18 + के लिए उचित

कैन्डिडा

medical check
कैन्डिडा फफूंद से होने वाला संक्रमण है। इसे खमीर संक्रमण (यीस्ट इन्फेक्षन) कैन्डिायासिस, मुखपाक (थ्रश) या जेनिटल कैन्डिडोसिस भी कहते हैं।

कैन्डिडा अक्सर कोई नुकसान न पहुंचाने वाले फफूंद के रूप में योनि, गुदा, मुंह और बिना खतना वाले पुरुशों के लिंग की आगे की चमड़ी के नीचे पनपता है। लेकिन जब यह बहुत अधिक बढ़ जाता है तो इन जगहों पर खुजली और तकलीफदेह लक्षण नज़र आने लगते हैं।

यह वास्तव में कोई यौनसंचारित रोग नहीं है। किंतु यह आपसे सेक्स सहित दूसरे कई तरह के व्यवहारों से दूसरों को हो सकती है। इसीलिए इसे एसटीडी खंड में षामिल किया गया है।

आम तौर पर, जब तक कि लक्षण न नज़र आने लगें, आपको इसका इलाज नहीं कराना पड़ता।