how to talk
© Love Matters | Rita Lino

अपने साथी से कैसे बात करें

हर रिश्ते में उतार-चढ़ाव आते हैंI जब आप किसी के साथ बहुत सारा समय गुज़ारते हैं तो कई बातों को लेकर आपमें अनबन हो सकती हैI यह लड़ाई-झगड़े किसी भी रिश्ते का एक अभिन्न अंग हैI

लेकिन बहस करते हुए भी सभ्य रहेI बदतमीज़ी से बात करना और हिंसा करना अमान्य हैI

बुरा भला कहना? अपने साथी को बुरा महसूस करवाना? उन्हें यह कहना कि वो किसी काबिल नहीं है? झपटना, धक्का देना, मारना? ऐसा लग रहा है कि आप एक हिंसात्मक रिश्ते में हैंI 

 

अगर आप दोनों एक दुसरे की बातों को भली-भांति समझते हैं तो बेकार के कलेश से मुक्ति मिल जायेगी क्यूंकि आप ज़्यादातर समस्याओं को आपसी बोलचाल से ही सुलझा लेंगेI

किसी बहस या लड़ाई के दौरान अपने साथी के हाव-भाव पढ़ने की कोशिश करें:

- अगर वो आपकी तरफ नहीं देख रहे हैं तो शायद वो आपकी बात ढंग से नहीं समझ रहे हैंI

- अगर वो ऊंची आवाज़ में बात कर रहे हैं तो वो बहुत भावनात्मक हो रहे हैंI उन्हें शायद यह लग रहा है कि आप उनकी बात को ढंग से नहीं समझ रहे हैं, बेहतर यही होगा कि इस मुद्दे को आगे के लिए टाल दिया जायेI

- अगर उनकी बाहें बंधी हैं तो उन्होंने रक्षात्मक रुख अपनाया हुआ हैI आप उनके पास जाइये और उन्हें यह विश्वास दिलाएं कि आप दोनों साथ मिलकर इस परेशानी का हल ढूंढेंगेI

- कोई भी सर्वगुण संपन्न संचारक नहीं हो सकताI लेकिन इन सुझावों पर अमल करके हम बेहतर तो बन ही सकते हैंI यह फैसला आपको करना है कि कौनसा सुझाव आपके और आपके साथी के लिये या किस परिस्थिति के लिए उपयुक्त रहेगाI

कुछ उदाहरण:

जब आपका साथी कुछ ऐसा कहता या करता है जो आपको पसंद नहीं है

हो सकता है कि आपके साथी को यह पता ही ना हो कि उन्हने कुछ ऐसा कहा या किया है जो आपको पसंद नहीं है तो बिना जाने आरोप लगाना, चिल्लाना और बड़बड़ाना सही नहीं होगाI खासकर तब जब वहां और लोग भी मौजूद हो! इससे ना सिर्फ़ आपके साथी को बेइज़्ज़ती महसूस होगी, बल्कि उन्हें गुस्सा भी आएगाI

कुछ गलत है अगर आप एकदम से यह सब चिल्लाना शुरू करते हैं:

'हरामज़ादे! मुझे विश्वास नहीं हो रहा कि तुम ऐसा कुछ कर सकते हो'

 'तुम्हारी हिम्मत कैसे हुई इस तरह का बर्ताव करने की'

 

Fight
© Love Matters | Rita Lino

 

इसके बजाय, घटना के कुछ देर के बाद आप अपने साथी को अकेले में कुछ ऐसा कह सकते हैं:

'मुझे नहीं पता कि तुम्हे इस बात का एहसास है या नहीं कि आज जो हुआ (जो उन्होंने कहा या किया) वो मुझे सही नहीं लगाI

'मैं सिर्फ़ यह कहना चाहता/चाहती हूँ कि मुझे यह सब कतई पसंद नहीं है क्यूंकि....'

वो जानना चाहेंगे कि समस्या क्या है तो उस समय ज़रूरी है कि आप जितना हो सके उतना उन्हें बताएं कि आप को कैसा महसूस हो रहा है'

 'मुझे बहत बुरा लगा जब तुमने अपने दोस्तों के सामने मेरा अनादर किया'

 'तुमने पूरे हफ़्ते मुझे कॉल नहीं किया, इससे मैं बहुत दुखी हूँ क्यूंकि मैं तुम्हे बहुत मिस करती हूँ'

साथ में समाधान ढूंढेंI उन्हें अच्छा बर्ताव करने की सीख देने के बजाय यह कोशिश करें कि भविष्य में इस तरह की परिस्थितियों से कैसे बचा जाएंI जैसे कि उन्हें बता दें कि शब्दों या नामों से आपको चिढ होती है और आप कितना समय उनके साथ व्यतीत करना चाहते हैंI

 

अपने साथी से कैसे बात करें अगर आपको जलन हो रही हो तो

शक या ईर्ष्या से उबरना आसान नहीं होता हैI यह तब और भी मुश्किल हो जाता है जब आपके साथी ने पूर्व में भी आपको धोखा दिया हो या किसी और के लिए आपको छोड़ दिया होI

अगर आप चाहते हैं कि इस वजह से आपके रिश्ते में कोई कठिनाईयां ना हो, इसके बारे में खुल कर बात करना ज़रूरी हैI आप उन्हें बता सकते हैं कि जब वो विपरीत सेक्स के किसी व्यक्ति से बात करते हैं तो आपको क्या महसूस होता है - यह भी ध्यान रखें कि आप दोनों के दोस्त लड़का या लड़की दोनों ही हो सकते हैं और इससे आप दोनों में से किसी को कोई भी दिक्कत नहीं होनी चाहिएI

अगर आपने अपने साथी को दूसरे व्यक्ति के साथ बहुत करीब से बात करते हुए देखा है तो भी एकदम से उनके ऊपर आपको धोखा देने का इलज़ाम न लगाएंI ऐसी बातें कहने से बचें:

'मुझे विश्वास नहीं हो रहा कि तुम इस लड़की के लिए मुझे धोखा दे रहे हो!' 

"तुम उस लड़के से इतनी बातें कर रही थी कि मुझे विश्वास है कि तुम उसके साथ सेक्स करना चाहती हो!'

आप दोनों का इस बात पर सहमति कर लेना अच्छा है कि क्या बातें सामने वाले को तकलीफ देती हैं - जैसे कि दोस्तों को छूना और उनके हाथ पकड़नाI अगर आपको सच में लगता है कि आपका साथी आपके साथ फ़्लर्ट कर रहा है तो उन्हें पूरी बात अच्छे से समझाएं और बताएं कि उससे आपको कैसा लगाI

 ' उस लड़की से बात करते वक़्त तुमने मुझे पूरी तरह नज़रअंदाज़ कर दिया था, जिससे मैं बहुत आहत हुई'।

लेकिन अगर आपके साथी को लगता है कि ऐसा कुछ भी नहीं है तो उनकी बात मानने के लिए भी पूरी तरह तैयार रहेंI एक बार शांत होने के बाद आप उन्हें यह प्रस्ताव दें कि इस बात का मिल कर कोई समाधान ढूंढना चाहिएI जैसे कि अगर आप दोनों में से कोई किसी ऐसे व्यक्ति से बात कर रहा हो जिसे आप नहीं जानते तो उस व्यक्ति से आपको भी मिलवाएं जिससे वो जान जाएँ कि आप उनके बॉयफ्रेंड/गर्लफ्रेंड हैं और आप दोनों साथ हैंI अपने साथी के साथ मिलकर फैसला करें कि आप लोगों के लिए क्या सही हैI

talking

जब उन्होंने कुछ ऐसा किया जिससे आप परेशान हैं

कभी-कभी अनजाने में हम अपने साथी को दुखी कर देते हैं तो अच्छा यही है कि आप उन्हें बता दें कि उन्हें बुरा लगा हैI ऐसा नहीं है कि आप उन्हें प्यार नहीं करते बस आप यही प्रयास कर रहे हैं कि इस रिश्ते में कोई भी ऐसा बर्ताव ना करें जिससे दूसरे व्यक्ति को बुरा लगेI उन्होंने जो भी कहा या किया हो वो उन्हें बताएं और पूछें कि उन्होंने ऐसा क्यों कियाI उदाहरण के तौर पर:

'तुम इस तरह मुझ पर क्यों चिल्लाये?'

 'तुमने मुझे क्यों धक्का दिया?

एक बार आपकी बात सुनने के बाद आपका साथी आपसे सहमत या असहमत हो सकता है

इस बात पर बहस न करें कि उन्होंने जो कहा या किया वो जानबूझ कर किया था या नहीं, क्यूंकि इससे लड़ाई और बढ़ेगीI इसके बजाय उन्हें यह बताना बेहतर होगा कि कैसे जो हुआ उसकी वजह से आपको गुस्सा आया और बुरा लगा और आप चाहेंगे कि ऐसा दोबारा ना होI

 'मुझे बहुत बुरा लगता है जब तुम मुझ पर चिल्लाते हो क्यूंकि उस वजह से पूरे दिन मेरा मूड ऑफ रहता है'

'मुझे धक्का मत दिया करो क्यूंकि यह अपमानजनक है और इससे मुझे चोट पहुँचती है'

समस्या समझाने के बाद उसका समाधान साथ में ढूंढने की कोशिश करेंI चर्चा इस पर केंद्रित करें कि क्या होना चाहिए, बजाय इसके कि आपको क्या पसंद नहीं हैI अगर आप में से किसी एक को भी गुस्सा आएं तो अच्छा यही होगा कि इस बारे में बाद में बात की जायेI

शारीरिक हिंसा को बिलकुल सहन ना करें और अगर यह हुआ है तो शायद सिर्फ़ बात्तचीत इस मुद्दे का हल ना होI

यह बात याद रखें कि नियम तब भी समान ही रहेंगे जब गलती आपसे हुई होI अपनी गलती मानना कठिन होता हैI अपना आपा खोकर, बिना जाने गलतियां करना किसी के भी साथ हो सकता है लेकिन महत्त्वपूर्ण बात यह है कि आप उसके बाद क्या करते हैंI इस बात पर गौर करें कि आपकी करनी से आपके साथी को कितना बुरा लगा होगाI जब वो बता रहे हो कि उन्हें कैसा लगा तो उनकी बात ध्यान से सुनें और उन्हें समझने की कोशिश करेंI फ़िर इस बात पर चर्चा करें कि कैसे आप दोनों भविष्य में चीज़ें ठीक कर सकते हैंI

 

ज़िन्दगी के महत्त्वपूर्ण फैसलों के बारे में कैसे बात करें

शादी के बारे में या बच्चों के जन्म देने के बारे में बात करना थोड़ा जटिल हो सकता हैI बात करने के लिए सही समय का चुनाव अत्यंत महत्त्वपूर्ण हैI बात करते वक़्त आप जितना कम भावुक होंगे उतना बेहतर होगा क्यूंकि अगर आप परेशान होंगे तो अपनी बात समझाने में आपको मुश्किल आएगीI

बात तब शुरू करें जब आपको लगे कि आप दोनों उस समय एकाग्रचित हैं - जैसे तब जब आप दोनों ने एक दूसरे के साथ बहुत बढ़िया समय गुज़ारा हैI सकारात्मक तरीके से बात की शुरुआत करेंI जैसे कि:

'मैं तुम्हे यह बताना चाहूंगा/चाहूंगी कि मुझे बहुत अच्छा लगता है कि तुम मेरी बात कितने ध्यान से सुनते हो'

'सबसे अच्छी बात यह है कि मैं तुम्हारे साथ खुल कर रह सकता हूँ और हम साथ में कितने खुश रहते हैं'

 

upset
© Love Matters | Rita Lino

 

जब आप आश्वस्त हो जाएँ कि आपका साथी रिलैक्स मूड में हैं तो धीरे-धीरे बात को मुद्दे तक लाएंI यह ध्यान रखें कि आप उनसे उनकी राय ले रहे हैं, उन्हें कतई यह नहीं लगना चाहिए कि आप फैसला ले चुके हैं और उन पर अपनी राय थोप रहे हैंI उदाहरण के तौर पर:

'तुम कितनी अच्छी हो और हम दोनों साथ में कितने खुश हैंI क्या तुमने कभी हमारी शादी के बारे में सोचा है?'

'मैं तुम्हारे साथ बेहद खुश हूँI मैं सोच रहा था कि शायद अब हमें परिवार को बढ़ाने के बारे में सोचना चाहिएI तुम इस बारे में क्या सोचते हो?'

हो सकता है कि उन्होंने इस बारे में सोचा ही ना हो और वो इस चर्चा के लिए शायद तैयार ही ना होI तो अगर वो आपकी बात सुनते ही खारिज करदें तो ज़रा भी विचलित ना होयेंI कोशिश करें कि आपको गुस्सा ना आयेI अगर आप सच में अपने साथी की परवाह करते हैं तो उन्हें इस पर सोचने के लिए थोड़ा समय देंI उन्हें बता दें कि आप इस बारे में बात करना चाहते थे और आशा करते हैं कि वो इस बात पर गौर करेंगे और जब भी चाहे इस बारे में दोबारा बात करेंगेI

क्या आप इस जानकारी को उपयोगी पाते हैं?

Comments
मुस्ताक बेटे अब क्या स्थिति है? इस बात को तो आप ही सुधार सकते है- बातचीत कर के - चर्चा कर के. यदि इस मुद्दे पर आप और गहरी चर्चा में जुड़ना चाहते हैं, तो हमारे डिस्कशन बोर्ड, " जस्ट पूछो" में ज़रूर शामिल हों. https://lovematters.in/en/forum
Arre Aryan bete toh sabse pahle Zara soch khulli kijiye!! Apna look theek thaak kijiye, saaf suthre to dikhiye... koi badbudaar nahin!! Aur alag alag baaton mein dilchaspi rakhiye aur dikhaiye!! Phir dekhiye kya baat bantee hai. https://lovematters.in/hi/news/how-do-i-get-girlfriend Yadi aap is mudde par humse aur gehri charcha mein judna chahte hain to hamare discussion board “Just Poocho” mein zaroor shamil ho! https://lovematters.in/en/forum
Mera bf mujhe sy bate krte krte so jata h mujh es pr kfi gussa ata h or phly jese mujhe bina mnye sota nhi tha ajkl vo pura change ho gaya h mai gusse mai so jao bolti hu to vo ok bolkr so jata h aesa kfi tym sy hota aa raha h mai preshan hu mujh aesa feel hota h ki uski lyf mai meri koi value nhi h mai mnti hu vo thoda preshn b hai but mai ussy pura saport krti hu but ussy b to meri kdar krni chahiye mai kai bar sochti hu ki brkup krdu but phr sochti hu choti choti bat pr hum apna rishta khtm krne ki soch lety h plxzzz mujhw btye mai ky kru
Divya bête aapko kya lagta hai aisa kyun ho raha hai? Jaisa ki aap bata rahin hai ki wo thoda pareshaan hain, toh aap pyar se baat cheet kar ke iska karan pooch saktin hain - tab hee aap is rishte ke bhavisya ka anumaan laga saktin hain aur koi sahi nirnay le saktin hain. So jaana - ek dum bina koi "wrning " ke - ek thakkan ke saath, koi shareer ki kami bhi ho saktee hai - shayed unhe kuch testing karvane ki zaroorat ho? Shayed veh itne swasth na ho aur shayed veh kuch ""bore"" ho gaye hon - is rishte se. Khul ke baat keejiye, bina koi dosh aaraon ke. health/ swasthy se shuru keejiye Bete sabse zaruri baat yeh hai ki kisi bhee rishte mein pyar, vishwas aur ek dusre ki kadra karna bahut aham pahlu hota hai. Yadi aap is mudde par humse aur gehri charcha mein judna chahte hain to hamare discussion board “Just Poocho” mein zaroor shamil ho! https://lovematters.in/en/forum
mai ek baldki se bahut pyaar krta hu wo meri classmate hai jb maine use yah baat batayi to wo mujhse boli ki mai aapko sirf apna ek achchha dost manti thi uska mujhse baat karne ke tarike aur uske body langouge se lgta hai ki bhi mujhe like karti hai but wo mujhse baat bhi nhi karti please help me mai uske mn ki baat kaise janu
Bête yani ki unki marji nahi hai, unki marji ka samman kijiye. Aur yadi koi humaare saath nahin rehana chahtey toh kyaa hum unhe force kar saktey hain? Nhain na?!! dekhiye bete Yadi who aapke saath rehna chahtey hain so unhe yeh nirnay lena hai, aap unse sirf isliye haan nahi karwa sakte kyunki kewal aap unhe pasand karte hain. Thoda shaant rahiye aur apna chintan swasth kijiye. https://lovematters.in/hi/resource/love-and-relationships https://lovematters.in/hi/love-and-relationships/meeting-someone/saying-no Yadi aap is mudde par humse aur gehri charcha mein judna chahte hain to hamare discussion board “Just Poocho” mein zaroor shamil ho! https://lovematters.in/en/forum
Mohan bete mar jana kisi samasya ka samadhaan nahi ho sakta hai, isliye jine ke liye ready ho jaaeeye- aur jis rishte mein mein caste, dharam, age, parents ka virodh jaisee stithi saamne aa rahee ho- apni family aur apne lawyer / vakeel/ local police thaane, aas-paas koi NGO se apne haq aur adhikaron ke baare mein poori jaankari lein. Aapko, hum sab ki ore se - best of luck. https://lovematters.in/hi/marriage/thinking-about-marriage/love-marriages Yadi aap is mudde par humse aur gehri charcha mein judna chahte hain to hamare discussion board “Just Poocho” mein zaroor shamil ho! https://lovematters.in/en/forum
Mare pati ko bhut gussa aata h wo puri family ya fir sab k samane be mujhe py chilate h or kabi kabi thapad be mar. Date h mari galti na ho tab be or kuch ladkiyo se bate be karte h fir me jab bolu to sorry be Bolte h aapni galtiyon per lakin fir wahi sab dharate h me her baar avoid karte hu per fir mujhe wo sab face karna padta h or mujhe her baar mare character ko le k upsabd be bolte h mujhe nahi pata ya sab kab katam hoga
Oh ho bete yeh toh gambhir sthiti hai! Kya aapne iske baare mein apne aur unke pariwarwalon se baat ki hai? Please iske baare mein dono pariwarwalon se baat kijiye aur aap bhi unhe samjhane ki koshish kijiye – ek taraf wo khud dusri ladkiyon se baat karte hain – aapke kahne par sorry bolte hain aur – dusri taraf character ko lekar aapko hi apshabd bolte hain toh aage kya hoga! Kya yeh naitik hai? Bilkul nahin. Aise haalaat mein bete – kya aap is rishte mein rehna bhi chhatee hai – jisme maar peet, apshabd ityadi hai? Bete har tarah se sochiye… aur sahi nirnay leejiye. aap keh rahee hain ki yeh sab kab khatum hoga - shayed kabhi bhi nahin - ab nirnay aapka hai ki kya ap is kism ke rishte mein umr bhar rehna chhatee hain? baat aur ladkiyoun se baat karne ki hai nahin, hai aapse badtameezi aur beizzati se pesh aana... https://lovematters.in/hi/love-and-relationships/sexual-harassment/8-signs-youre-in-an-abusive-relationship https://lovematters.in/hi/love-and-relationships/sexual-harassment/how-to-deal-with-abusive-partners Yadi aap is mudde par humse aur gehri charcha mein judna chahte hain to hamare discussion board “Just Poocho” mein zaroor shamil ho! https://lovematters.in/en/forum
Bete aapko kya lagta hai aisa kyun ho rha hai? Dekhiye bête hum aapki pareshani samajh sakte hain - aapki shadi ko keval 5 months hi hue hai aur abhi se time nahi dena aur ghar aate hi youtube mein busy rahna – yeh toh pareshani ki baat hai hi. Avashy aapne zaroor bola hoga, apni dill ki baat ki hogi - kya kehna hai unka? Lekin agar aapke samjhaane se wo nahi samajh rahe toh apne ya unke pariwar ke kisi sadasya ki madad lijiye ya kisi bharosemand dost ki madad lijiye aur unke is behavior ke karan ko jaanane/ samajhne ki koshish kijiye – tab shayad aap is samasya ka samadhan kar payengi. https://lovematters.in/hi/love-and-relationships/sexual-harassment/8-signs-youre-in-an-abusive-relationship Yadi aap is mudde par humse aur gehri charcha mein judna chahte hain to hamare discussion board “Just Poocho” mein zaroor shamil ho! https://lovematters.in/en/forum
नई टिप्पणी जोड़ें

Comment

  • अनुमति रखने वाले HTML टैगस: <a href hreflang>