types of relations
© Love Matters | Rita Lino

रिश्तों के प्रकार

दुनिया में कई प्रकार के सम्बन्ध और उनसे जुडी अपेक्षाएं होती हैं। इसका कोई तय फार्मूला नहीं है। जिससे हमें ख़ुशी मिले हो सकता है किसी दूसरे को वही काम सही न लगे। तो अपने रिश्तों को इसी तरह मैनेज करें कि उनमे एक बैलेंस हो।

वचनबद्ध रिश्ता

वचनबद्ध या कमिटेड रिश्ते का पहला उसूल है रिश्ते के नियमो को स्वीकृति देना, अपनी इच्छा से। इसका अर्थ है वफादारी। कमिटमेंट सिर्फ सेक्स भर का नहीं होता। भावनाओ का भी कमिटमेंट होता है।

जीवन के हर परिवेश में एक दूसरे के लिए पूरा और अटूट विश्वास। कुछ लोगों के अनुसार यही रिश्ते गम्भीर होते हैं।

सम्भव है कि आप इस प्रकार के रिश्ते में तब हों जब आप अपने साथी के साथ काफी समय गुज़र चुके हों, एक ही घर में रहते हों या फिर आपकी उनसे शादी हो चुकी हो।

बहरहाल कमिटमेंट के स्तर को आंकने का सही उपाय है अपने साथी से इस सम्बन्ध में खुलकर चर्चा कि आप दोनों इस रिश्ते से क्या उम्मीदें रखते हैं।

बिना बंधन का रिश्ता

बिना बंधन का रिश्ता (ओपन रिलेशनशिप) का अर्थ है जिसमे आप और आपका साथी रिश्ते में होते हुए भी दुसरे किसी व्यक्ति के साथ शारीरक सम्बन्ध बनाने के लिए आज़ाद हैं। इसका अर्थ है अपने साथी से ईमानदारी रखते हुए दूसरे व्यक्तियों के साथ शारीरिक सम्बन्ध बनाने को इस प्रकार के रिश्तेों में गलत नहीं समझा जाता।

इस तरह के रिश्ते कि कई वजह हो सकती हैं। कुछ लोग एक ही समय में एक से अधिक लोगों से प्यार करना चाहते हैं। कुछ को संजीदा रिश्ते के साथ कैसुअल सेक्स का रोमांच भी पसंद होता है। कुछ के लिए दूरी एक वजह बनती है, जबकि कुछ टूटे हेउ रिश्तों में ये देखा जाता है क्यूंकि उनके लिए परिवार या बच्चों कि ज़िम्मेदारी के कारण तलाक लेना या अलग हो जाना सम्भव नहीं होता।

बहुत से प्रेमी युगल ओपन रिलेशनशिप के सेट अप को सही मानते हैं। लेकिन कुछ के लिए ये मुश्किलें बढ़ा देता है। ये पहले पहल सुनने में एक रोमांचक आईडिया शायद ज़रूर लगे, लेकिन इंसानी तौर पर अक्सर ईर्ष्या कहीं न कहीं बीच में आ ही जाती है। और अंत में कड़वाहट कि वजह बन जाती है।

ऐसे रिश्तों में उतरने से पहले गहरा सोच विचार और खुल कर बातचीत करना बहुत ही आवश्यक है।

एक से अधिक रिश्ते

इसका अर्थ है अपने साथी कि जानकारी के साथ या उसके बिना एक से अधिक व्यक्तियों के साथ एक ही समय में रिश्ता होना। यह अफ्रीका के कुछ समुदायों में काफी प्रचलित है।

इस प्रकार के रिश्तों से जुडी एक समस्या ये है कि बिना कॉन्डम के एक से अधिक व्यक्ति के साथ सेक्स करने के कारण आप उन् सभी व्यक्तियों को यौन संक्रमण के खतरे में डाल देते हैं।

इस प्रकार के रिश्तों का अर्थ अक्सर अपने साथी को धोखा देने जैसा ही होता है।

यदि आपको ये पता चले कि आपके साथी ने आपके साथ धोखा किया है तो इससे आपको बहुत ही बड़ा आघात पहुँच सकता है। आपका भरोसा हमेशा के लिए टूट जाता है और हो सकता है कि आप रिश्ता भी ख़त्म कर दें।

यदि आपको अपने साथी के एक ही समय पर एक से अधिक लोगों के साथ रिश्ता रखने के बारे में पता चलें तो उन्स एखुलकर इस बारे में बात करके ही कोई निर्णय लें।

दूरी के रिश्ते

दूरी के रिश्ते वो होते हैं जब दोनों साथी अलग अलग शहरों या देशों में रह रहे हो इसका अर्थ है कि आप कभी कभी मिल पाएंगे एक दुसरे से। इसकी वजह कई हो सकती हैं जैसे कि आपके साथी को अलग शहर में नौकरी मिलना।

आज के युग में इस प्रकार के रिश्ते उतने मुश्किल नहीं रहे जैसे पहले होते थे और उसकी वजह है बातचीत के नए नए ज़रिये जैसे फ़ोन, मेसेज, वेब चाट, स्काइप इत्यादि। लेकिन फिर भी इस प्रकार के रिश्ते से पहले भी गहरा चिंतन और चर्चा आवश्यक हैं, क्यूंकि चैट बेशक हो जाये, लेकिन चुम्बन, हाथों में हाथ या सेक्स कि कमी कहीं आप दोनों के लिए मुश्किल न बन जाये। थोड़े समय के लिए टेस्ट करके देखना बुरा आईडिया नहीं है।

लिव- इन रिलेशनशिप (बिना शादी एक साथ रहना)

कुछ सभ्यताओं में विवाह के बिना भी साथ रहना सामान्य माना जाता है। जबकि कुछ दूसरी सभ्यताएं जैसे कि दक्षिण पच्श्चिमी एशिया के देशों में शादी किये बिना साथ में रहने को सामाजिक स्वीकृति नहीं है। इसके बावजूद आजकल बहुत से युवा इस परंपरा में विश्वास रखने लगे हैं। यूरोप और अमरीका में इस सन्दर्भ में व्यक्तिगत धार्मिक मान्यता का अनुकरण करने कि स्वीकृति है।

दो लोग बिना शादी करने का फैसला कई कारणो से ले सकते हैं। हो सकता है कि वप सिंगल ही रहना चाहते हैं, उनकी आर्थिक स्थिति शादी कि ज़िम्मेदारियों लेने के अनुरूप न हो, या हो सकता है कि वो समलैंगिक हों और समाज में इसकी स्वीकृति न होने के कारन उनके पास और कोई चारा न हो। बहुत से लोग शादी से पूर्व एक साथ रेह कर अपनी परस्पर अनुकूलता कि परीक्षा करना चाहते हैं।

लिव इन रिलेशन में भी गम्भीरता का सत लगभग शादी जितना ही माना जाता है। कुछ पश्चिमी देशो में लम्बे लिव इन रिलेशन को अलग हनी कि स्थिति में शादी के बाद हुए तलाक जैसी ही मान्यता दी गयी है।

विवाह सम्बन्ध

शादी दो लोगों के बीच का कानूनी बंधन है। यह दो लोगों के रिश्ते को सामाजिक स्वीकृति देने का माध्यम है। कुछ भारत जैसी सभ्यताओं में दो लोगों के साथ रहने के लिए ये एक आवश्यक सामाजिक कदम है।

शादी का फैसला दो लोगों द्वारा लिया जा सकता है या उनके परिवार और रिश्तेदारों का योगदान भी हो सकता है। जहाँ दो दो लोग एक दूसरे से प्यार करते हैं और फिर शादी करने का फैसला लेते हैं, उसे 'लव मैरिज' या प्रेम विवाह कहा जाता है। जब ये सारी तैयारी परिवार द्वारा कि गयी हो तो उसे  'अरेंज्ड मैरिज' कहा जाता है।

शादियां अक्सर बहुत धूम-धाम से कि जायी हैं और ख़ुशी का यादगार अवसर मानी जाती है। शादी कि तारिख हर वर्ष उसकी सालगिरह के तौर पर मनायी जाती है। शादी से सम्बंधित जानकारी आप "मैरिज रिसोर्सेज' अनुभाग में पाएंगे।

क्या आप इस जानकारी को उपयोगी पाते हैं?

Comments
Mea 16year ki ladki se bahut pyaar karta hun or meari age 18ki hea ham dono ko ek dusre se kafi pyaar hea !! but 1year 3mont. Pahle ham dono ek meater mea fas gae jisse meari or uski feamliy ko pata chal gaya jis se ham dono ek dusre ki taraf dek bhi nahi sakte mujhe ye bata do ki ham dono ke bich keasa rista hea or ye rista bina bat kare kab tak chal sakta hea!!!
Me ek ladki se bahut pyar karta hu.but mujhe yah nhai pata ki wo mujhe se pyar karti hai ya nhai. Kyu ki wo mere samne or uske friends se bolti hai ki me usko pasnad nhai karti hu. is liya me uske dil me mere liya pyar kese lau plzzz batao aap
mai jise pyr krta hu use maine kbhi dekha hi ni h ...hum log ki love story facebook se suru huyi h ..bahot baat hoti h usse fhone pe v or msg se v ...but dhokha de rhi h hume ye jante h hum ...uski ek fb I'd h jo usme wo kisi ke sth realnship mai h ... kya kru ku6 smjh ni pa rha hu
mere pitaji ki death ho chuki hai meri age 20 ki hai meri mom 42 ki unke boobas 38 k he mai mom k sath hi sota hu kal rat mene unki yoni par apna hath rakh dia or thoda ragda bo seham gai sir mai mom k sath bistar sajha karna chahta hu pls upay btao
Dekhiye Ajay bete LM ki nazar mein, kuch rishtey sex ke liye nahin bane hain, un mein se ek maa aur bete ka hai. Wasie bhi maa/ pita aur bete/ beti ke beech ka rishta kisi bhi samuday mein maananeey nahin. Kyunki yeh idea ki family ka koi vyakti sex ke liye ready ho sakta hai is me ek satta hai ek power ki jhalk jo ki kisi bhi soorat mein niyamit nahin hai!! Yeh bhee padh lijiye: https://lovematters.in/hi/news/i-am-attracted-my-sister Yadi aap is mudde par humse aur gehri charcha mein judna chahte hain to hamare disccsion board “Just Poocho” mein zaroor shamil ho! https://lovematters.in/en/forum
Main vijay hu or mai nek ladki se behad pyar karta hu or or kbhi karti hai but o alag jaat ki hai isliye uske ghar wale uski sadi kara di or ladki khus nahi hai o mere se bhot pyaar karti hai to main usse sadi karna chahta hu to kya karu please advise me....
Bete Vijay, unki shaadi ho chuki hai, apne pati ke saath who hain bhee ya nahi iski koi pushthi hui hai? Aap unse shadi karna chahte hain lekin iske liye aapki gf ko pehla Rishta kanuni taur par khatam karna hoga, ismein ek poori kanuni prakriya hoti hai, sthithi toh bahut hee mushqil hai who bhee tab jab who shaadi-shuda hain. Aapne unse baat ki unka kya kehna is bare mein? Sthithi bahut mushqil hai-Asaan nahi. Yadi aap is mudde par humse aur gehri charcha mein judna chahte hain to hamare discussion board “Just Poocho” mein zaroor shamil ho! https://lovematters.in/en/forum
Rina bete pyar ka sabse eham pehlu hai vishwas aap woh rakhiye apne mann mein, Aur apne rishte ko mazboot banaiye. https://lovematters.in/hi/resource/love-and-relationships Yadi aap is mudde par humse aur gehri charcha mein judna chahte hain to hamare discussion board “Just Poocho” mein zaroor shamil ho! https://lovematters.in/en/forum
Akshay bete yeh nirnay toh ladke ko khud lena hota hai apne liye aur koi nahi le sakta - lekin yeh koi nayee baat to hai nahin. Yadi wo sure ho ki is baat ko peeche chode kar apne rishte mein aage badh sakety hain - bina koi dosh aaropan keeye - to aage badhen, nahin to rishta samapt kar dena sahi hoga. Baad mein rishta kharab ho - dono mein man mutaav ho isse kya phayeda... balki bahut nuksaan hee hai. Yadi aap is mudde par humse aur gehri charcha mein judna chahte hain to hamare discussion board “Just Poocho” mein zaroor shamil ho! https://lovematters.in/en/forum
नई टिप्पणी जोड़ें

Comment

  • अनुमति रखने वाले HTML टैगस: <a href hreflang>