18 + के लिए उचित

पुरुष शरीर के बारे में जानकारी

दाहिनी ओर दिए गए शरीर में से किसी एक का चयन करें और अधिक जानकारी के लिए उसके नीचे विभिन्न स्थानों पर क्लिक करें।

 

कान
आप उन्हें सहला सकते हैं, चूम सकते हैं, लटकनों को मुख में ले सकते हैं, कानों में धीरे से फूंक मार सकते हैं, अपनी जीभ अंदर प्रवेश कर सकते हैं- उनकी प्रतिक्रिया पर करीबी नज़र रखें, सभी को यह पसंद नहीं है!

मुंह और होंठ
ये, सेक्स के समय की जाने वाली चुहलबाज़ी के बहुत महत्वपूर्ण अंग हैं! आप कई तरह से चुंबन ले सकते हैं। दोनों साथ मिलकर ऐसा तरीका तलाशें जिसमें दोनों को आंनद आता हो। एक दूसरे के शरीर को महसूस करने के लिए अपने होठों, जीभ और दांतों (कोमलता से!) का प्रयोग करें।

स्तन और निप्पल
कई पुरुषों के स्तन और निप्पल बहुत अधिक संवेदनशील होते हैं। उनकी बगलों में सहलाएं। उनकी छाती से होते हुए एरिओला (निप्पल के आस पास की गहरे रंग की त्वचा) और निप्पलों को सहलाएं। उनके निप्पलों को सहलाने के लिए आप अपनी उंगलियों, होंठों या जीभ का कोमलता से या ज़ोर से इस्तेमाल कर सकते हैं। 

बाज़ुओं के नीचे और कुहनियां
बाज़ुओं के ऊपरी हिस्से, उसके नीचे की ओर और कुहनियों को सहलाएं- अधिकांश को यह अच्छा लगता है!

नाभी और पेट
पेट पर कई संवेदनशील स्थान होते हैं। उनके पेट के नीचे की ओर सहलाएं या हल्के से चुंबन लें- यह खास रोमांचक हो सकता है, क्योंकि यह नीचे उनके लिंग की ओर ले जाता है।

लिंग और अंडकोष
निश्चित तौर पर पुरुष के लिंग और अंडकोष, खासकर लिंग-मुंड, उनके शरीर के सबसे अधिक संवेदनशील अंग होते हैं।

यह सबसे संवेदनशील स्थान हो सकता है लेकिन सेक्स प्रक्रिया शुरु करने के लिए यह सबसे उपयुक्त स्थान नहीं है। आरंभ उनकी छाती और निप्पल से करें और धीरे-धीरे पेट और जांघों (यौनांगों के पास) की ओर बढ़ें।

हालांकि सभी नहीं, लेकिन बहुत से लड़कों को अपने अंडकोषों को सहलाया जाना अच्छा लगता है। आप उन्हें हाथों से, जीभ से, दातों से (कोमलता से!) उत्तेजित कर सकते हैं - कुछ भी किया जा सकता है, आज़माएं। गुदा और योनि के बीच का स्थान, जिसे मूलाधार (पेरिनियम) कहते हैं, को भी सहलाया जाना अच्छा लगता है- आप उसे सहला सकते हैं या धीरे से दबा सकते हैं।

पुरुष के लिंग में तनाव अचानक अनअपेक्षित पलों में आ सकता है। इस पर हमेशा उनका नियंत्रण नहीं होता और इसके बारे में शर्मिंदगी महससू करने की ज़रूरत नहीं है। और इसका यह भी अर्थ नहीं है कि आपको तनाव दूर करने के लिए कुछ न कुछ करना ही होता है!

जब लड़के या पुरुष उत्तेजित होते हैं तो उनके लिंग के स्पंज जैसे ऊतक में रक्त भर जाता है, जिसके कारण लिंग में तनाव आता है। यह कड़ा हो जाता है और प्रायः बड़ा हो जाता है। जब किसी लड़के को चरम आनंद महसूस होता है तो उनकी मांसपेशियां सिकुड़ती हैं और उनका वीर्यपात हो जाता है, - एक पीला-सफेद तरल होता है उनके लिंग से बाहर निकलता है। इसकी मात्रा कुछ बूंदों से लेकर लगभग दो चम्मच तक हो सकती है।

वीर्यपात के तुरंत बाद लिंग विशेष संवेदनशील होता है- उस समय लिंग को छूते समय आपको ध्यान रखना होगा, ऐसा करने से उन्हें बहुत अधिक रोमांच महसूस हो सकता है।

हाथ
स्वाभाविक है कि आप अपने हाथ से बहुत कुछ कर सकते हैं। इनकी सहायता से आप, अपने साथी को थपथपा सकते हैं, सहला सकते हैं- अथवा अपने शरीर को सहला कर आनंद का अनुभव कर सकते हैं। लेकिन यदि आप अपने साथी के हाथों को भी सहलाते हैं, तो उन्हें अच्छा लगता है। हथेलियां खासकर संवेदनशील होती हैं।

जांघों का निचला हिस्सा
जांघों का निचला हिस्सा वास्तव में संवेदनशील होता है, और छूने पर यह खास उत्तेजना लाने वाला स्थान हो सकता है, क्योंकि इससे आगे अंडकोष और लिंग होते हैं। आप इसे उंगलियों से सहला सकते हैं, चुंबन ले सकते हैं या जीभ से महसूस कर सकते हैं।

सिर का पिछल हिस्सा और गर्दन
सिर का पिछला हिस्सा और खासकर गर्दन बहुत संवेदनशील होते हैं। उनकी गर्दन के पीछे चुंबन लें या सहलाएं अथवा उनके बालों में अपनी उंगलियां फेरें।

पीठ
पीठ भी एक संवेदनशील स्थान होता है। अपनी उंगलियों के सिरे अथवा नाखूनों से धीरे-धीरे सहलाएं, तीव्र या फिर हल्का दबाव दें या मालिश करें या उनकी रीढ़ पर ऊपर-नीचे उंगलियां फेरें। बगल के हिस्से को भी सहलाना न भूलें- उनकी बगल से लेकर उनके कूल्हों तक सहलाएं।

नितंब और गुदा
नितंब और गुदा बहुत अधिक संवेदनशील होते हैं। उनके नितंबों को सहलाएं, हलके हाथ से मालिश करें या उन्हें दबाएं और देखें कि उन्हें क्या पसंद है।

यह ज़रूरी नहीं कि सबसे पहले गुदा को ही छूने के बारे में सोचा जाए, लेकिन यह भी छूने के प्रति बहुत संवेदनशील होती है, और कई लड़के सेक्स के समय अपनी गुदा को सहलाया जाना पसंद करते हैं। लेकिन यह सब करने से पहले उन्हें गुदा को अच्छी तरह साफ़ कर लेना ज़रूरी होता है!
गुदा और अंडकोष के बीच का स्थान, जिसे मूलाधार कहते हैं को भी सहलाया जाना अच्छा लगता है- आप उसे सहला सकते हैं या धीरे से दबा सकते हैं।

कुछ लडकों को अच्छा लगता है यदि कोई उनकी गुदा में उंगली डाले। ऐसा करने से पहले उंगली पर थूक या कोई चिकनाईयुक्त पदार्थ लगाकर गीला कर लें। जब आप पहली बार छूते हैं तो गुदा-द्वार सिकुड़ कर बंद हो जाता है- यह एक त्वरित प्रतिक्रिया है। कुछ देर तक वहां उंगली लगाए रखें, उसके बाद आप आगे बढ़ सकते हैं।

यदि आपको किसी की गुदा में उंगली प्रवेश अच्छा नहीं लगता है, तो सेक्स से पहले साथ-साथ स्नान करें जिससे आप दोनों अच्छा और हर तरह से साफ-सुथरा महसूस कर सकें।
लड़कों की गुदा में उंगली प्रवेश कराने पर पुरस्थ ग्रंथि को महसूस किया जा सकता है, जो बहुत अधिक संवेदनशील हो सकती है। यह स्थान, गुदा द्वार से पेट की ओर लगभग 5 सें.मी. अंदर होता है। आप इसे अपनी उंगली से सहला या दबा सकते हैं- कुछ लड़कों को ऐसा करने से बहुत अधिक आनंद महसूस होता है।

कुछ लोगों को सेक्स करते समय गुदा को भी इसका एक हिस्सा बनाना अच्छा लगता है। लेकिन यदि आपको अच्छा नहीं लगता है तो बता दें! ज़रूरी नहीं है कि आपको सब कुछ अच्छा लगे। जहां तक अच्छा लगे उतना ही करें, और जिसे करने में आप सहज महसूस नहीं करते हैं, वैसा कुछ न करें।

यदि सही तरीके से और आराम से किया जाए तो गुदा में उंगली या लिंग का प्रवेश कराए जाने से दर्द नहीं होता। ऐसा करते समय हमेशा बहुत सारे चिकनाईयुक्त पदार्थ और कंडोम का प्रयोग करें।
क्या ऐसा करना आपको अच्छा लगता है? क्या आप इसे ज़ारी रखना चाहते हैं? अपनी इच्छा के अनुसार करें। यदि अच्छा नहीं लगता है तो रुक जाएं।
यदि किसी को अच्छा नहीं लगता है तो उन पर गुदा मैथुन के लिए दबाव न डालें!

पैर
पैरों के तलवे बहुत अधिक संवेदनशील होते हैं- और उनमें बहुत गुदगुदी हो सकती हैं! आपके पैरों का सहलाया जाना बहुत अच्छा लग सकता है, लेकिन इसके लिए आपको तनावमुक्त रहना पड़ता है।