FGC
Shutterstock/Chinnapong

महिला परिच्छेदन (फीमेल सर्कम्सिशन)

महिला परिछेदन एक प्राचीन परंपरा है, जिसके अंतर्गत लड़की या महिला के गुप्तांग को काट दिया जाता है। उस लड़की कि जाति और राष्ट्रीयता के मुताबिक़, गर्ल / महिला के गुप्तांग को पूरी तरह या गुप्तांग का कुछ हिस्सा काट दिया जाता है।

महिला परिछेदन कि शुरुवात प्राचीन इजिप्ट (मिस्त्र) से हुई। ऐसा माना जाता है कि ये इजिप्ट से पश्चिम अफ्रीका और वहाँ से इंडोनेशिया व्यापार मार्ग  के ज़रिये इस्लाम धर्म कि शुरुवात के साथ फैलता चला गया।

महिला परिच्छेदन क्या है? महिला परिच्छेदन के विभिन्न प्रकार क्या हैं?

यह एक सदियों पुरानी परंपरा है जिसमें लड़की या महिला के जननांग का परिच्छेदन कर दिया जाता है।

 

Types of FGM
Shutterstock/Fang-Chun Liu

 

लड़की या महिला की राष्ट्रीयता एवं संस्कृति पर निर्भर करते हुए, उनके पूरे जननांग या उसका कुछ भाग हटा दिया जाता है।

परिच्छेदन, जननांगों का काटना या विकृति?

लव मैटर्स पर हम इस सदियों पुरानी परंपरा एवं मानवाधिकार के बीच की अविरत बहस से परिचित हैं। वहीं हम यह भी जानते हैं की किसी प्रकार का जननांग रुपान्तर - काटना, छेदना, जलाना या महिला जननांगों को फ़ैलाना - महिला के लिए जीवन भर के लिए गंभीर स्वास्थ्य समस्या पैदा कर सकता है। यह स्वास्थ्य समस्याएँ इतनी गंभीर हो सकती हैं, इसलिए हमने इसकी विभिन्न प्रक्रियाओं को महिला जननांग विकृति ही कहा जाना स्वीकार किया है।

फिर भी, उन लड़कियों एवं महिलाओं की मदद करने के लिए जिनका परिच्छेदन हो चुका है, हमने ’महिला जननांगों का काटना‘ या ’महिला परिच्छेदन‘ शब्दों का उपयोग करने का जागरुक निर्णय लिया है। इस निर्णय के पीछे इसके गंभीर स्वास्थ्य परिणामों को नकारना नहीं है बल्कि इससे पीडि़त लोगों को दोबारा चोट पहुँचाए बिना उन्हें उपयोगी जानकारी देना है।

हमारे मूलाधार

लड़कियाँ एवं महिलाएँ जिनका परिच्छेदन (सर्कम्सिशन) हो चुका है, उन्हें अक्सर इससे जुड़े स्वास्थ्य जोखि़मों के बारे में जानकारी नहीं होती । यदि जानकारी हो तो भी उन्हें दुर्गम कठिनाइयों का सामना करना पड़ता है।

कुछ संस्कृतियों में जन्म के बाद ही लड़कियों का परिच्छेदन कर दिया जाता है। अन्य संस्कृतियों में हो सकता है, लड़कियाँ और महिलाएँ ऐसी किसी महिला से कभी मिलें ही न जिनका परिच्छेदन न हुआ हो। और शायद ऐसी स्थिति में परिच्छेदन होना आम बात है।

तीन गुना आघातकिसी के जननांगों को विकृत या असमान्य कहना आघात को सुदृढ़ कर सकता है।

सबसे पहले, हो सकता है किसी लड़की या महिला को यह पता ही न हो की उनका परिच्छेदन हुआ है, और उन्हें पता लगने पर अपने जननांगों पर शर्मिंदगी हो सकती है।

दूसरा, संभवतः यह प्रक्रिया उनकी स्वीकृति के बिना की गई हो, अतः उन्हें अपने परिवार, समुदाय एवं धर्म द्वारा विश्वासघात की भावना हो सकती है।

और अंततः यह पता चलना की वे अनावश्यक ही इतनी परेशानियों का सामना कर रहीं थीं और यह प्रभाव जीवन भर उनके साथ रह सकता है, उनकी पीड़ा को बढ़ा सकता है।

आधुनिक आचरण

महिला परिच्छेदन (फीमेल सरकमसीज़न) का उद्गम प्राचीन मिस्र में देखा जा सकता है। यह माना जाता है की यह इस्लाम धर्म के साथ व्यापार के ज़रिए मिस्र से पश्चिमी अफ्रिका और इंडोनेशिया तक पहुँचा। यह आचरण इस्लाम, इसाई एवं यहूदी धर्म के पहले से चला आ रहा है।

यह अफ्रिका के 28 देशों में सामान्य रुप से अभ्यास किया जाता है और यह ओमान, संयुक्त अरब अमिरात एवं यमन में भी पाया जाता है।

एक बहुत कम हद तक यह भारत, इन्डोनेशिया, मलेशिया, पाकिस्तान और इराक़ के कुछ समुदायों में भी पाया जाता है।

इन देशों से प्रवास करने के बाद प्रवासियों ने इन अभ्यासों को अपने नए घरेलू देशों में भी ज़ारी रखा है जैसे कनाडा, यू एस, निदरलैंड्स, इटली, स्वीडन, यू के एवं ऑस्ट्रलिया।

चूँकी केवल 20 प्रतिशत मुसलमान ही महिला परिच्छेदन का अभ्यास करते हैं अतः यह सिर्फ़ मुसलमानों का रिवाज़ नहीं हो सकता है।

उल्लेखनीय है की कुछ इसाई और यहूदी भी इसका अभ्यास करते हैं।

क्या यह पुरुष परिच्छेदन (मेल सर्कम्सिशन) जैसा ही है?

संक्षेप में, नहीं। पुरुष परिच्छेदन में लिंग के सिरे को ढकने वाली त्वचा (फ़ोरस्किन) को हटाया जाता है। तुलनात्मक रुप से समान होने के लिए, महिला परिच्छेदन में सिर्फ़ टिठनी के टोप (क्लिटरल हुड) को ही हटाया जाना चाहिए। हालांकि, महिला परिच्छेदन के ज़्यादातर प्रकारों में इससे कहीं ज़्यादा होता है। (पुरुष एवं महिला परिच्छेदन की तुलना)

Female genital cutting

महिला परिच्छेदन की संख्या

विश्व स्वास्थ्य संगठन के अनुमान के अनुसार 100 से 140 मिलियन (दस लाख) लड़कियाँ एवं महिलाएँ किसी न किसी प्रकार के परिच्छेदन से गुज़र चुकी हैं।

और यह माना जाता है की हर साल 2 से 3 मिलियन महिला परिच्छेदन और होते हैं।

 

Comments
Hello, Rohit bete. Relax! Yaad rakhiye hastmaithun ek safe/surakshit tareeka hai apni santushti karne ka. Isse koi nuksaan ya beemari nahin hoti. Ling ke size mein ek apna teda pann hona is quite common bete. Don't worry, isse koi samsaya nahin hoti hai. Yeh padhiye zara: https://lovematters.in/en/resource/penis-shapes-and-sizes Yadi aap is mudde par humse aur gehri charcha mein judna chahte hain toh hamare discussion board “Just Poocho” mein zaroor shamil hon! https://lovematters.in/en/forum
Gopi beta jaldi ho ne se koi baat nahi, dont worry. So sabse pehle toh apni partner ki body ko samjh lijiye- unko time dijiye. Aur yadi shareer menin uttejna adhik hogi, sex ki bhavna zyada hogi toh shighrpatan hone ki sambhavna bhi adhik ho sakti hai. Aisee stithi mein, partner par focus badhana, foreplay , pravesh karne se pehle bahut se alag alag kriyaein karna , jinse dono ko aanand mile, apne partner kee uttejna badhana, yeh sab activities sabse zaroori hain. Iske ilava, partner ke saath sex karne se pehle, ek baar hastmaithun kar saktey hain, utne samay pehele jitne mein ling mein tanaav aa jaaye. Condom ka istemaal bhi jaldi discharge kum karne mein madadgaar saabit ho sakta hai. Yaha padhiye: https://lovematters.in/hi/news/premature-ejaculation-top-five-facts https://lovematters.in/hi/making-love/sex-problems-how-to-overcome-them/i-ejaculate-too-soon-help Yadi aap is mudde par humse aur gehri charcha mein judna chahte hain to hamare disccsion board “Just Poocho” mein zaroor shamil ho! https://lovematters.in/en/forum
hello mem, mai ek ladki se bahut pyar krta hu vo mujhse krti thi hmare pyar ko 7 years ho chile h. is beech hmne kareeb 500 bar sex kiya. or vo pragnent b hui 2 bar. but we abort the baby. but an vo ldki mere sath nai rhna chahti cos mai uske jiju ke brabar paise nai kamata hu abhi. hmne hr bar bina condom ke sex kiya hai kya isse koi problem ho sakti hai hormonal exchange hone se el dusre ki body se . uski choot n boobs ab kaafi fail gaye hai phle ke apekhsa but still I love her very much. kya kru samajh nai aa rha plz help me...
Bete is skin ko nahate samay halke se piche karke saaf karna hota hai jisse, waha saafai bani rahe, yadi aise karte samay koi zyada takleef ya blood araaha hai toh ek doctor se mill lo iskaye baaraye mein. Aur jaankari ke liye: https://lovematters.in/hi/resource/penis Yadi aap is mudde par humse aur gehri charcha mein judna chahte hain toh hamare discussion board “Just Poocho” mein zaroor shamil hon! https://lovematters.in/en/forum
Aap yeh sawal kis nazar se puch rahe hain? So isse koi samysa nahi hoti, Ab baat aati hai ki kya isse pregnancy ho sakti hai? toh nahi isse pregnancy nahi hoti lekin Kyunki Mukh maithun ka sabse ehem pehlu hai atyant saaf safai – dono partners keliye, iska dhyaan rakhiye. All the best beta. https://lovematters.in/hi/news/oral-sex-dos-and-donts-0 Yadi aap is mudde par humse aur gehri charcha mein judna chahte hain toh hamare discussion board “Just Poocho” mein zaroor shamil hon! https://lovematters.in/en/forum
Bête Pehli baar sex kartaye samaye kya karna hai kya nahi karna hai, aur first sex ko kese theek tarah se kiya jaye is bare mein aap yaha detail mein padh lijieye : https://lovematters.in/hi/news/first-time-sex-top-five-facts Saath hi sex activity mein alag-alag tariko ka istemal kartay huay isse kese aur mazzedaar banana hai is baaray mein yaha padhein: https://lovematters.in/hi/resource/ways-make-love https://lovematters.in/hi/resource/making-love Yadi aap is mudde par humse aur gehri charcha mein judna chahte hain toh hamare discussion board “Just Poocho” mein zaroor shamil hon! https://lovematters.in/en/forum
नई टिप्पणी जोड़ें

Comment

  • अनुमति रखने वाले HTML टैगस: <a href hreflang>