planning a wedding
© Love Matters | Rita Lino

आपकी शादी

शादी की योजना बनाना और उससे जुडी हर बात बेहद रोमांचक होती है - यह सपने की तरह होती हैं। नए कपडे, शॉपिंग तथा परिवार और दोस्तों के साथ बिताये गए हंसी-मज़ाक के पल आपका ध्यान इस बात से हटा सकती है कि शादी एक गंभीर विषय है। क्या आप इसमें (शादी) सही कारणों से हैं?

कई लोगों के लिए, उनकी शादी का दिन उनके जीवन का सबसे यादगार दिन होता हैं। शादी एक महत्वपूर्ण समारोह है और इसे जीवन की एक नई अवस्था के रूप में चिन्हित किया जाता हैं।

शादी के लिए सुझाव

कुछ जोड़े  भव्य विवाह समारोह का जबकि कुछ जोड़े सादे और कम आकर्षक विवाह समारोह का चयन करते हैं। समारोह कैसा भी हो शादियांतनावपूर्ण होने के लिए विख्यात है। यदि आप अपनी शादी की  योजना बना रहे हैं, तो हम आपको कुछ सुझाव दे रहे है जो आपको महत्वपूर्ण निर्णय लेने में मदद करेंगे :

 

● शादी की योजना बनाने और खर्च करने का कार्य कौन कर रहा है इसक पता लगाएं

 

भारत में राज्यों और समुदाय के अनुरूप शादी की योजना और मेजबानी करने के अलग-अलग नियम है। भारत के अधिकांश भागों में शादी में वधु पक्ष वाले वर पक्ष वालों की मेहमानदारीi करते हैं। कुछ प्रांतो में वर और वधु के माता -पिता शादी का खर्च एक साथ उठाते है। यदि ऐसा है तो आपके लिए अच्छा होगा कि आप अपने माता -पिता के साथ बैठकर शादी के बजट की योजना बनाएं।

 

पारदर्शिता बनाएं हुए उनसे पूछे की वो आप की शादी पर कितना खर्च कर सकते है। एक निश्चित धनराशि तय करे और उसी के अनुसार चले। अक्सर लोगों को लगता है की शादी में कोई कमी ना छूटें, चाहे उनके परिवार को इसके लिए किसी वित्तीय कठिनाई का सामना ही क्यों ना करना पड़े। लेकिन शादी को अधिक खर्चीला बनाने की जरुरत नहीं है, शादी प्यार और मोहब्बत मनाने का एक उत्सव है जिसमें दो लोग और उनके परिवार एक दूसरे के करीब आते हैंI यदि कुछ धन बच जाता हैं तो वो नवविवाहितों के काम आ सकता हैI हालांकि, कई लोग इसको आधुनिक विचारों से जोड़ते हैं और समाज की अपेक्षाओं को अधिक महत्वपूर्ण मानते हैं।

आप उन सामानों की सूची बनाएं जिन पर आपको वाकई खर्च करने की जरुरत है। 

अब अलग से उन वस्तुओं की सूची बनाये, जिनका आपके पास होना अच्छा है लेकिन आपको इनकी ज्यादा जरुरत नहीं है। अपनी प्राथमिकताएं तय करे और इन्ही के साथ आगे बढे।

 

कार्यों की सूची बनाएं। 

सुबह की रस्म (अनुष्ठान) की खरीदारी की सूची, खान-पान का प्रबंध करने वालो की सूची, मेहमानों की सूची आदि।

 

कार्यों को बाँट लें। 

ये कार्य आप अपने परिवार और करीबी दोस्तों के बीच निश्चित करे। कुछ को खाने की व्यवस्था के लिए, कुछ को अनुष्ठानों और पुजारियों का प्रबंधन करने के लिए और कुछ को निमंत्रण कार्ड बांटने का कार्य दें।

संतुलन बनाएं 

अपने और अपने परिवार की अपेक्षाओं के बीच संतुलन बनाएं।                            

 

कुछ ऐसे कामो में मन लगाएं जो आपको तनावमुक्त करें

शादी के आस पास के होने वाले कार्यों के दबाव के कारण आप थोड़े सनकी (पागल) हो सकते है। इसीलिए हर हफ्ते एक दिन की छुट्टी लेकर अपने होने वाले जीवसाथी के साथ वक़्त गुज़ारें।

दहेज

दुल्हन के परिवार की तरफ से दूल्हे को दिए जाने वाला धन, सम्पत्ति, आभूषण और उपहार सब दहेज़ होता है। दहेज का प्रचलन क्षेत्र, जाति और वर्ग के आधार पर होता  है। भारतीय कानून 1961 के तहत, दहेज की मांग करना, दहेज लेना अथवा दहेज देना अवैध है और इसके लिए 6 महीने या 2 साल की सजा का प्रावधान है। लेकिन दहेज आज भी एक प्रचलित प्रथा है। आजकल दहेज उपहार, दान, भेंट के रूप में या अच्छे प्रतिरूप को व्यक्त  करने के लिए दिया जाता है।

कुछ मामलों में पति अपनी पत्नी को भावनात्मक रूप से डराकर या शारीरिक चोट पहुँचाकर दहेेज की मांग करते हैं। कुछ मामलों में जहाँ, महिलाएं अपने पति और ससुराल वालों की  दहेज की मांग को पूरा नहीं कर पाती है उन्हें अत्यधिक अत्याचार और  पीड़ा पहुचाकर मार दिया जाता है या आत्महत्या करने लिए मजबूर किया जाता है। इस तरह की मौतों को दहेज हत्या कहा जाता है। महिलाओं के लिए अधिकार संस्था /वीमेनस  राइट्स ग्रुप्स( Women’s rights groups) ने भारत में हर साल दहेज से मरने वाली महिलाओं की संख्या 7000 आंकी हैं।

दहेज के लिए उत्पीड़न:  

यदि आपके पति या ससुराल वाले आपको दहेज के लिए परेशान करते है तो आप नज़दीकी पुलिस थाने में उनके खिलाफ केस दर्ज करा सकती है, क्योंकि भारतीय कानून के तहत दहेज वर्जित है और यह एक दंडनीय अपराध है। यदि आप स्वयं पुलिस के पास नहीं जा सकती है, तो आप एके लिए महिला अधिकारों के लिए कार्य कर रहे किसी भी (वीमेनस राइट्स/ women’s rights) गैर सरकारी संगठनों से सम्पर्क कर सकती है:

भारतीय महिला कल्याण फाउंडेशन (IWWF)

"http://www.womenwelfare.org/submitcomplaint.html"

 

हिंसा के खिलाफआवाज उठाएं  "http://standupagainstviolence.org/contact-us.html"

 

शक्ति शालिनी " http://shaktishalini.wordpress.com/about-us/

 

यदि आप इनमे किसी एक का इस्तेमाल करना चाहती है तो आप वकील से भी सम्पर्क कर सकती है।        

 

शादी से पहले होने वाली झिझक या घबराहट?

शादी से पेहले बहुत डर या झिझक महसूस करना बहुत ही आम है और स्वाभाविक भीI शादी की देहलीज़ पर पाओं रखने से पहले बहुत बार होने वाले वर वधु बड़े असमंजस में फँस जाते हैं, कि क्या यह सही फैसला है?, क्या यह सही व्यक्ति है?, क्या मेरा भािवषय सुकशित है? चिंता मत कीजिये आपके भी शादी से पहले के “तोते उड़ रहे हैं”I

शादी के दिन से पहले घबराहट और चिंता करना पूरी तरह सामान्य है। वैसे भी आप ऐसा कदम उठाने जा रहे है, जो आपके जीवन को पूरी तरह बदलने वाला है। आपकी घबराहट को दूर करने के लिए हम आपको कुछ सुझाव दे रहे है।

पहले यह फरक कर लें कि क्या आप शादी कि तनाव या टेंशन में हैं या फ़िर इस रिश्ते पर संदेह कर रहे हैं?

एक साथ शादी को योजना बनाना कठिन और तनावपूर्ण हो सकता है और शादी को लेकर थोड़ा नर्वस होना सामान्य है। ध्यान से सोचे, आप कैसा महसूस कर रहे हैं और वाकई में आपको कैसा महसूस हो रहा है। आप कल्पना करे यदि आपकी योजना बनाने की सारी समस्याए जादूई तरीके से दूर हो जाये, तो क्या आप अब भी चिंता करेंगे।

आप शादी की तैयारियों की हलचल से कुछ समय दूर रहे।

यदि आप शादी के तनाव से गुजर रहे है तो आप दोनों एक साथ कुछ महत्वपूर्ण समय साथ गुज़ारें।

यदि आपको अपने रिश्ते पर ही शक या संदेह हो रहा है-

तो उसे अनसुना ना करें और एक बार गंभीरता से फ़िर सोच लेंI

शादी को लेकर अपने डर के बारे में अपने भावी साथी से बात करें।

क्या वो डर आपकी व्यक्तिगत आजादी या स्वतंत्रता खोना, या आपके साथी के व्यक्तित्व और चरित्र  को लेकर है।

 

आप अपने रिश्ते में रही या आने वाली समस्याओं को दूर करने के बारे में सोचे।

क्या आपका आपका साथी के विचार भी आपके समाधानों से मेल खाते हैं?

 

 ● शादी के आस पास होने वाले दबाव के कारण शादी नहीं करे।

बेशक सारा संसार भविष्य में आपसे शादी की उम्मीद कर रहा हो, लेकिन यदि आपको शादी को लेकर कोई गंभीर शक है, तो आप इसे   स्थगित कर सकते हैं और चीजों को आराम से और शांतिपूर्वक गौर सकते हैंI

एक कदम पीछे हटे और इस शादी के बारे में दोबारा सोचेंI

आप इस एक दिन की वजह से किसी भी प्रकार को कोई गलत कदम ना उठाएंI

यदि आप इस स्थिति में कुछ मदद पाना चाहते है-

तो आप कॉउंसलर की मदद ले सकते हैंI        

शादी की रात

शादी हो चुकी हैI रिसेप्शन पार्टी शानदार रहीI मेहमान जा चुके है और अब आप दोनों अपनी शादी की पहली रात के लिए जा रहे हैI कुछ जोड़े शादी की पहली रात से पहले ही एक दूसरे के साथ सेक्स कर चुके है, वहीं कई जोड़ो के लिए यह एक साथ पहली बार हैI                

 

यदि आप कुंवारी है और आपने पहले कभी अपने साथी के साथ सेक्स नहीं किया है,तो आपके लिए अपनी  शादी की रात नर्वस(बैचैन) होना सामान्य  हैI लेकिन हम यहाँ आपकी मदद के लिए हैंI

यहाँ शादी की रात के डर को दूर करने के लिए कुछ सुझाव दिए गए है: लव मैटर्स को खोजे और यहाँ से जितना हो सके उतना सेक्स के बारे जानेI प्यार के बारे में हमारी सभी जानकारियों को पढ़े "https://lovematters.in/en/resource/making-love" और पहली बार सेक्स के लिए हमारे दस सुझावों की  टिप्स को ध्यान में रखेंI

 

आप जितना अधिक सेक्स के बारे में जानेगे, आपकी चिंताएं उतनी ही कम होंगीI                                              

 

 ● सेक्स के बारे में बात करेI

आप अपने साथी से सेक्स के बारे में बात करने में असहज हैं, इसके कई कारण हो सकते हैI आप इसको आगे नहीं बढ़ाना चाहते हैI आपको इसके बारे में ज्यादा नहीं पता है, यदि आप सेक्स के बारे में जानते है तो इसका ये मतलब नहीं है की आपने सेक्स किया हो, ये तो केवल होमवर्क करने जैसा हैI अच्छे सेक्स का राज़ बातचीत होती है, आप अपने साथी की इच्छाओं और चिंताओं को लेकर जितना खुले और ईमानदार होंगे सेक्स आप दोनों के लिए उतना ही अधिक अच्छा(होगाI सुझावों के लिए सेक्स के बारे में और अधिक यहाँ से पढ़े

 

● पहली रात के तनाव को कम करेI

यदि आप नहीं चाहते है, तो ये जरुरी नहीं की आप पहली रात को सेक्स करेI कई जोड़ों को शादी के बाद तुरंत बाद सेक्स करना सही/ ठीक नहीं लगता हैI यदि आप  शादी के बाद काफी थक गए है और इसके बाद आप एक प्रभावशाली सेक्स की शुरुवात नहीं कर सकते हैI आप एक दुसरे के साथ आलिंगन करते हुए एक अच्छी नींद ले और सुबह नई ऊर्जा के साथ और प्रफुल्लित होकर उठेI

● तनाव मुक्त होने के लिए बाते करेI

शादी कैसे रही, खाना कैसा रहा, लोगों की पोशाक के बारें में, शादी में सबसे ज्यादा किसने मजे किए, कुछ इस तरह की मजेदार बातें करेI

● यदि आप नर्वस हैतो ईमानदार रहे और अपने साथी को बतायेI

हो सकता है आपका साथी भी ऐसा ही महसूस कर रहा होI

● इसे (सेक्स) धीमी गति से लेI

जल्दबाज़ी में कुछ भी नहीं करेI संभोग पूर्व क्रीड़ा में बहुत अधिक लिप्त रहेI एक दूसरे चूमे, छुए और प्यार से स्पर्श करेI इसे चरम तक ले जायेI एक दूसरे के लिए प्यार महसूस कराएI यह आप पर निर्भर करता है की आप दोनों के लिए सेक्स एक दर्दनाक हादसा हो या फिर एक यादगार लम्हाI

● अपने साथी की शारीरिक भाषा पर ध्यान देI

उनकी भावनाओं और उत्तेजनाओं का जवाब देI यदि आप किसी उलझन, डर या दर्द में है तो उन्हें प्यार से बताएंI जब तक आप एक दुसरे के साथ सहज नहीं हो जाते है तब तक आप सेक्स को विलम्बित कर सकते हैंI

 

● यदि लिंग में तनाव ना आ रहा हो या जल्दी ढीला हो रहा होतो इस बात से घबराएं नहींI

यह बहुत आम स्तिथि हैं जो कि सेक्स करने के दबाव या टेंशन कि वजह से हो सकती हैंI रिलैक्स रहे और महिलाएं याद रखें कि ना ही यह आपकी वजह से हैं और ना ही आप में कुछ कमी हैI महिलाएं भी इस में योगदान दे सकती हैं, अपने साथी को रिलैक्स करके और सेक्स और उन में रुचि दिखा केI

 

● ब्लीडिंग हुई या नहीं हुईइसको लेकर बड़ा मुद्दा नहीं बनाएI

पहली बार सेक्स के दौरान यदि महिला की हायमन झिल्ली टूट जाती है तो उसे ब्लीडिंग होती हैI पहली पार सेक्स के दौरान यह माना जाता है कि लड़की कि कौमार्य या पवित्रता कि केवल एक ही निशानी है और वह यह कि योनि से खून आयेI यह एक बड़ा मिथक है क्यूंकि ब्लीडिंग ना होना कौमार्य या पवित्रता का कोई प्रमाण नहींI हायमन और कौमार्य से संबधित सभी  मिथक और सवालों के बारे यहाँ से जानेI

● सेक्स करते हुए ज़्यादा उग्र ना होयेंऐसा माना जाता है की महिलाओं को पहली बार दर्द होता हैI

उनके इस दर्द को कम करने के लिए उन्हें पूरी तरह सहज महसूस करवाने की चेष्टा करें और सेक्स की अन्य क्रियाओं को समय दें जिससे उनकी योनि नम या गीली हो जाये और वो तनाव में नहीं आयेI उन्हें भरपूर प्यार करें और सेक्स के लिए आगे बढ़ने से पहले सम्भोग पूर्व क्रिया में ज़्यादा से ज़्यादा समय व्यतीत करें और इन बातों पर खासा ध्यान दे कि उन्हें क्या चीज़ें उत्तेजित करते हैंI उन्हें प्यार करने से सम्बधित सुझावों को जानने के लिए यहाँ सम्पर्क करेI

 

● यदि आप अभी बच्चे के बारे में नहीं सोच रहे हैतो आप निश्चित ही गर्भनिरोधक का इस्तेमाल करेI

शादी की अगली ही सुबह से प्रेगनेंसी के बारे में सोचना शुरू कर देना हालातों को गंभीर बना सकता हैI   गलती करने से अच्छा है सुरक्षित रहनाI गर्भनिरोधन के उपायों के बारे और अधिक पढने और आपके लिए कौनसे उपाय अनुकूल होंगे, इनके बारे में जानने के लिए FPA India से  सम्पर्क करेI

 

और अधिक जानकारी के लिए देखे "शादी की रात क्या करे और क्या नहीं करे"I

नवविवाहित

कुछ लोगों के लिए, शादी के शुरुवात के दिन सपनों की तरह होते हैI यदि आप अपने साथी के साथ कई सालों से लम्बे रिश्ते में है, तब भी यह अध्याय आपके जीवन में एक नई शुरुवात की तरह होता हैI

बहुत से जोड़ें शादी के बाद हनीमून पर जाते हैI वैसे भी शादी के तनाव और हलचल/भीड़-भाड़ के बाद आप इस तरह के अवकाश के हक़दार हैI अंततः आप दोनों को परिवार और दोस्तों से दूर, एक दुसरे के साथ समय बिताने का मौका मिल ही जाता हैI यदि आपने शादी से पहले कभी सेक्स नहीं किया है तो हनीमून एक दुसरे को जानने के लिए बिलकुल सही समय हैI

 

लेकिन शादी होने के साथ ही आपके जीवन में कई सारे बदलाव आते हैI सबसे पहले आपकी पहचान बदल जाती हैI आप को लग सकता है कि आप अपनी पहचान अपने साथी के साथ बाँट रहे हैI आपको महसूस हो सकता है कि लोग आपको अकेले व्यक्ति की बजाय एक हिस्से के रूप में देखते हैI ये चीजे आपको परेशान और असहज बना सकती हैI कई बार आपको लगेगा की आप अपनी स्वतंत्रता खो रहे है और आपको अपना पूरा जीवन किसी और के साथ समायोजित करना हैI

अधिकतर नवविवाहितों के लिए अचानक आया यह बदलाव चुनौतीपूर्ण होता हैI और ये चुनौतियां चाहे लव मैरिज और अर्रंज मैरिज दोनों में होती हैI

 

इन चुनौत्तियों से सामना करने के लिए हम आपको कुछ सुझाव दे रहे है:

शादी से आपकी जो उम्मीदे है उन्हें अपने साथी से बांटे

शादी से जुड़े हर्षोल्लास के साथ-साथ यह कई सारी चुनौतियां भी लाती हैI इस संघर्ष से बचने के लिए अपने साथी के साथ बैठे और एक दूसरे से जुडी अपनी उम्मीदों को लेकर चर्चा करेI

यदि आप को किसी बात पर गुस्सा आ रहा है तो इसे खुलकर सामने लाएंI

यदि आप इससे पहले एक साथ नहीं रहे है तो खूब सारे आश्चर्य के लिए तैयार हो जाएँI आपके साथी की कुछ बुरी आदतें और संगती कुछ ऐसे मुद्दे हो सकते हैं जिनके बारे में आप नहीं जानतेI आप इन परेशानियों को बात करके कम कर सकते हैंI

अपने घर की सार संभाल या देख-भाल करेंI

आप को यह थोड़ा अजीब लगे, लेकिन अपने रिश्ते में एक दुसरे की जिम्मेदारियां को लेकर अनुमान नहीं लगाएंI घर से जुड़ी एक दूसरे की उम्मीदों को लेकर स्पष्ट रहेI आप दोनों एक दंपत्ति होने के अलावा घर के सदस्य भी हैंI

अपने जीवनसाथी के परिवार की जरूरतों का ध्यान रखे,

यदि आप अपने ससुराल में रहने वाली हैं तो आपको नई चुनौतियों का सामना करना पड़ सकता हैI आपको ना केवल अपने पति के साथ सामंजस्य बिठाना बल्कि आप को अपने आप को सहज रखते हुए अन्य लोगो के साथ भी उचित संतुलन बनाना हैI हमारे शीर्ष युक्तियाँ पढ़ें: यदि आप अपने ससुराल वालों के साथ रह रहे है

अपने पैसों का प्रबंध ठीक ढंग से करे

शादी टूटने का सबसे बड़ा कारण पैसा हैI इसीलिए पैसों के बारे में अपने निर्णय स्पष्ट रखेI क्या आप और आपके साथी एक संयुक्त खाता रखना चाहते है? या फिर आप हमेशा व्यक्तिगत खाता ही रखेंगे?  क्या आप में से एक आर्थिक रूप से दूसरे पर निर्भर होगा? इन सभी के क्या परिणाम हो सकते हैं, इनका अनुमान लगाएंI

झगड़ों को लेकर निष्पक्ष रहेI

आपस में बहस और झगड़ों का होना स्वाभाविक है, लेकिन महत्वपूर्ण ये है की आप इसको  कैसे लेते है, और झगड़े के बाद आप क्या करते हैI सुझाव के लिए हमारे " झगड़ें होने पर क्या करे और क्या नहीं करे" को जानेI

अपने प्यार और सेक्स को "सरप्राइज" (आश्चर्य) के साथ मजेदार बनायेI

शादी का ये मतलब नहीं की रोमांस ख़त्म हो गयाI आप एक दुसरे के बीच बोरियत ना आने देI यह सुनिश्चित करें कि आप को शादीशुदा जीवन को केवल जीना नहीं है बल्कि उसका आनंद लेना हैI

एक दूसरे को करीब से जानेI

शादी अपने साथी को एक बहुत ही अंतरंग स्तर पर जानने का अनोखा अवसर हैI एक दूसरे के साथ अपने सपनों को बाटेंI शादी की इस प्रक्रिया में, हो सकता हैं कि आप अपने आप में भी कुछ नया अवलोकन करते हैI

क्या आप इस जानकारी को उपयोगी पाते हैं?

Comments
Hmmm! Hindu dharm mein bhi bahut se alag riti rivaaz hai na. Toh jab ki north india mein ye dharm aur sanskriti ke khilaaf maana jaata hai, kuch pranton mein nahin. Beta. Suno. Koi kisi se shaadi na kar pane ki vajeh se marr gaya ho yeh itna common nahin. Rishtedaari mein shaadi bahut kathin hai beta. Uske liye bahut tayyari karni hoti hai. bahut sehna hota hai. Kya is sab ke liye aap tayyar ho beta? Its not easy!! Aur what about your gf/cousin sister… kya who yeh sab see lengee? Lijiye yeh padh leejiye, shayad koi madad mile. https://lovematters.in/hi/news/it-ok-marry-my-cousin Yadi aap is mudde par humse aur gehri charcha mein judna chahte hain toh hamare discussion board “Just Poocho” mein zaroor shamil hon! https://lovematters.in/en/forum
Subham bete Indian kanun ke baare mein aap kisi lawyer ya wakeel se jaankari le sakte hain lekin Hindu dharm mein bhi bahut se alag reetee rivaaz hai na. SO jab ki north india mein ye dharm aur sanskriti ke khilaaf maana jaata hai, kuch pranton mein nahin. Rishtedaari mein shaadi bahut kathin hai beta. Uske liye bahut tayyar karnee hoti hai. bahut sehna hota hai. Kya is sab ke liye aap tayyar ho beta? Its not easy!! Aur what about your gf / cousin sister… kya who yeh sab see lengee? Leejiye yeh padh leejiye, shshayd koi madad mile. https://lovematters.in/hi/news/it-ok-marry-my-cousin https://lovematters.in/hi/love-and-relationships/should-i-have-sex-with-my-cousin Yadi aap is mudde par humse aur gehri charcha mein judna chahte hain to hamare discussion board “Just Poocho” mein zaroor shamil ho! https://lovematters.in/en/forum
Shubham bete Hindu dharm mein bhi bahut se alag reetee rivaaz hai na. SO jab ki north india mein ye dharm aur sanskriti ke khilaaf maana jaata hai, kuch pranton mein nahin. Rishtedaari mein shaadi bahut kathin hai beta. Uske liye bahut tayyar karnee hoti hai. bahut sehna hota hai. Kya is sab ke liye aap tayyar ho beta? Its not easy!! Aur what about your gf / cousin sister… kya who yeh sab see lengee? Leejiye yeh padh leejiye, shshayd koi madad mile. https://lovematters.in/hi/news/it-ok-marry-my-cousin https://lovematters.in/hi/love-and-relationships/should-i-have-sex-with-my-cousin Yadi aap is mudde par humse aur gehri charcha mein judna chahte hain to hamare discussion board “Just Poocho” mein zaroor shamil ho! https://lovematters.in/en/forum
Kya aapko darr is baat ka hai ki aapke husband ko pata chal jaygea, yeh nahin ho sakta beta. Keval mahila hee bata sakti hai ki woh pahli baar sex kar rahi hai ya nahi. Aur yeh ek mahila ka adhikar hai ki woh yeh batana bhee chahti hai ya nahi. Bilkul relaxed rahiye. https://lovematters.in/hi/resource/faqs-hymen-and-virginity https://lovematters.in/hi/making-love/virginity/female-virginity-top-five-facts Yadi aap is mudde par humse aur gehri charcha mein judna chahte hain to hamare discussion board “Just Poocho” mein zaroor shamil ho! https://lovematters.in/en/forum
Mam meri shadi hone waali hai or mein shadi se pehle bahut ladkiyo se saath physical ho chuka hoo pr meri fiance mujhpr bahut bharosa krti hai or mujhse kehti hai ki mein ussi apni life ka sab sach btau to kya mein usse physical relation ke baare me btau na nhi...agar bta diya to kya wo phir se pehle waala bharosa kr skegi..
Oh ho beta bahut hee kathin sawal. Beta humaara tajurba kehta hai ki yadi isee baat koi ladki kahe to usse bahut problem sehnee padtee hai. Ab aap purush hai - baat yahan bhi aa saktee hai. So hum kehtey hain - ki pehle us person ko jaan samjh lo - thoda parakh lo - thoda maamla pakka ho jaye - phir thoda bata ke dekho. LEKIN yaad rahe ki woh bhi yadi aapse apne life ki baat batane lag jaaye to aap accept kar lenge kya? Hum humesha kehtey hain - jo hua so gaya - khatam. Abhi aap dono mein kya hai - kitnee dosti kitna yaarana -kitnee izzat aur mohabbt. Ok? Yadi aap is mudde par humse aur gehri charcha mein judna chahte hain to hamare discussion board “Just Poocho” mein zaroor shamil ho! https://lovematters.in/en/forum
नई टिप्पणी जोड़ें

Comment

  • अनुमति रखने वाले HTML टैगस: <a href hreflang>