Being in a relationship
Shutterstock/India Picture

प्यार का बंधन

रिश्तों के मायने अलग लोगों केलिए अलग होते हैं। कुछ लोग सब कुछ अपने प्रेमी/प्रेमिका के साथ ही करना चाहते हैं, कुछ उनके साथ एक ही आंगन में रहना चाहते हैं और कुछ शादी करके जीवन भर के बंधन में बंध जेन कि इच्छा रखते हैं। कुछ लोग ऐसे भी हैं जो साथ रहने कि बजाई दूरियों में भी रिश्ता चलाकर खुश रहते हैं।

यदि आपको किसी से प्यार है तो इसका अगला तार्किक कदम ये जानना है कि वो व्यक्ति आपके बारे में वैसा ही सोचते हैं या नहीं। अक्सर इसका अंदाज़ा लग्न मुश्किल नहीं होता। लेकिन यदि आपको संदेह है तो हिम्मत करके बात करें और जान लें। आप 'संस' या चैट के ज़रिये भी उनसे बात कर सकते हैं। यदि आपको लगे कि वो इस बारे में बात नहीं करना चाह रहे हैं या जवाब नहीं दे रहे हैं तो सम्भव है कि वो आपके बारे में ऐसा नहीं सोचते जैसा आप उनके बारे में सोचते हैं।

यह ध्यान रहे कि प्यार के मामले अक्सर थोड़े पेचीदा होते हैं। कुछ लोग जानबूझकर आपके साथ रुखा बर्ताव करते हैं क्यूंकि उन्हें समझ नहीं आता कि वो आपके बारे में अपनी भावनाओं को कैसे व्यक्त करें। तो यदि उनका जवाब नहीं आता तो तुरंत ये न समझ लें कि उनकी आप में दिलचस्पी नहीं है।

वहीँ, दूसरी और यदि कई बार इस बारे में बात करके भी यदि उनकी और से रुझान न दिखे तो उन्हें ज़यादा परेशान करना ठीक नहीं। हो सकता है इस से आपका कोई फायदा न हो, लेकिन नुक्सान भी नहीं होगा। हो सकता है आपका धैर्य भरा व्यव्हार आपके बारे में उनकी भावनाएं बदल दे। यदि उनकी तरफ से स्पष्ट ना हो तो उस व्यक्ति से इस बारे में और चर्चा करना उचित नहीं है।

यदि आपको किसी से प्यार है तो इसका अगला तार्किक कदम ये जानना है कि वो व्यक्ति आपके बारे में वैसा ही सोचते हैं या नहीं। अक्सर इसका अंदाज़ा लग्न मुश्किल नहीं होता। लेकिन यदि आपको संदेह है तो हिम्मत करके बात करें और जान लें। आप 'संस' या चैट के ज़रिये भी उनसे बात कर सकते हैं। यदि आपको लगे कि वो इस बारे में बात नहीं करना चाह रहे हैं या जवाब नहीं दे रहे हैं तो सम्भव है कि वो आपके बारे में ऐसा नहीं सोचते जैसा आप उनके बारे में सोचते हैं।

यह ध्यान रहे कि प्यार के मामले अक्सर थोड़े पेचीदा होते हैं। कुछ लोग जानबूझकर आपके साथ रुखा बर्ताव करते हैं क्यूंकि उन्हें समझ नहीं आता कि वो आपके बारे में अपनी भावनाओं को कैसे व्यक्त करें। तो यदि उनका जवाब नहीं आता तो तुरंत ये न समझ लें कि उनकी आप में दिलचस्पी नहीं है।

वहीँ, दूसरी और यदि कई बार इस बारे में बात करके भी यदि उनकी और से रुझान न दिखे तो उन्हें ज़यादा परेशान करना ठीक नहीं। हो सकता है इस से आपका कोई फायदा न हो, लेकिन नुक्सान भी नहीं होगा। हो सकता है आपका धैर्य भरा व्यव्हार आपके बारे में उनकी भावनाएं बदल दे। यदि उनकी तरफ से स्पष्ट ना हो तो उस व्यक्ति से इस बारे में और चर्चा करना उचित नहीं है।

Comments
Add new comment

Comment

  • Allowed HTML tags: <a href hreflang>