Love marriage
© Love Matters | Rita Lino

लव मैरिज

जिन संस्कृतियों में प्रेम विवाह को एक आदर्श माना जाता है,वहां आम तौर पर एक प्रेमी शादी का प्रस्ताव रखता है और दूसरा उस प्रस्ताव को स्वीकारता(मानता)या नकारता(ठुकराता) हैI कुछ लोग अपने विवाह के प्रस्ताव की योजना और कार्यक्रम को बनाने में बहुत अधिक प्रयास और सोच विचार करते हैं वहीं कुछ लोग ज़्यादा सोचने-विचारने में विश्वास नहीं रखते और सहज ही विवाह का प्रस्ताव रख देते हैंI

आप एक बहु मंजिले पांच सितारा होटल की छत पर अपने घुटनों पर बैठकर शादी का प्रस्ताव रख सकते हैं या फिर अपना सवाल पूछने से पहले आप शयन कक्ष में केवल कुछ मोमबत्तियां जलाकर भी अपने दिल की बात कह सकते हैं। यह सब आपकी रुचि और शैली पर निर्भर करता है।

शादी का प्रस्ताव रखते समय आपको क्या करना और क्या नहीं करना चाहिए, इन सभी बातों को जानने के लिए आप हमारे शादी का प्रपोजल: क्या करें और क्या नहीं का अवलोकन करेंI

आप शादी का प्रस्ताव रखने या स्वीकार करने जा रहे हैं लेकिन आप कैसे जानेंगे की आपने एक सही साथी का चुनाव किया है या शादी करने के लिए सही समय कौन सा है? यह कैसे जान पाएंगे कि क्या आप पूरी तरह से तैयार हैं? यदि कुछ गड़बड़ हो जाये तो क्या होगा? यदि आप शादी करने का अपना मन बना रहे हैं,तो  ये सभी चिंताए जायज़ हैंI और आप अकेले नहीं हैं,लगभग सभी को शादी करते समय इन चुनौतियों का सामना करना पड़ता है वैसे भी यह एक बहुत बड़ा फैसला है और क्या आप वाकई इस व्यक्ति के साथ अपनी पूरी जिंदगी बिताने के लिए तैयार हैं?

क्या वह मेरे लिए सही जीवन साथी है?

प्यार में उत्साहित होने पर आपको सही और समझदार निर्णय लेने में मुश्किल आ सकती है। यदि आपको फैसला लेने में मुश्किल हो रही है तो अच्छा होगा की आप इन सवालों की गांठ बांध लें और इन पर विचार करें। ये केवल आपके मार्गदर्शन के लिए है। आप अपने दिल और दिमाग की सुने और अपने निर्णय के बारे में सोचें।

● क्या आप निश्चित हैं कि आप केवल आकर्षित नहीं हैं?

जब आप प्यार में होते हैं, तो आप अपने साथी के व्यक्तित्व की कमियों को अनदेखा कर देते हैं। यह सुनिश्चित करें कि शादी करने का आपका फैसला आपके साथी की गहरी समझ पर आधारित है।

आप अपने साथी को कितना अच्छे से जानते हैं?

क्या आप ने उन्हें उनके परिवार और दोस्तों के साथ देखा है? आपका साथी आपके  समूह के साथ कैसा बर्ताव करता है? क्या वह उनसे  घुलमिल रहा है? यदि आपका साथी लोगों के साथ सहज है, और अपने व्यक्तित्व को ध्यान में रखते हुए उनके के लिए स्थान  बना सकता है? यह सभी बातें उनको जानने में आपकी मदद करेंगी।

क्या आप प्रेमी होने के साथ-साथ अच्छे दोस्त हैं?

क्या आप लैंगिक,भावनात्मक और मानसिक स्तरों पर एक दूसरे के अनुरूप हैं? केवल अच्छा यौन संबध आपके वैवाहिक जीवन को सदा जीवित नहीं रख सकता है। आप दोनों को एक दूसरे के साथ अपनी भावनाएं बांटने की आवश्यकता भी है।

आप अपने साथी से कितनी बातचीत करते हैं?

क्या आप को लगता है कि आप दोनो केवल बातों के ज़रिए सभी समस्याओं का समाधान कर सकते हैं? क्या आपको लगता है कि आप अपने साथी से बिना डरे और उन्हें बिना ठेस पहुंचाए आसानी से न्यायपूर्ण बात कर सकते है?  क्या वे पेचीदा मुद्दे जिनके बारे में आप असहमत हैं, उन पर अपने साथी से ईमानदारी से खुलकर बात कर सकती हैं?  क्या आप शांति और सौहार्दपूर्ण ढंग से समस्या को हल करने में सक्षम हैं?

क्या आप अपने साथी का अत्यधिक सम्मान करते हैं?

क्या आप अपने साथी की, वो जैसे है, उसी रूप में प्यार और प्रशंसा करते है। आप अपने भावी साथी में कौनसे गुण चाहते हैं? उनकी एक सूची बनाएं

क्या आप अपने साथी से वो जैसे है उसी रूप में प्यार और प्रशंसा करते है या उन्हें बदलना चाहते हैं?

क्या आप उन्हें लगातार बदलने या उनमे सुधार करने की कोशिश कर रहे है?

क्या आप शादी की एक जैसी उम्मीदों को सांझा करते हैं?

क्या आप एक भव्य समाहरो की उम्मीद करते  है जबकि वो एक सादे समाहारो की कल्पना करते हैं? क्या कोई दहेज या 'लेन-देन' की अपेक्षा है? क्या ये आपकी नीतियों के अनुकूल है?

क्या आप दोनों एक दूसरे के रोजगार की संभावनाओं को लेकर सहज हैं?

क्या आपने एक दूसरे से अपने व्यवसाय के विकल्पों और महत्वाकांक्षाओं की चर्चा की है?  क्या यह आपकी अपनी योजनाओं के अनुरूप है? क्या आप दोनों अपना व्यवसाय बनाए रखना चाहते हैं, क्या आपने घर की भूमिकाओं और जिम्मेदारियों पर चर्चा की  है?

क्या आप और आपका साथी विवाह के बाद रहने की व्यवस्था को लेकर चर्चा कर चुके हैं?

क्या आप अपने साथी के परिवार वालों के साथ घर सांझा करने वाले हैं? यदि ऐसा है तो, आपको कैसा महसूस होगा? क्या आपको इस पर कोई आपत्ति है? क्या आप को लगता हैं की इस व्यवस्था से आपका संबध खिल उठेगा या आपका दम घुटने लगेगा? क्या आपने इस विषय पर अपने साथी से चर्चा की है?

क्या आपने बच्चा होने या नहीं होने पर चर्चा की है?

इस विषय पर आपको एक विस्तृत चर्चा करने की आवश्यकता है। यदि आपने अभी बच्चे के लिए इंतजार करने का निर्णय कर लिया हैं, लेकिन क्या होगा यदि आप शादी के बाद जल्द ही गर्भवती हो जाती हैं? क्या आप इस बच्चे को रखना चाहेंगी या गर्भपात करवाना चाहेंगी?  क्या आपका साथी इस निर्णय में आपका समर्थन करने वाला है?

क्या आप दोनों एक जैसे सिद्धांतों को बांटते हैं?

क्या आपके बीच कुछ बातों को लेकर विवाद हुआ है, जिन पर आप दृढ़ रहते हैं? क्या आपके विचार महिलाओं के अधिकारों, यौन उत्पीड़न, गर्भपात, गोद लेने, अन्य  धार्मिक समुदायों, जाति, या समलैंगिकता जैसे विषयों पर एक जैसे होते हैं?

धन और पैसों को लेकर आपके साथी का क्या व्यवहार है?

क्या आप दोनों इस मुद्दे पर पूरी तरह  से अनुकूल हैं? क्या आप को लगता है की वह कंजूस हैं या अनावश्यक खर्च करते हैं? क्या आप धन को लेकर खुलकर बात करते हैं?  क्या आप दोनों एक ही बैंक खाता सांझा करेंगे या व्यक्तिगत रखेंगे?  क्या पारवारिक खर्चों को आप दोनों  मिलकर करेंगे और यदि ऐसा है तो यह खर्च कितना होगा? क्या आप में से एक, दूसरे पर निर्भर होने वाला है और क्या आप इस बात खुश हैं?

क्या आप इस इंसान के साथ व्रद्ध होना चाहते है?

क्या आप को लगता है की आप दोनों एक साथ अपने बालों को सफेद होते देखना चाहते हैं?

परिवार की असहमति: -

क्या आप वास्तव में अपने साथी से प्यार करते हैं, और आप उनसे विवाह करना चाहते हैं, लेकिन आपके माता -पिता इस निर्णय पर सहमत नहीं हैं क्योंकि आपका साथी किसी अन्य जाति, धर्म और सम्प्रदाय से संबध रखता है। और ऐसा भी हो सकता है कि आपके माता -पिता को आपके साथी की नौकरी या उसकी वित्तीय स्थिति या उसका व्यवहार या उसके परिवार पसंद नहीं है।

आप अपने माता -पिता की भावनाओं को चोट नहीं पहुँचना चाहते हैं और साथ ही साथ अपना जीवन अपने साथी के साथ व्यतीत करना चाहते हैं जिसे आप प्यार करते है। यह कुछ सुझाव दिए गए हैं जो इस कठिन समय में आपकी सहायता करेंगे:

अपने माता -पिता के साथ निष्कपट रहें।

अपने माता- पिता को समझाएं की आप ने एक सही जीवनसाथी का चुनाव किया है (''आपका साथी आपके लिए किस प्रकार सही है" इन सवालो का जवाब अपने माता -पिता को दें।)

क्या आपके परिवार वाले एक दूसरे से मिले हुए हैं?

यदि संभव हो तो जलपान पर मिलने की योजना बनाएं। इससे माहौल खुशगवार बनता है और बात चीत करना आसान हो जाता हैI

अपने माता -पिता की आपत्तियों और चिंताओं को सुनें।

ध्यान रखें, वो आपको प्यार करते हैं और आपको प्रसन्न देखना चाहते हैं। जीवन और संबंधों के विषय में उनके अनुभवों को महत्व दें। उनकी आपत्तियों को समझने का प्रयत्न करे।

अपने माता -पिता के संदेह को दूर करें।

उनसे जानें कि आपका साथी आपके लिए सही क्यों नहीं है, उनके सवालों का जवाब दें। उदाहरणों और किस्सों का उपयोग करते हुए अपने निर्णय पर विश्वास दिलाएं।

अपने माता-पिता को धमकाएं या भयादोह नहीं करें

क्योंकि इससे स्थिति जटिल या ख़राब हो सकती है। इसके साथ ही आपके माता –पिता स्वयं को स्वतंत्र रूप से अभिव्यक्त नहीं कर सकते हैं और हो सकता है कि वो आपको गुस्सा या लेक्चर से जवाब दे। यदि आपके माता-पिता आपका भयादोह करते हैं, तो उन्हें बताएँ कि यह रचनात्मक या ठीक नहीं है। उनसे खुलकर बात करें।

 

धैर्य रखें।

कई वर्षों के उनके पूर्वाग्रहों के ढेर को एक या दो सप्ताह में बदला नहीं जा सकता है। अपने माता -पिता को समय दें और जब तक वो इस मुद्दे पर सवाल पूछे उनसे चर्चा करने के लिए तैयार रहें।

 

आपके इस निर्णय पर आपका साथ देने वाले परिवार के अन्य सदस्यों का पता लगाएं।

परिवार में भिन्न सोच से आपके माता -पिता अपने दृष्टिकोण को और गहराई से समझ या सोच सकते है।

परिवार परामर्श का प्रयास करें।

एक परामर्शदाता की सलाह से आप जटिल मुद्दों को भी हल सकते हैं।

इस प्रक्रिया के दौरान अपने साथी को अपने बांधे रखें।

एक साथ रहने के तरीके ढूंढे और तनाव दूर करने के लिए एक साथ समय बिताएँ। उनकी सलाह को सुने और इस कठिन समय में उनके व्यवहार का निरीक्षण करें।

मदद लें

यद्यपि हम सब जानते हैं कि यह उपाय सदा काम नहीं करते हैं परन्तु कई बार विशेषकर रूढ़िवादी परिवार में केवल बातचीत से समझौता संभव नहीं है। यदि आपको सलाह और मदद की आवश्यकता है तो आप इन हेल्पलाइन पर सम्पर्क करने में शर्माए नहीं:

द वंडरवेला (24x7 और 14 राज्यों में): 022-25706000                                                                

 

अलग (भिन्न) होने के जोखिम

प्रेम विवाह कुछ व्यावहारिक चुनौतियों को अपने साथ लाता है। यदि आप अलग-अलग भाषाएँ बोलते हैं,या अलग -अलग जातियों से हैं,या अलग-अलग धर्मों को मानते है, अतः इसका मतलब है की आप को इन सभी सांस्कृतिक अंतरों के साथ अपने आप को समायोजित करना होगा। जीवन कोई हिंदी फिल्म का दृश्य नहीं है, और इन मुद्दों के कारण आपको मुश्किलें हो सकती हैं।

कभी कभी विशेष रूप से जाति और धर्म के इन मतभेदों को दूर करना कठिन हो जाता है। भारत के कई हिस्सों में जोड़ो को उनके जीवन में इसका का सामना करना पड़ता है क्योंकि उनका समुदाय यह  सोच बनाए हुए है कि अपनी जाति या धर्म के अलावा किसी और से विवाह करने से उनके समुदाय के सम्मान पर कीचड़ उछलता है इसलिए उनकी हत्या कर दी जाती है, जिसे "ऑनर किल्लिंग" कहते है क्योंकि  उन्होंने अपने समुदाय की पसंद के विरुद्ध जाकर एक दूसरे से विवाह किया है। यह आप पर निभर्र करता है की आप कहाँ से हैं और आपकी पृष्ठभूमि क्या है, यदि आप ऐसे व्यक्ति से विवाह करते है जो आपकी  जाति या धर्म का नहीं है तो आपको ऐसे जोखिम उठाने की आवश्यकता पड़ती है।

 

घर से कैसे भागे

हर साल हज़ारों जोड़े शादी करने के लिए घर से भाग जाते हैं अर्थात वो दोनों घर से भाग जाते हैं और चुपचाप या अलग हो कर शादी कर लेते हैं। पश्चिम में, ज्यादातर जोड़े शादियों के आसपास होने वाले बड़े  धूम-धाम से बचने के लिए भाग जाते हैं। वो जोड़े जो शादी के बड़े समारोह के बजाय सादे समारोह को देते हैं वो बिना शोरशराबे वाली पंजीकृत शादी का चयन करते है। इसके बाद वो अपने माता-पिता और परिवार को सूचित करते हैं।

कुछ संस्कृतियां जैसे भारत में युगल इसलिए भागते हैं ,क्योंकि उनके माता-पिता, परिवार और धर्म, संप्रदाय या जाति के आधार पर उनकी शादी का विरोध होता है। कल्पना कीजिए कि आप किसी से प्यार करते हैं और आप उससे शादी करना चाहते हैं लेकिन आपके माता-पिता शादी की अनुमति नहीं देते हैं क्योंकि आपका साथी एक अलग पृष्ठभूमि से है। आपने अपने परिवार से बात करने की कोशिश करते हैं लेकिन इससे बात नहीं बनी, इसलिए आपने अपने साथी के साथ भागने और चुपचाप शादी करने का रास्ता निकालते है।

खंड का शीर्षक है 'जाने कैसे भागे' है, लेकिन आप भागने का फैसला करने से पहले अपने आप से कुछ गंभीर प्रश्न पूछे:

• क्या मैं इसके लिए वास्तव में तैयार हूँ?

• इसमें क्या – क्या जोखिम शामिल हैं?

• यदि मेरा परिवार मुझे छोड़ देगा तो क्या मैं आर्थिक रूप से सुरक्षित रहूँगा?

• मैं जिसके साथ भागने की योजना बना रहा हूँ, क्या मैं पूरी तरह से उस व्यक्ति पर भरोसा कर सकता हूँ?

• क्या मैं प्यार के लिए या किसी के लिए शादी कर रहा हूँ?

• क्या मैं ऐसा इसलिए कर रहा हूँ, क्योंकि मेरा साथी मुझ पर दबाव डाल रहा है?

सावधानी से चलना:

भागने के परिणामों और इसमें शामिल जोखिम को समझकर आप सही निर्णय ले सकते हैं। कुछ जोड़े अपने परिवार के समर्थन के बिना ही ऐसा करते हैं और कुछ ऐसा नहीं  करते हैं।

हालांकि, आप को हमेशा ध्यान कि भागने के परिणाम खतरनाक हो सकते हैं। कुछ लोगों ने भागने की कोशिश की तो उनकी हत्या कर दी गई। यदि आप सोचते हैं कि इस कदम के बाद, आप अपने परिवार को जीत लेंगे या माना लेंगे तो शायद यह आपकी दबी हुई मनोकामना भी हो सकतेेे है, वास्तविकता नहींI

वह जोड़े जो कि भाग कर विवाह कर चुके थे कभी कभी तो कुछ समय बाद स्वीकारे गए, लेकिन कई बार, उन्हें कभी वापिस आने का अवसर नहीं दिया गया, ना ही किसी भी विवाह समारोह में, ना ही भाई बहिन या घर वालों के जन्मदिन पर या बड़े बुज़ुर्ग के मरणदिन परI कई लोगों का तो पूरा परिवार ही पलायन कर गया और उस जोड़े को बताया तक नहीं गयाI

 

हमारी सलाह यह ही होगी कि आप हमेशा सावधानी बरतें-

यदि आप भारत में हैं और आपके पास भागने को लेकर सवाल है तो आप निम्नलिखित हेल्पलाइन पर फोन कर सकते हैं:

 

लव कमांडो

हेल्पलाइन: 09313784375 / 09313550006

ईमेल:  "mailto:[email protected]" [email protected]

वेबसाइट: "http://lovecommandos.org" http://lovecommandos.org

 

इस विषय के बारे में अधिक पढ़ने के लिए, भागने पर हमारे शीर्ष पाँच तथ्यों की जांच करें।  

 

 

  • Are you both comfortable with each other’s career prospects?
    Have you discussed your career options and ambitions with each other? Does this fit in with your own plans for yourself? If the two of you are keen on pursuing your own careers, have you discussed household roles and responsibilities?
     
  • Have you and your partner discussed living arrangements after marriage?
    Will you be sharing a house with your partner’s family? If so, how does that make you feel? Do you have any objections to that? Do you think this arrangement will help your relationship blossom or could it get stifling? Have you discussed this with your partner?
     
  • Have you discussed whether or not you will have children?
    This needs a detailed discussion. If you decide to wait a while before having children, what will happen if you do get pregnant early in your marriage? Would you have the baby? Or would you consider an abortion? Would your partner support that decision?
     
  • Do you both share similar values?
    Have you ever had arguments on matters that you feel strongly about? Do your views match on topics like women’s rights, sexual harassment, abortion, adoption, other religious communities, caste, or homosexuality?
     
  • What is your partner’s relationship with money?
    Are the two of you totally compatible on this issue? How does your partner behave when it comes to spending? Do you tend to find him or her too tight fisted or too extravagant? Can you discuss money openly? Will you be sharing a bank account or manage and keep finances independent? Are you expected to share in the family’s expenses, and if so, how much? Will one of you be dependent on the other, and are you happy about that?
     
  • Do you see yourself growing old with this person?
    Do you feel like you’ll still want to be together when you’re old and grey?

Family disagreements

What if you really love your partner and are sure you want to get married to them, but your parents just don’t agree with your decision? It could be because your partner belongs to another race, religion or caste. It could also be, for example, because they don’t approve of your lover’s profession or financial status, or how they behave, or what their family represents.

You don’t want to let your parents down and hurt their feelings. At the same time you want to live your life with someone you love. Here are some tips to help you get through this difficult phase:

  • Be honest with your parents.
    Let your parents know of why you think you’ve made the right choice. (Your answers to the questions in ‘Is he s/he the right spouse for me?’ will help you explain.)
     
  • Have your families meet each other, if possible.
    Dining together is a good idea.
     
  • Listen to what your parents’ objections and worries are.
    Be aware that they love you and would want to see you happy. Value their experience about life and relationships. Try to understand their objections.
     
  • Clear your parents’ doubts.
    Once you know why they think your partner isn’t fit for you, answer their questions. Convince them of your decision, using examples and anecdotes.
     
  • Don’t threaten or blackmail your parents.
    This could only complicate the situation. They won’t feel free to express themselves freely, and they might respond with anger or lecturing. If your parents emotionally blackmail you, let them know that it isn’t constructive. Tell them you’re open to dialogue.
     
  • Be patient.
    Prejudices that have piled up over years won’t disappear in a week or two. Give your parents time. Be ready to engage and discuss the issue, for as long as they are asking.
     
  • Find other family members who might support your decision.
    Differing opinions from within the family could make your parents think deeper about their views.
     
  • Try family counselling.
    Expert help from a counsellor can help resolve even the most complicated of issues.
     
  • Keep your partner in the loop throughout the process.
    Find ways to stay together and spend times that aren’t just stressful. Listen to their advice, and observe how they behave during such a difficult time in your life. 

Get help

Of course this approach won’t always work. We think it’s always best to talk, but sometimes it’s not possible to negotiate with your family, especially in conservative settings. If you need help and advice, don’t shy away from contacting this helpline:
The Vandrevela 24x7 and across 14 states): 022-25706000

The risks of being different

Love marriages could also bring along some practical challenges. If you speak different languages, or belong to different castes, or practise different religions, it might mean adjusting to these cultural differences. Life is not a Hindi filmy scene and getting around these issues can be very difficult.

Sometimes these differences, especially in caste and religion, could be harder to overcome. In many parts of India couples face real threats to their lives if their community thinks they are besmirching their honour by marrying someone from outside of their caste or religion. There have even been murders, so-called ‘honour killings’, because couples have fallen in love and decided to marry each other against their community’s liking. Depending on where you’re from and what your background is, you need to weigh the risks and be sure about marrying someone who doesn’t belong to your caste or religion.

 

How to elope

Thousands of couples elope every year to get married – that means they go off together and get married in secret. People do it for a lot of different reasons. In the West, more and more couples are eloping to avoid the big drama around weddings. Couples that prefer a quiet ceremony over a big wedding party choose to register their marriage without much hullabaloo. They then break the news to their parents and family.

In some cultures, like in India, couples elope because their parents or families strongly oppose their marriage on grounds of religion or caste. Imagine this: you’re in love with someone and are sure of wanting to marry them, but your parents won’t allow the marriage because your partner is from a different background. You’ve tried negotiating with your family, but it isn’t working out. So you might feel like eloping with your partner and having a secret wedding is the only way out.

The section is titled ‘how to elope’, but before you decide to elope, ask yourself a few serious questions:

 

  • Am I really up for it?
  • What are the risks involved?
  • Will I be financially secure if my family cuts me off?
  • Do I fully trust the person I plan to elope with?
  • Am I marrying out of love or something else?
  • Am I doing this because I am facing pressure from my partner?

Tread with caution

Understanding the consequences of eloping and the risks involved will help you to make an informed decision. While some couples can do without their family’s support, others can’t.

You should always keep in mind that eloping can have dangerous consequences. Some people have even been murdered while trying to elope. If you think you will be able to win over your family or community once you have tied the knot, that could be true – but it could just be wishful thinking.

Some couples who elope are eventually accepted by their families. But others are disowned and never get to come back into their own or their marital family for years and years – for weddings, births or funerals, or even if the whole family emigrates.

So we’d advise you to always tread with caution. If you’re in India and have questions about how to elope, you can call the following helpline:

Love Commandos
Helpline: 09313784375/09313550006
Email:  [email protected]
Website: http://lovecommandos.org

To read more about the topic, check out Eloping: top five facts.

 

क्या आप इस जानकारी को उपयोगी पाते हैं?

Comments
Beta aisa hona bohot hi common hai par hum aapki ismein koi sahayata nahi kar sakte! Lekin aap hastmethun try kar sakti hain kyunki hastmaithun ek safe /surakshit tareek ahai apni santushti karne ka. https://lovematters.in/hi/resource/women-masturbating Yadi aap is mudde par humse aur gehri charcha mein judna chahte hain toh hamare discussion board “Just Poocho” mein zaroor shamil hon! https://lovematters.in/en/forum
Please koi bhi kadam uthane se pehle - jis mein caste, dharam, age, parents ka virodh jaisee stithi saamne aa rahee ho- apni family aur apne lawyer / vakeel/ local police thaane, aas-paas koi NGO se apne haq aur adhikaron ke baare mein poori jaankari lein. Yadi koi kadam uthate hain - to uske kya parinaam kya ho sakte hain - sab pooch leejiye aur aapko aur family ko kiss-kiss stithi ke liye tayyar rehna hai - uski poori knowledge le leejiye. Akhir baat - apki GF - jo bhi hain, unse ek - do baar poori tareh se baat kar leejiye - ki koi bhi kadma uthane se phele kya veh poori tareh ready hain. Kya veh samjhti hain ki kya kya ho sakta hai – like aap par, kidnap ka charge, rape ka charge, maata ya pita yadi maar peet karne lage, ya ann-shann, ya suicide ki dhamki - ya kisi ko heart attack aa jaaye - to kya veh yeh sab seh leynge - ya dheele padh jaayeinge? Aap full force ke saath aage badh rahe hain - aur aapka saathi ghabra ke peeche hat jaye - to phir aapki poori planning reh jayegee. Is kism ke sab baatien sochiye - poochiye - jaankari leejiye - aur phir kadm utahiye. Umeed hai, sab baatein clear ho chuki hain. Aapko, hum sab ki ore se - best of luck. https://lovematters.in/hi/marriage/thinking-about-marriage/love-marriages Yadi aap is mudde par humse aur gehri charcha mein judna chahte hain to hamare disccsion board “Just Poocho” mein zaroor shamil ho! https://lovematters.in/en/forum
Main ek ladke se bahut pyaar karti hoon aur woh bhi mujhse bahut pyaar karta hai aur hum dono ek dushre se shaadi bhi karna chahte hai but problem yeah hai ki woh alag caste ka hai usske ghar mein humaare baare mein sabko pataa hai aur sab ready bhi hai but mere ghar mein koi nahi maanega humaari shaadi ke liye ab mere bf ke gharwale usse shaadi ke liye force karte hai ki tu shaadi kar le beshaq uss ladki se hi kar jis se tu pyaar karta hai but kar le ab problem yeah hai ki main shaadi toh karna chahti hoon but uss se pehle mujhe kuch karna hai ki main thoda apni life mein settle ho jau aur main bhaag kar bhi shaadi nahi karna chahti because mujhe family ka bhi support chahiye main chahti hoon meri family bhi maan jaaye mujhe kabhi kabhi toh samajh nahi aata ki mujhe kya karna chahiye
Unka kaya kehna hai is baare mein bete? Kya veh bhi ready hai yeh kadam uthane ke liye? kahin aisa na ho ki aap apne ghar mein yeh sab kuch shuru kar dein aur veh peeche hat jaayen? poori baat saaf keejiye - ko bhi nirnay lene se pehle..koi bhi kadam uthane se pehle - Unko bhee kahiye - jis rishte mein caste, dharam, age, parents ka virodh jaisee stithi saamne aa rahee ho- apni family aur apne lawyer / vakeel/ local police thaane, aas-paas koi NGO se apne haq aur adhikaron ke baare mein poori jaankari lein. Yadi koi kadam uthate hain - to uske kya parinaam kya ho sakte hain - sab pooch leejiye aur unko aur family ko kiss-kiss stithi ke liye tayyar rehna hai - uski poori knowledge le leejiye. Madad ke liye ise bhee padh lijiye: https://lovematters.in/hi/marriage/thinking-about-marriage/love-marriages Yadi aap is mudde par humse aur gehri charcha mein judna chahte hain to hamare discussion board “Just Poocho” mein zaroor shamil ho! https://lovematters.in/en/forum
Sachin bete aapki family raazi nahi - ismein samasya ho sakti hai. Please koi bhi kadam uthane se pehle - jis mein caste, dharam, parents ka virodh jaisee stithi saamne aa rahee ho- apni family aur apne lawyer / vakeel/ local police thaane, aas-paas koi NGO se apne haq aur adhikaron ke baare mein poori jaankari le lijiye. Madad ke liye ise bhi padh lijiye: https://lovematters.in/hi/marriage/thinking-about-marriage/love-marriages Yadi aap is mudde par humse aur gehri charcha mein judna chahte hain to hamare discussion board “Just Poocho” mein zaroor shamil ho! https://lovematters.in/en/forum
Sir mea ak ldke se bhot pyar krti hu hum log kaafi time se relationship me h or hum dono 20years ke h but documents ke according hum log abhi 18 years ke h hum logo ki cast bhi same h lekin hum dono ki family is shadi ke liye nhi maan rhi h or hum log shadi bhi krna chahte h ager hum dono ki age 21years ki ho jaati h lekin documents me nhi h to kya hum dono shadi kr skte h.
Sanaya bete shadi karne ke liye ladke ki age 21 saal aur ladki ki age 18 saal honi chahiye. Please koi bhi kadam uthane se pehle - jis mein caste, dharam, age, parents ka virodh jaisee stithi saamne aa rahee ho- apni family aur apne lawyer / vakeel/ local police thaane, aas-paas koi NGO se apne haq aur adhikaron ke baare mein poori jaankari lein. Aapko, hum sab ki ore se - best of luck. https://lovematters.in/hi/marriage/thinking-about-marriage/love-marriages Yadi aap is mudde par humse aur gehri charcha mein judna chahte hain to hamare discussion board “Just Poocho” mein zaroor shamil ho! https://lovematters.in/en/forum
मेरी कास्ट अगल है पर हम दोनों शादी करना चाहते है पर घर वाले राजी नहीं हो रहे हम दोनों भागना चाहते हैं पर हमारे पास कही कोई ठिकाना नहीं है जाय तो जाय तो कहा hell me
ओह बेटा - इसके लिए तो कम से कम आपको शहर तो छोड़ना ही पड़ेगा. लेकिन बात ये है नहीं, बात ये है की आप ये जो भाग जाने का प्लान कर रहे हैं - ये इतना आसान नहीं बेटा. कल को कोई पुलिस का मामला हो जाए, किडनैप का चार्ज लग जाए, आपकी family में कुछ हो जाए, उनके घर में कोई अनशन कर दे - तो क्या आप ये सब सहन कर सकेंगे? साथ ही, क्या आप sure हैं - की मानिए - ये लोग कभी भी नहीं मानते - तो आप क्या करेंगे - जिंदगी भर अपने लोगों से दूर रह पायेंगे? आप भी और वो भी? ये सब कुछ सोच लीजिये - और फिर ये कदम उठाइए. साथ ही आपको इस वक़्त एक bank balance भी चाहिए होगा, एक अच्छी नौकरी, एक घर - किराया, घर के छोटे मोटे सामान के लिए कुछ रकम - so ये सब भी सोच लीजिये. लगता है कि शादी हो जाएगी तो सब मान जायेंगे - yes बेटा हो भी सकता है और नहीं भी. यहाँ पढ़िए: https://lovematters.in/hi/love-and-relationships/stuff-to-know-before-you-say-chal-ghar-se-bhag-chalein https://lovematters.in/en/marriage/eloping-top-five-facts यदि इस मुद्दे पर आप और गहरी चर्चा में जुड़ना चाहते हैं, तो हमारे डिस्कशन बोर्ड, " जस्ट पूछो" में ज़रूर शामिल हों. https://lovematters.in/en/forum
नई टिप्पणी जोड़ें

Comment

  • अनुमति रखने वाले HTML टैगस: <a href hreflang>