसका अर्थ है की लगभग एक महीने में एक बार योनि (वजाइना) से रक्तस्राव होता है।